हर साल 11 लाख युवा करते हैं सिविल सेवा परीक्षा के लिए आवेदन

0
520

कठिन परिश्रम और सालों की पढ़ाई के बाद सिविल सेवा परीक्षा के इंटरव्यू में चूकने वालों के लिए संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) ने नई योजना बनाई है। इसके तहत आयोग ने केंद्र सरकार और उसके मंत्रालयों से सिविल सेवा परीक्षा के इंटरव्यू में फेल होने वाले आवेदकों को भर्ती करने की सिफारिश की है। सरकार इन सिफारिशों को मानती है तो बड़ी संख्या में युवाओं का सरकारी नौकरी का सपना पूरा हो सकता है।

कम होगा युवाओं का तनाव

न्यू इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, हाल ही में ओडिशा में आयोजित राज्य लोक सेवा आयोग के 23वें सम्मेलन में UPSC के चेयरमैन अरविंद सक्सेना ने कहा कि हमने केंद्र सरकार और मंत्रालयों से सिफारिश की है कि वे सिविल सेवा परीक्षा के इंटरव्यू में फेल होने के कारण अंतिम लिस्ट में जगह न पाने वाले उम्मीदवारों की भर्ती करें। उन्होंने कहा कि हर साल करीब 11 लाख उम्मीदवार सिविल सेवा परीक्षा के लिए आवेदन करते हैं। विभिन्न चरणों की प्रक्रिया के बाद केवल 600 उम्मीदवारों का चयन हो पाता है। यदि सरकार इस मुश्किल चयन प्रक्रिया का सामना करने वाले उम्मीदवारों में से दूसरे मंत्रालयों/विभागों में भर्ती पर विचार करती है तो इससे युवाओं का तनाव कम होगा।

आवेदन वापस ले सकेंगे युवा

अरविंद सक्सेना ने कहा कि UPSC परीक्षा प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए कई कदम उठा रहा है। उन्होंने कहा कि अब ऑनलाइन आवेदन करने वाले उम्मीदवारों को एक रजिस्ट्रेशन नंबर दिया जाएगा। इस नंबर की मदद से आवेदन अपना आवेदन वापस ले सकेंगे। आवेदन वापस लेने से यूपीएससी को परीक्षा केंद्र और पेपर पर होने वाले खर्च में बचत होगी। अरविंद सक्सेना ने कहा कि परीक्षा प्रक्रिया को पारदर्शी बनाने के लिए यूपीएससी ऑनलाइन कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट कराने पर भी विचार कर रहा है।

एनटीपीसी ने निकाली नौकरी

सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी नेशनल थर्मल पावर कॉरपोरेशन (NTPC) ने सिविल सेवा परीक्षा की अंतिम लिस्ट में जगह नहीं बना पाने वाले उम्मीदवारों को नौकरी देने के लिए 2018 में विज्ञापन जारी किया है। इस समय सिविल सर्विस परीक्षा 2018 के इंटरव्यू चल रहे हैं। कुछ ही दिनों में इस परीक्षा का परिणाम जारी होने की संभावना है।

Input : Dainik Bhaskar