Connect with us

BIHAR

UP-दिल्ली-बिहार समेत देश भर के लोगों को DL-RC में अपडेट करनी होगी ये जानकारी

Santosh Chaudhary

Published

on

New Motor Vehicle Act 2019 (नया मोटर वाहन अधिनियम-2019) एक सितंबर से पूरे देश में लागू कर दिया गया है। इसके साथ ही देश भर के वाहन चालकों व मालिकों के लिए उनके ड्राइविंग लाइसेंस (DL) और रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (RC) में भी कुछ जरूरी बदलाव किए गए हैं। एक सितंबर से ही इन बदलवों को भी लागू कर दिया गया, लेकिन इसकी जानकारी बहुत कम लोगों को है।

फिलहाल इन बदलावों को दिल्ली और गुजरात के करोड़ों वाहन चालकों के लिए अनिवार्य रूप से लागू किया गया हैं। इसका असर दिल्ली व गुजरात के सभी वाहन चालकों व मालिकों पर पड़ेगा। धीरे-धीरे इन बदलावों को यूपी-बिहार समेत पूरे देश में लागू कर दिया जाएगा। इसकी प्रक्रिया शुरू की जा चुकी है। लिहाजा सभी वाहन चालकों के लिए इन नए नियमों को जानना बेहद जरूरी है। इन बदलावों की जानकारी आपको ट्रैफिक के भारी चालान से भी राहत दिला सकती है।

मोबाइल नंबर लिंक करना हुआ अनिवार्य
नए मोटर व्हीकल एक्ट को लागू करने के साथ ही सरकार ने देश भर के वाहन चालकों के लिए डीएल और आरसी से मोबाइल नंबर को लिंक करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। फिलहाल दिल्ली और गुजरात के वाहन चालकों के इसे अनिवार्य किया गया है। याद रखें कि एक मोबाइल नंबर पर अधिकतम पांच वाहन ही रजिस्टर हो सकते हैं। अन्य राज्यों में भी इसकी प्रक्रिया शुरू की जा चुकी है और बहुत जल्द ही इन बदलावों को अनिवार्य कर दिया जाएगा। नए वाहन पंजीकरण और ड्राइविंग लाइसेंस में आरटीओ द्वारा ही मोबाइल नंबर को लिंक किया जा रहा है। पुराने वाहन या डीएल धारकों को खुद ऑनलाइन या आरटीओ कार्यालय जाकर मोबाइल नंबर अपडेट कराना होगा।

ऑनलाइन दर्ज करा सकते हैं मोबाइल नंबर
अपने वाहन पंजीकरण या ड्राइविंग लाइसेंस से मोबाइल नंबर जोड़ने की प्रक्रिया बहुत ही सरल है। इसे घर बैठे ऑनलाइन किया जा सकता है। अपने वाहन पंजीकरण या ड्राइविंग लाइसेंस से मोबाइल नंबर को जोड़ने के लिए आपको केंद्र सरकार के सड़क, परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय (Ministry of Road Transport & Highways) के परिवहन सेवा पोर्टल, https://parivahan.gov.in/parivahan/ पर जाकर लॉग इन आईडी (Log in ID) बनाना होगा।

इसके बाद वाहन कैटेगरी के अंतर्गत वाहन पंजीकरण संबंधी सेवाएं (Vehicle Registration Related Services) पर क्लिक कर आप अपने वाहन के पंजीकरण में मोबाइल नंबर को शामिल कर सकते हैं। इसके लिए आपको वाहन पंजीकरण संख्या, इंजन नंबर और चेचिस नंबर की जरूरत होगी। मालूम हो कि केंद्र सरकार का वाहन एप्लिकेशन, वाहन पंजीकरण संबंधी सेवाओं के लिए है। इसी तरह सारथी कैटेगरी के अंतर्गत ड्राइविंग लाइसेंस संबंधी सेवाएं (Driving License Related Services) पर क्लिक कर अपने ड्राइविंग लाइसेंस (DL) में मोबाइल नंबर अपडेट को जोड़ सकते हैं।

