UP-दिल्ली-बिहार समेत देश भर के लोगों को DL-RC में अपडेट करनी होगी ये जानकारी
Connect with us
leaderboard image

BIHAR

UP-दिल्ली-बिहार समेत देश भर के लोगों को DL-RC में अपडेट करनी होगी ये जानकारी

Santosh Chaudhary

Published

on

New Motor Vehicle Act 2019 (नया मोटर वाहन अधिनियम-2019) एक सितंबर से पूरे देश में लागू कर दिया गया है। इसके साथ ही देश भर के वाहन चालकों व मालिकों के लिए उनके ड्राइविंग लाइसेंस (DL) और रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (RC) में भी कुछ जरूरी बदलाव किए गए हैं। एक सितंबर से ही इन बदलवों को भी लागू कर दिया गया, लेकिन इसकी जानकारी बहुत कम लोगों को है।

फिलहाल इन बदलावों को दिल्ली और गुजरात के करोड़ों वाहन चालकों के लिए अनिवार्य रूप से लागू किया गया हैं। इसका असर दिल्ली व गुजरात के सभी वाहन चालकों व मालिकों पर पड़ेगा। धीरे-धीरे इन बदलावों को यूपी-बिहार समेत पूरे देश में लागू कर दिया जाएगा। इसकी प्रक्रिया शुरू की जा चुकी है। लिहाजा सभी वाहन चालकों के लिए इन नए नियमों को जानना बेहद जरूरी है। इन बदलावों की जानकारी आपको ट्रैफिक के भारी चालान से भी राहत दिला सकती है।

मोबाइल नंबर लिंक करना हुआ अनिवार्य
नए मोटर व्हीकल एक्ट को लागू करने के साथ ही सरकार ने देश भर के वाहन चालकों के लिए डीएल और आरसी से मोबाइल नंबर को लिंक करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। फिलहाल दिल्ली और गुजरात के वाहन चालकों के इसे अनिवार्य किया गया है। याद रखें कि एक मोबाइल नंबर पर अधिकतम पांच वाहन ही रजिस्टर हो सकते हैं। अन्य राज्यों में भी इसकी प्रक्रिया शुरू की जा चुकी है और बहुत जल्द ही इन बदलावों को अनिवार्य कर दिया जाएगा। नए वाहन पंजीकरण और ड्राइविंग लाइसेंस में आरटीओ द्वारा ही मोबाइल नंबर को लिंक किया जा रहा है। पुराने वाहन या डीएल धारकों को खुद ऑनलाइन या आरटीओ कार्यालय जाकर मोबाइल नंबर अपडेट कराना होगा।

ऑनलाइन दर्ज करा सकते हैं मोबाइल नंबर
अपने वाहन पंजीकरण या ड्राइविंग लाइसेंस से मोबाइल नंबर जोड़ने की प्रक्रिया बहुत ही सरल है। इसे घर बैठे ऑनलाइन किया जा सकता है। अपने वाहन पंजीकरण या ड्राइविंग लाइसेंस से मोबाइल नंबर को जोड़ने के लिए आपको केंद्र सरकार के सड़क, परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय (Ministry of Road Transport & Highways) के परिवहन सेवा पोर्टल, https://parivahan.gov.in/parivahan/ पर जाकर लॉग इन आईडी (Log in ID) बनाना होगा।

इसके बाद वाहन कैटेगरी के अंतर्गत वाहन पंजीकरण संबंधी सेवाएं (Vehicle Registration Related Services) पर क्लिक कर आप अपने वाहन के पंजीकरण में मोबाइल नंबर को शामिल कर सकते हैं। इसके लिए आपको वाहन पंजीकरण संख्या, इंजन नंबर और चेचिस नंबर की जरूरत होगी। मालूम हो कि केंद्र सरकार का वाहन एप्लिकेशन, वाहन पंजीकरण संबंधी सेवाओं के लिए है। इसी तरह सारथी कैटेगरी के अंतर्गत ड्राइविंग लाइसेंस संबंधी सेवाएं (Driving License Related Services) पर क्लिक कर अपने ड्राइविंग लाइसेंस (DL) में मोबाइल नंबर अपडेट को जोड़ सकते हैं।

ऑनलाइन किए जा रहे सभी RTO
केंद्र सरकार का प्रयास है कि वाहन चालकों को परिवहन विभाग संबंधी सभी सेवाएं ऑनलाइन प्रदान की जाएं। इससे वाहनों चालकों का समय तो बचेगा ही साथ ही उन्हें भ्रष्टाचार से भी राहत मिलेगी। इसके अलावा केंद्र सरकार व अन्य सरकारी संस्थाओं के पास सभी वाहनों और ड्राइविंग लाइसेंस का पूरा डाटा, मोबाइल नंबर सहित उपलब्ध होगा। जरूरत पड़ने पर पुलिस अथवा आरटीओ अथवा कोई अन्य एजेंसी आसानी से वाहल चालक अथवा वाहन मालिक से संपर्क कर सकती है। इसके लिए देशभर के आरटीओ को ऑनलाइन करने की दिशा में तेजी से काम चल रहा है।

