बचपन से बेटी का सपना था हेलिकॉप्टर से उठे डोली, उड़न खटोला देख पिता को लगाया गले

0
4818

हसनगढ़ गांव में रविवार को हुई एक शादी कौतूहल का विषय बन गई। दरअसल, एक गरीब परिवार की बेटी की विदाई हेलिकॉप्टर में हुई। हिसार के हांसी क्षेत्र से (Haryana Hisar news) दूल्हे राजा संजय हेलिकॉप्टर (Bride Farewell in Helicopter) में अपनी ससुराल पहुंचे। लड़के वालों ने शगुन के तौर पर दहेज भी मात्र 1 रुपए लिया। दूल्हे के पिता सतबीर का कहना है, बिना दहेज शादी करने के पीछे उद्देश्य बेटी बचाओ का संदेश देना था। ताकि लोग बेटी को बोझ न समझें। वहीं, लड़की के मजदूर पिता सतबीर सिंह यादव ने कहा, मैंने कभी सोचा भी नहीं था कि बेटी ऐसे विदा होगी। इस मौके पर dainikbhaskar.com आपको यूपी के झांसी में हुई एक शादी के बारे में बता रहा है, जब एक किसान पिता ने हेलिकॉप्टर में विदा कर अपनी लाडली बेटी का सपना पूरा किया था।

मायके से ससुराल की दूरी महज 6 किमी

झांसी से सटे मैरी गांव के रहने वाले किसान राकेश यादव की 3 बेटिया हैं। 12 मई, 2018 को उनकी सबसे छोटी बेटी दीपिका की अभय से शादी हुई। राकेश यादव ने बताया, बचपन से दीपिका का एक ही सपना था कि उसकी डोली हेलिकॉप्टर से उठे। मैंने उससे वादा किया था कि उसका ये सपना जरूर पूरा करूंगा। लेकिन जहां रिश्ता तय हुआ, वहां से हमारे घर की दूरी महज 6 किमी थी। लेकिन अपने वादे का मान रखते हुए बेटी की विदाई के लिए हेलिकॉप्टर मंगाया। खुशी है कि बेटी के ससुराल पक्ष वालों ने उसे लाखों के जेवर पहनाकर विदा करवाया।

हेलिकॉप्टर देख पिता को लगाया गले

अपनी विदाई का सपना लिए दीपिका की नजरों के सामने जब हेलिकॉप्टर आया, तो उसके आंखों में आंसू आ गए। दीपिका ने फौरन भाई और पिता को गले से लगा लिया। इस विदाई का नजारा देखने के लिए पूरा गांव उमड़ पड़ा था। यहां तक कि हाईवे के ओवर ब्रिज से होकर निकलने वाले लोग भी विदाई समारोह देखने के लिए रुक गए थे। कार्यक्रम के दौरान किसी प्रकार की भगदड़ या अनहोनी ना हो, इसके लिए पुलिस प्रशासन भी मौके पर मौजूद था।

Input : Dainik Bhaskar

img class=”aligncenter size-full wp-image-14920″ src=”https://muzaffarpurnow.in/wp-content/uploads/2019/02/16_1549884062.jpg” alt=”” width=”730″ height=”548″ />

billions-spice-food-courtpreastaurant-muzaffarpur-grand-mall