ऑनलाइन किए जा रहे सभी RTO
केंद्र सरकार का प्रयास है कि वाहन चालकों को परिवहन विभाग संबंधी सभी सेवाएं ऑनलाइन प्रदान की जाएं। इससे वाहनों चालकों का समय तो बचेगा ही साथ ही उन्हें भ्रष्टाचार से भी राहत मिलेगी। इसके अलावा केंद्र सरकार व अन्य सरकारी संस्थाओं के पास सभी वाहनों और ड्राइविंग लाइसेंस का पूरा डाटा, मोबाइल नंबर सहित उपलब्ध होगा। जरूरत पड़ने पर पुलिस अथवा आरटीओ अथवा कोई अन्य एजेंसी आसानी से वाहल चालक अथवा वाहन मालिक से संपर्क कर सकती है। इसके लिए देशभर के आरटीओ को ऑनलाइन करने की दिशा में तेजी से काम चल रहा है।

मोबाइल नंबर जोड़ने का ये है मकसद
वाहन के पंजीकरण और ड्राइविंग लाइसेंस में मोबाइल नंबर को जोड़ने के पीछे मकसद ई-चालान को बढ़ावा देना है। ट्रैफिक पुलिस के लिए फोटोयुक्त ई-चालान करना आसान है। इस चालान में फोटो होने की वजह से इसे कोर्ट में चैलेंज भी नहीं किया जा सकता। ई-चालान के लिए पुलिसकर्मियों को जान पर खेलकर ट्रैफिक के बीच कूदकर वाहन चालको को रोकने की कोई जरूरत नहीं है। ई-चालान की स्थिति में वाहन चालकों को उसकी सूचना एसएमएस के जरिए भेजी जाती है। ऐसा इसलिए क्योंकि कई बार वाहन मालिक या चालक का पता बदल जाने की वजह से डाक से भेजा जाने वाला ई-चालान उन्हें प्राप्त नहीं होता है। मोबाइल नंबर जोड़ने से इस तरह की समस्या खत्म हो जाएगी।

वाहन चालक के लिए क्यों है जरूरी
आपके मन में सवाल उठ रहा होगा कि आखिर मोबाइल नंबर आपकी मदद कैसे कर सकता है। यहां आपको बता दें कि ट्रैफिक पुलिस जब ई-चालान करती है तो वाहन चालक को उसका कोई आभास नहीं होता है। वाहन चालकों को ई-चालान का पता तभी चलता है, जब उन्हें इसका एसएमएस अलर्ट मिले या फिर घर पर ई-चालान पहुंचे। मोबाइल नंबर अपडेट न होने या घर का पता बदलने पर आपको ई-चालान का पता नहीं चलेगा। ऐसे में हो सकता है आपका कई बार ई-चालान हो चुका हो और आपको इसका पता तब चले जब कभी ट्रैफिक पुलिस आपको रोककर चालान काटे या आप अपनी गाड़ी बेचने या बीमा कराने जा रहे हों। इसके अलावा आपका ई-चालान बहुत पुराना होने पर कोर्ट से आपके खिलाफ सम्मन भी जारी हो सकता है। ऐसे में आपकी मुश्किलें और बढ़ सकती हैं।