मोबाइल नंबर जोड़ने का ये है मकसद
वाहन के पंजीकरण और ड्राइविंग लाइसेंस में मोबाइल नंबर को जोड़ने के पीछे मकसद ई-चालान को बढ़ावा देना है। ट्रैफिक पुलिस के लिए फोटोयुक्त ई-चालान करना आसान है। इस चालान में फोटो होने की वजह से इसे कोर्ट में चैलेंज भी नहीं किया जा सकता। ई-चालान के लिए पुलिसकर्मियों को जान पर खेलकर ट्रैफिक के बीच कूदकर वाहन चालको को रोकने की कोई जरूरत नहीं है। ई-चालान की स्थिति में वाहन चालकों को उसकी सूचना एसएमएस के जरिए भेजी जाती है। ऐसा इसलिए क्योंकि कई बार वाहन मालिक या चालक का पता बदल जाने की वजह से डाक से भेजा जाने वाला ई-चालान उन्हें प्राप्त नहीं होता है। मोबाइल नंबर जोड़ने से इस तरह की समस्या खत्म हो जाएगी।

वाहन चालक के लिए क्यों है जरूरी
आपके मन में सवाल उठ रहा होगा कि आखिर मोबाइल नंबर आपकी मदद कैसे कर सकता है। यहां आपको बता दें कि ट्रैफिक पुलिस जब ई-चालान करती है तो वाहन चालक को उसका कोई आभास नहीं होता है। वाहन चालकों को ई-चालान का पता तभी चलता है, जब उन्हें इसका एसएमएस अलर्ट मिले या फिर घर पर ई-चालान पहुंचे। मोबाइल नंबर अपडेट न होने या घर का पता बदलने पर आपको ई-चालान का पता नहीं चलेगा। ऐसे में हो सकता है आपका कई बार ई-चालान हो चुका हो और आपको इसका पता तब चले जब कभी ट्रैफिक पुलिस आपको रोककर चालान काटे या आप अपनी गाड़ी बेचने या बीमा कराने जा रहे हों। इसके अलावा आपका ई-चालान बहुत पुराना होने पर कोर्ट से आपके खिलाफ सम्मन भी जारी हो सकता है। ऐसे में आपकी मुश्किलें और बढ़ सकती हैं।

Input : Dainik Jagran

BIHAR

‘सारण इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल’ में मुजफ्फरपुर की छोटी सी बिटिया नें मचाया धमाल

Himanshu Raj

Published

on

छपरा : सारण इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल की आयोजन छपड़ा के एकता भवन में किया गया। जहां फिल्मों के बारे में प्रदर्शनी लगाई गई। इस मौके पर जाने माने फिल्म इतिहासकार व कलाकार मनोज भावूक को सम्मानित किया गया।

दो दिवसीय इस कार्यक्रम में कलाकारों द्वारा विभिन्न प्रकार के कला का भी प्रदर्शन किया गया। इस खास मौके पर क मुजफ्फरपुर की बिटिया सिद्धि नारायण ने अपनी नृत्य कला से सभी को रोमांचित कर दिया।

संदीप कुमार व स्मिता राज की महज 8 साल की बेटी सिद्धि नारायण को डांसिंग में बेहद रुचि हैं। उनकी डांसिंग से प्रभावित होकर उन्हें ‘गेस्ट ऑफ ऑनर’ से सम्मानित किया गया। मशहूर फिल्म इतिहासकार मनोज भावूक नें भी इस नन्हें कलाकार की जमकर तारिफ की।

हमारे शहर की इस नन्ही सी बिटिया नें हमसब का मान बढ़ाया है। अपनी बिटिया को उनके सपनों की उड़ान में उनका साथ देने के लिए उनके माता – पिता को मुजफ्फरपुर नाउ की ओर से धन्यवाद साथ हीं मुजफ्फरपुर नाउ की पूरी टीम की तरफ से सिद्धि को उनके उज्जवल भविष्य के लिए ढ़ेरों शुभकामनाएं।

 

 

 

 


Continue Reading

BIHAR

कुख्यात अपराधी कुणाल हथियार समेत गुर्गो के साथ हुआ गिरफ्तार

Himanshu Raj

Published

on

अभय राज (मुज़फ़्फ़रपुर)

मुजफ्फरपुर पुलिस को एक बड़ी सफलता हाथ लगी है.हथियार के साथ अपराध की योजना बनाने के लिए जुटे अपराधियों को पुलिस ने धर दबोचा है.

पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि ज़िले के कांटी थाना क्षेत्र के एनएच 28 में पक्की सड़क के दक्षिण छपरा हाई स्कूल के समीप लीची बागान में पांच-छह अपराधी हथियार के साथ अपराध की योजना बनाने को जुटे हुए हैं.
डीएसपी पश्चिमी कृष्ण मुरारी प्रसाद के नेतृत्व में छापेमारी दल का गठन किया गया.वही टीम के द्वारा लीची बागान में घेराबंदी कर छापेमारी की गई.
पुलिस को देखते ही लीची बागान से अपराधी भागने लगे.वही छापेमारी दल में शामिल पुलिस पदाधिकारियों ने 4 अपराधियों को धर दबोचा.वहीं दो भागने में सफल रहे.
पकड़े गए अपराधियों के पास से पुलिस ने एक पीतल का बना हुआ पेन पिस्टल, तीन देसी कट्टा, तीन जिंदा कारतूस, तीन चाकू, 4 मोबाइल एवं पलसर मोटरसाइकिल बरामद किया है.

पकड़े गए अपराधियों की पहचान जिले के सदर थाना क्षेत्र निवासी उत्कर्ष आनंद व विक्की, अहियापुर थाना क्षेत्र के कुणाल कुमार एवं सीतामढ़ी जिले के रुन्नीसैदपुर थाना क्षेत्र निवासी विकास कुमार के रूप में हुई है.

 

 

Continue Reading

BIHAR

सुरेश शर्मा बोले- अगले साल इससे ज्यादा भी बारिश होगी तो नहीं होगा जलजमाव

Ravi Pratap

Published

on

नगर विकास मंत्री सुरेश कुमार शर्मा ने कहा कि पटना से जलनिकासी की व्यवस्था फुलप्रूफ की जाएगी। राजधानी से पानी निकासी के लिए तीन चरणों में काम किया जा रहा है। सारी कवायद का उद्देश्य अगले 50 वर्षाें तक पटना को इस समस्या से मुक्त रखना है। शुक्रवार को दैनिक भास्कर कार्यालय में एक विशेष बातचीत में नगर विकास मंत्री ने स्वीकार किया कि तीन दिनों की भारी बारिश से निपटने में पटना नगर निगम विफल रहा। उन्होंने नगरवासियों को गारंटी दी कि अगले साल पटना में इससे ज्यादा बारिश होगी तब भी पटना में जलजमाव नहीं होगा। इस दौरान उन्होंने शहरों के नियोजित विकास, स्मार्ट सिटी और अन्य मुद्दों पर बेबाकी से अपनी राय रखी।

सवाल : पटना दोबारा न डूबे, इसके लिए क्या योजना है?

जवाब : पटनावासियों को दोबारा जलजमाव की परेशानी नहीं झेलनी पड़े, इसके लिए विभाग तीन स्तरीय योजनाओं पर काम कर रहा है। दीर्घकालिक योजना के तहत 130 वर्गकिमी क्षेत्र के ड्रेनेज सिस्टम की प्लानिंग के लिए ग्लोबल टेंडर आमंत्रित किया गया है। राजधानी के इलाकों की कंटूर मैपिंग, हाइड्रोलॉजिकल और जियोलॉजिकल सर्वे कराया जा रहा है। सभी नालों का ड्रोन से सर्वे कराया जाएगा। राजधानी के ड्रेनेज सिस्टम का विस्तृत अध्ययन किया जाएगा। इसके अलावा नालों की सफाई, उनकी मरम्मत और अतिक्रमणमुक्त कराने की योजना पर काम हो रहा है। संप हाउस का सर्वे कराया गया है। उसकी कमियों को दूर किया जा रहा है। सभी संप हाउस के लिए डीजल पंपसेट की खरीद की जा रही है। सारी तैयारियों का जोर असामान्य बारिश होने की स्थिति में पटना को जलजमाव से मुक्त रखना है।

Photo : Madhav Kumar

सवाल : दोषियों पर कब तक कार्रवाई होगी?

