बिहारः अब आसान नहीं होगा महिला सिपाही बनना, नए नियम के तहत होगा कठिन परीक्षण

0
1100

बिहार में महिला सिपाहियों के बहाली की प्रक्रिया में कई महत्वपूर्ण बदलाव किए जा रहे हैं, अब महिला अभ्यार्थियों का चयन केंद्रीय बलों के तर्ज पर किया जाएगा. जिसके बाद अब मजबूत युवतियां ही बिहार पुलिस में सिपाही बन सकेंगी. इस मामले को लेकर केंद्रीय चयन पर्षद एक बड़े बदलाव करने की तैयारी कर रहा है. इसको लेकर पुलिस मुख्यालय तेजी से काम कर रहा है, जिसपर अंतिम निर्णय सरकार को लेना है.

शारीरिक जांच परीक्षा में होगा बदलाव

अब बिहार पुलिस में महिला सिपाहियों के बहाली में शारीरिक जांच परीक्षा में महिला अभ्यर्थियों को ज्यादा दमखम दिखाना पड़ेगा. अब केन्द्रीय बटालियनों के तर्ज पर महिला अभ्यार्थियों की दौड़ का एक मिनट कम करके पांच मिनट दिए जाने को लेकर चर्चा चल रही है, ताकि उनका औसत भी करीब पुरुषों के समान हो जाएगा.

अभी शारीरिक परीक्षा में 50 अंक और हाईजंप और शॉर्ट पुट के लिए 25- 25 निर्धारित है. इसमें जहां पुरुषों को 6 मिनट में 1.6 किमी तो महिलाओं को एक किमी दौड़ना होता है. एक अध्ययन के अनुसार इस जाँच में पुरुष सिर्फ 30 से 40 फीसदी, जबकि महिलाएं 90 फीसदी पास हो रही हैं.

इस मुद्दों को लेकर हो रही बदलाव की बात

महिला सिपाही भर्ती प्रक्रिया में बदलाव को लेकर मांग की जा रही है कि सिपाहियों की नियमित बहाली किया जाए ताकि बहाली और सेवानिवृत्ति में अनुपात बना रहे. इसके अतिरिक्त एक बाद में बड़ी संख्या में बहाली पर रोक लगाने की भी मांग हो रही है, बताया जा रहा है कि इसकी वजह से कैडर मैनेजमेंट में दिक्कत होती है. जांच प्रक्रिया में बदलाव के तहत अब संवेदनशील पुलिस के लिए शारीरिक दक्षता के साथ मानसिक दक्षता जांच की भी मांग की जा रही है.

Input : Live Cities