Input : Dainik Jagran

BIHAR

बीपीएससी 66वीं के 562 पदों के लिए 28 से रजिस्ट्रेशन

Muzaffarpur Now

Published

on

बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) ने बुधवार को 66वीं संयुक्त प्रारंभिक प्रतियोगिता परीक्षा का नोटिफिकेशन जारी कर दिया है। 14 विभागों में चिह्नित किए गए 562 पदों के लिए आवेदन की प्रक्रिया 28 सितंबर से प्रारंभ होगी। संयुक्त सचिव सह परीक्षा नियंत्रक अमरेंद्र कुमार ने बताया कि गृह विभाग में पुलिस उपाधीक्षक के 34, जिला समादेष्टा के दो, काराधीक्षक के तीन, वाणिज्य कर विभाग में राज्य कर सहायक आयुक्त के 11, निर्वाचन विभाग में अवर निर्वाचन पदाधिकारी के दो, श्रम संसाधन विभाग में नियोजन पदाधिकारी के पांच, गन्ना उद्योग विभाग में ईख पदाधिकारी के पांच, गृह विभाग में प्रोबेशन पदाधिकारी के 19, परिवहन विभाग में अपर जिला परिवहन पदाधिकारी के 30, नगर विकास व आवास विभाग में नगर कार्यपालक पदाधिकारी के 15, खाद्य एवं उपभोक्ता सरंक्षण विभाग में आपूर्ति निरीक्षक के 157, श्रम विभाग में श्रम प्रवर्तन पदाधिकारी के 51, राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग में राजस्व अधिकारी के 66 तथा पंचायती राज विभाग में प्रखंड पंचायत राज पदाधिकारी के 162 पदों के लिए आवेदन की प्रक्रिया 28 सितंबर से प्रारंभ होगी। 20 अक्टूबर तक आवेदन स्वीकार किए जाएंगे। कुल पदों में 169 महिलाओं के लिए आरक्षित है। स्वतंत्रता सेनानी के पोता-पोती और नाती-नतीनी के लिए 11 पद आरक्षित हैं। विभागवार आरक्षित पद सहित विस्तृत जानकारी वेबसाइट (www.bpsc.bih.nic.in) पर अपलोड कर दी गई है। आवेदन के लिए लिंक वेबसाइट (www.onlinebpsc.bihar.gov.in) 28 सितंबर से उपलब्ध रहेगी। -रजिस्ट्रेशन, शुल्क व आवेदन की प्रक्रिया होगी एक साथ

 

परीक्षा नियंत्रक ने बताया कि 66वीं पीटी के लिए रजिस्ट्रेशन, शुल्क व आवेदन की प्रक्रिया एक साथ अभ्यर्थी पूरा कर सकेंगे। पहले तीनों प्रक्रिया अलग-अलग दिनों में पूरी की जाती थी। प्रारंभिक परीक्षा दो घंटे की होगी। इसमें एक अंक के 150 प्रश्नों का जवाब देना होगा। उन्होंने बताया कि आवेदन के लिए ईमेल आइडी और मोबाइल नंबर अनिवार्य है। अभ्यर्थियों को परीक्षा प्रक्रिया, रिजल्ट सहित तमाम जानकारी ईमेल और मोबाइल नंबर के माध्यम से ही उपलब्ध कराई जाएगी। वेबसाइट पर उपलब्ध लिंक पर रजिस्ट्रेशन करने के बाद रजिस्टर्ड ईमेल पर यूजर नेम और पासवर्ड उपलब्ध कराया जाएगा। लॉगइन में शुल्क जमा करने की लिंक उपलब्ध कराई जाएगी। दोनों प्रक्रिया पूरी होने के बाद आवेदन स्वीकार किए जाएंगे। आवेदन प्रक्रिया में किसी तरह की परेशानी होने पर अभ्यर्थी आयोग की हेल्पलाइन नंबर (0612-2215795 व 9297739013) से कार्यालय अवधि में समाधान प्राप्त कर सकते हैं।

Source : Dainik Jagran

Continue Reading

MUZAFFARPUR

दुर्गा पूजा के पहले सभी सड़कों के गड्ढे भरने और सर्वे करा ड्रेनेज बनाने का प्रस्ताव नगर निगम बाेर्ड में पास

Ravi Pratap

Published

on

बैठक पर बैठक के बावजूद कोई काम नहीं हाेने व जलजमाव की भीषण समस्या को लेकर बुधवार को नगर निगम बोर्ड की बैठक में वार्ड पार्षदों ने जमकर हंगामा किया। कार्यपालक अभियंता के रवैए पर तीखी बहस चली। बाद में नगर विकास एवं आवास मंत्री सुरेश शर्मा की पहल पर नगर निगम बोर्ड ने ड्रेनेज सिस्टम ऑफ मुजफ्फरपुर का प्रस्ताव पारित किया। इसके तहत जलजमाव से मुक्ति को लेकर पूरे शहरी इलाके में सर्वे करा ड्रेनेज बनाए जाएंगे। बैठक में दुर्गा पूजा के पहले शहर की सड़काें के सभी गड्ढे भरे जाने समेत 15 प्रस्ताव पास किए गए।