जवाब : पटना में हुए जलजमाव के कारण और इसके लिए दोषियों काे चिह्नित करने के लिए विकास आयुक्त की अध्यक्षता में गठित उच्चस्तरीय समिति जांच कर रही है। जल्द ही कमेटी अपनी रिपोर्ट सौंपेगी और उसमें चिह्नित किए गए अधिकारियों और कर्मचारियों पर सरकार सख्त कार्रवाई करेगी।

सवाल : पटना और अन्य शहरों में अवैध निर्माण पर सरकार रोक क्यों नहीं लगा पा रही है?
जवाब :
राजधानी और राज्य के अन्य शहरों में अवैध निर्माण बड़ी समस्या है। मकानों के निर्माण के लिए नक्शा पास कराने में दिक्कत को जल्द दूर किया जाएगा। नक्शा पास करने की पूरी व्यवस्था ऑनलाइन की जा रही है। बिल्डिंग बाइलॉज में कुछ बदलाव किए गए हैं, जिन्हें जल्द ही सख्ती से लागू किया जाएगा, ताकि कम चौड़ी सड़कों पर अपार्टमेंट निर्माण पर रोक लगायी जा सके।

सवाल : स्मार्ट सिटी की योजनाएं राज्य में क्यों पिछड़ रही हैं?
जवाब :
यह सही है कि राज्य के चारों स्मार्ट सिटी की प्रगति काफी धीमी है। यह योजना पूरे शहर के लिए नहीं थी। योजना लागू करने से पहले एरिया नोटिफाई करना था। लेकिन] संबंधित नगर निगमों ने योजनाओं के चयन और क्रियान्वयन में तय मानकों का पालन नहीं किया। केंद्र सरकार की आपत्ति के बाद कई योजनाओं का काम फिलहाल रोक दिया गया है।

Input : Daink Bhaskar

Continue Reading
Advertisement
BIHAR3 mins ago

‘सारण इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल’ में मुजफ्फरपुर की छोटी सी बिटिया नें मचाया धमाल

BIHAR21 mins ago

कुख्यात अपराधी कुणाल हथियार समेत गुर्गो के साथ हुआ गिरफ्तार

BIHAR7 hours ago

सुरेश शर्मा बोले- अगले साल इससे ज्यादा भी बारिश होगी तो नहीं होगा जलजमाव

railway-recruitment
JOBS8 hours ago

Railway में 3 लाख से अधिक पद खाली, भर्ती की प्रक्रिया जारी: रेल मंत्री पीयूष गोयल

MUZAFFARPUR9 hours ago

मुजफ्फरपुर शहर में 15 जगहाें पर सड़क-नाला का हाेगा निर्माण

INDIA10 hours ago

श’हीद कांस्टेबल कमलेश कुमारी, अगर उस दिन ये संसद में ना होतीं तो शायद बच नहीं पाते कई नेता

INDIA10 hours ago

जनकपुर में है सीता-राम विवाह का मंडप और वो जगह जहां श्रीराम ने धनुष तोड़ा

BIHAR10 hours ago

CAB के खिलाफ RJD का बिहार बंद 21 दिसंबर को, तेजस्‍वी बोले- साथ आएं संविधान प्रेमी

INDIA10 hours ago

राहुल गांधी के ‘रे’प इन इंडिया’ वाले बयान पर महिला सांसदों ने किया जमकर विरोध

BIHAR10 hours ago

बिहार का इंडिया गेट और गेटवे ऑफ इंडिया है पटना का सभ्यता द्वार, सुंदरता देखने पहुंच रहे पर्यटक

TRENDING2 weeks ago

अक्षय कुमार के गाने फिलहाल ने तोड़ा वर्ल्ड रिकॉर्ड, सबसे कम समय में 100 मिलियन व्यूज़ मिले

OMG1 week ago

पति ने खुद की पढ़ाई रोककर पत्नी को पढ़ाया, नौकरी लगते ही पत्नी ने दूसरी शादी कर ली

INDIA2 weeks ago

12वीं पास के लिए CISF में नौकरियां, 81,100 होगी सैलरी

INDIA5 days ago

UIDAI ने आसान किए आधार में नाम-जन्मतिथि बदलने के नियम, ऐसे कर सकते हैं करेक्शन

MUZAFFARPUR3 weeks ago

मुजफ्फरपुर बैंक मैनेजर की ह’त्या करने पहुचे शूट’र की लो’डेड पिस्ट’ल ने दिया धो’खा, लोगो ने जम’कर पी’टा

BIHAR4 days ago

सीवान रेल यात्री ह’त्याकां’ड : पत्नी ने प्रेमी से कराई पति की ह’त्या, एक साल पहले हुई थी शादी

INDIA2 weeks ago

डॉक्टर गैंगरे’प: पुलिस ने बताई उस रात की है’वानियत की कहानी

BIHAR1 week ago

NEET: करना चाहते हैं रजिस्‍ट्रेशन तो देर ना करें, जारी हो गया है परीक्षा का शेड्यूल

BIHAR2 days ago

बिहार पुलिस भर्ती 2019: कांस्टेबल की 1722 भर्तियां, पढ़ें चयन, आवेदन, परीक्षा समेत 10 खास बातें

BIHAR4 days ago

बिहार में फिर से है’वानियत: प्रेमी ने ग’र्भवती प्रेमिका को जिं’दा ज’लाया, हा’लत गं’भीर

Trending

0Shares