नगर विकास मंत्री ने कहा कि मुजफ्फरपुर की सबसे बड़ी समस्या जलजमाव है। नालाें की गलत बनावट के कारण पानी नहीं निकल पाता है। मुशहरी में एसटीपी की स्वीकृति वहां के लोगों ने दे दी है। 183 करोड़ की योजना से एसटीपी व ड्रेनेज बन रहे हैं। लेकिन, यह इस शहर के लिए पर्याप्त नहीं होगा। यहां बड़ा ड्रेनेज बना कर सभी मोहल्ले के नालाें को उससे जोड़ना होगा। इसके लिए जितने रुपए की जरूरत होगी, सरकार देगी।नगर निगम बोर्ड इसे स्वीकृत कर भेजे।

आचार संहिता लगने के पहले यह योजना स्वीकृत हाे जाए, इसका पूरा प्रयास करूंगा। उन्हाेंने कहा कि पानी की ठीक से निकासी के लिए नालाें से अतिक्रमण भी सख्ती से हटाया जाए। मेयर सुरेश कुमार की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में एमएलसी दिनेश प्रसाद सिंह, डिप्टी मेयर मानमर्दन शुक्ला, नगर आयुक्त विवेक रंजन मैत्रेय, अपर नगर आयुक्त विशाल आनंद, कार्यपालक अभियंता अशोक सिन्हा समेत सभी पार्षद मौजूद थे।

रिमोट कंट्रोल से नगर निगम को चलाने और नगर विकास मंत्री की प्रशंसा पर हंगामा : वार्ड पार्षद जावेद अख्तर गुड्डू ने बैठक में नगर विकास मंत्री की प्रशंसा की। साथ ही कहा कि पहले के जो मेयर होते थे, वे रिमोट कंट्रोल से कहीं से संचालित होते थे। इस पर पार्षद राजीव कुमार पंकू भड़क उठे। राकेश सिन्हा पप्पू ने भी रिमोट कंट्रोल की बात पर जमकर हंगामा किया। मंच तक पहुंच कर दोनों पार्षदों समेत कई अन्य ने हंगामा करते हुए एजेंडा के बाहर बात करने पर कड़ी आपत्ति जताई।

ठेला-खाेमचा वाले को राेजगार के लिए मिलेंगे 10-10 हजार

बैठक में नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा ने कहा कि काेराेना संकट काे लेकर भारत सरकार की याेजना के तहत ठेला-टेंपो वाले को राेजगार के लिए 10-10 हजार रुपए का ऋण दिया जाएगा। मेयर सुरेश कुमार ने बताया कि निगम क्षेत्र के सभी वार्ड पार्षद अपने-अपने वार्ड के वेंडराें काे चिह्नित करेंगे। उनके द्वारा ही वेंडराें का सत्यापन किया जाएगा। राशि का भुगतान वेंडराें के बैंक खाते में हाेगा। इसके लिए वेंडर काे अपना आधार कार्ड व बैंक पासबुक की काॅपी जमा करनी है।

बैठक में इन प्रमुख एजेंडों को सदस्यों ने दी स्वीकृति

  • सरकार को शीघ्र भेजा जाएगा ड्रेनेज सिस्टम ऑफ़ मुजफ्फरपुर का प्रस्ताव
  • दुर्गा पूजा के पहले पथ निर्माण विभाग गड्ढाें काे नहीं भरेगा ताे जाएगा नोटिस
  • 10 बॉबकट मशीन की हाेगी खरीदारी
  • जाड़ा के पहले रैन बसेराें का जीर्णोद्धार
  • सामाजिक सुरक्षा योजना काे एकल विंडो
  • राशन कार्ड की त्रुटियां दूर कराई जाएंगी
  • बिना इजाजत बिछे मोबाइल केबल हटेंगे
  • दशहरा से पहले दुरुस्त हाेंगे शौचालय।

डिप्टी मेयर बाेले- दुकानदाराें काे वेंडिंग जाेन बना उसमें दी जाए जगह

डिप्टी मेयर मानमर्दन शुक्ला ने कहा कि उद्घाटन के समय कंपनी द्वारा बताया गया कि शाम होते ही एलईडी लाइट जल जाएगी और सूर्योदय के साथ बंद हो जाएगी। लेकिन, शहर में दिन में भी एलईडी लाइट जलती रहती है। निगम के पास जमीन पड़ी हुई है, उसमें वेंडिंग जोन बनाकर दुकानदारों को जगह दी जाए।

सदस्यों ने कहा- नगर निगम में भारी भ्रष्टाचार, बैठक में ही धरना पर बैठ गए पंकु

बैठक के दाैरान पार्षदाें ने कहा कि नगर निगम भ्रष्टाचार में डूबा हुआ है। बैठकाें में निर्णय के बावजूद काम नहीं हाेता है। इस पर काफी देर तक हंगामा हाेता रहा। मेयर सुरेश कुमार, डिप्टी मेयर मानमर्दन शुक्ला समेत तमाम पार्षदों ने बैठक में नगर निगम की कार्यशैली पर सवाल उठाए। महापौर ने कहा- हम यही चाहते हैं कि नगर निगम बोर्ड व सशक्त स्थाई समिति में जो भी मुद्दा पास हो, उन पर काम हो। संजय केजरीवाल ने कहा कि पिछली बैठक में पास एजेंडाें पर भी काम नहीं हुआ।

कार्यपालक अभियंता अशोक सिन्हा के खिलाफ कड़ी आपत्ति जताते हुए राजीव कुमार पंकु बैठक के दौरान ही धरने पर बैठ गए। उन्हें डिप्टी मेयर ने बैठाया। पंकु ने कहा कि खुले नाले में महिला की मौत के बाद भी वहां स्लैब नहीं डाला जा रहा है। अर्चना पंडित ने जलजमाव व गंदगी काे लेकर सभी अधिकारियों को खरी-खोटी सुनाई। पार्षद गार्गी सिंह ने कहा- मेरे घर में पानी घुसा हुआ है। 2 माह से ज्यादा समय से गली में पानी लगा हुआ है। सुषमा कुमारी ने भी बीबीगंज में जलजमाव की समस्या उठाई। रतन शर्मा ने कहा कि 4 फीट के नाले को डेढ़ फीट के नाले से जोड़ देने पर पानी कैसे निकलेगा। राकेश सिन्हा पप्पू ने कहा कि नगर निगम में इंस्पेक्टर राज चल रहा है। अब्दुल बाकी ने बैठक में पोस्टर लहराया‌।

Input: Dainik Bhaskar

Continue Reading

MUZAFFARPUR

लंबे इंतजार के बाद एलएस कॉलेज के बैचलर ऑफ मास कम्युनिकेशन की परीक्षा 28 सितंबर से होगी शुरू

Ravi Pratap

Published

on

l.s college -muzaffarpur

लंबे इंतजार और कोरोना काल के बीच आखिरकार बिहार विश्वविद्यालय ने एलएस कॉलेज में संचालित बैचलर ऑफ मास कम्युनिकेशन के तीन वर्षों की परीक्षाओं की तिथि की घोषणा कर दी है. यह परीक्षाएं 28 सितंबर से 12 अक्टूबर तक चलेंगी जिसमें बीएमसी के फर्स्ट, सेकंड और थर्ड ईयर के छात्र और छात्राएं सम्मिलित होंगे. परीक्षा का केंद्र विश्वविद्यालय के सोशल साइंस ब्लॉक को बनाया गया है.

बता दें कि बीएमसी के विद्यार्थी काफी समय से अपनी परीक्षा को लेकर इंतजार कर रहे थे. इसको लेकर छात्रों द्वारा कई बार विश्वविद्यालय प्रशासन को ज्ञापन भी सौंपा गया था. इसके बाद जाकर विश्वविद्यालय ने परीक्षा की तिथियों की घोषणा कर दी.

तृतीय वर्ष के छात्र प्रिंस कुमार सिंह का कहना है कि हम लोग 2016 से 2019 बैच के हैं और हमारा कोर्स 3 साल का है. लेकिन विश्वविद्यालय के ढुलमुल रवैया के कारण साढ़े 4 साल से ज्यादा हो चुका है. अभी तक हम लोगों की परीक्षाएं नहीं ली गई. आज तिथियों की घोषणा हुई है. अब उम्मीद है कि इस बार परीक्षा होने के बाद जल्द हम लोग का रिजल्ट भी आ जाएगा.

Input: Live cities (Abhishek)

Continue Reading
BIHAR16 mins ago

बीपीएससी 66वीं के 562 पदों के लिए 28 से रजिस्ट्रेशन

INDIA53 mins ago

दिशा की मौत की खबर सुन बेहोश हो गए थे सुशांत, होश आया तो बोले- वो मुझे मार देंगे- रिपोर्ट

BOLLYWOOD1 hour ago

कंगना रनौत का जया बच्चन को जवाब- हीरो के साथ सोने के बाद मिलता था 2 मिनट का रोल

MUZAFFARPUR3 hours ago

दुर्गा पूजा के पहले सभी सड़कों के गड्ढे भरने और सर्वे करा ड्रेनेज बनाने का प्रस्ताव नगर निगम बाेर्ड में पास

INDIA3 hours ago

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का 70वां जन्मदिन आज, अमित शाह बोले- राष्ट्रसेवा में समर्पित सर्वप्रिय नेता को बधाई

FESTIVALS4 hours ago

आज मनाया जा रहा विश्वकर्मा पूजा, जानें शुभ मुहूर्त एवं महत्व

TECH12 hours ago

रोजाना 47 रुपये देकर खरीदें Redmi Note 9 Pro Max, कंपनी दे रही शानदार ऑफर

INDIA12 hours ago

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी हुए कोरोना पॉजिटिव, खुद ट्वीट कर दी जानकारी

INDIA13 hours ago

देश में बनेगी नई संसद, टाटा ग्रुप 862 करोड़ में करेगी नए पार्लियामेंट हाउस का निर्माण

l.s college -muzaffarpur
MUZAFFARPUR13 hours ago

लंबे इंतजार के बाद एलएस कॉलेज के बैचलर ऑफ मास कम्युनिकेशन की परीक्षा 28 सितंबर से होगी शुरू

BIHAR4 days ago

KBC जीत करोड़पति बने थे सुशील कुमार, सेलेब्रिटी बनने के बाद देखा सबसे बुरा समय

BIHAR4 days ago

जाते जाते भी लोगो के लिए मांग रखकर, रुला गए ब्रह्म बाबा..

JOBS2 weeks ago

Amazon दे रहा पैसा कमाने का मौका! सिर्फ 4 घंटे में कमा सकते हैं 60000-70000 रु

BIHAR1 week ago

बारिश में भीगकर ट्रैफिक कंट्रोल कर रहा था कांस्टेबल, रास्ते से गुजर रहे DIG ने गाड़ी रोक किया सम्मानित

MUZAFFARPUR6 days ago

पिता जदयू में और मां लोजपा में, बेटी कोमल सिंह लड़ेगी मुजफ्फरपुर के गायघाट से चुनाव!

BIHAR3 weeks ago

क्या बिहार के डीजीपी ने दे दिया इस्तीफा? जानिए खुद गुप्तेश्वर पांडेय ने ट्वीट कर क्या कहा?

INDIA4 weeks ago

फर्स्ट डिविजन से पास होने वाली लड़कियों को स्कूटी देगी राज्य सरकार…

BIHAR4 weeks ago

सुशांत सिंह की संपत्ति पर पिता ने जताया दावा, बोले- इस पर केवल मेरा हक

BIHAR3 weeks ago

बिहार में बड़ी संख्या में निकलने वाली है कंप्यूटर ऑपरेटर्स की भर्ती, कर लें तैयारी

INDIA2 weeks ago

एलपीजी सिलिंडर बुकिंग पर मिल रहा है 500 रुपये तक का कैशबैक, करें बस यह छोटा सा काम

Trending