सीतामढ़ी में पुलिस कस्टडी में मौ’त के मामले में 8 पुलिसकर्मी सस्पेंड हुए और विभागीय कार्रवाई शुरु हो गई है. मामले में SHO को गिर’फ्तार कर लिया गया है. 4 अन्य पुलिसकर्मियों की भी गिर’फ्तारी हो सकती है. दोषी पाए जाने पर सभी पुलिसकर्मी बर्खास्त होंगे. पुलिस हिरासत में दो आरोपितों की मौ’त मामले में डुमरा थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है। इसमें थानाध्यक्ष समेत अन्य पुलिस कर्मियों पर पीट पीट कर ह’त्या का आरोप लगाया गया है।

इधर, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी पिटाई से मौत होने की पुष्टि हुई है। रिपोर्ट में मृतकों का पेट भी खाली पाया गया है। इधर, प्राथमिकी दर्ज होने के बाद डुमरा थानाध्यक्ष समेत सभी निलंबित पुलिस कर्मी फरार हो गए हैं। डीएसपी मुख्यालय पीएन साहू थानाध्यक्ष की गिरफ्तारी का वारंट लेकर घूम रहे हैं। हालांकि, थानाध्यक्ष अपना सरकारी मोबाइल सौंप कर गायब हुए हैं।

क्या है पूरा मामला

लूट और हत्या मामले में पूर्वी चंपारण जिले के चकिया से गिरफ्तार दो युवकों की पुलिस हिरासत में हुई मौत के बाद आइजी नैयर हसनैन खान ने डुमरा थानाध्यक्ष समेत आठ पुलिस कर्मियों को निलंबित कर दिया है। इनमे दो दारोगा, दो पुलिस के जवान और चार क्यूआरटी जवान शामिल हैं। आइजी के आदेश पर बुधवार की आधी रात सीतामढ़ी पहुंचे जोनल डीआइजी रवींद्र कुमार मामले की जांच में जुट गए हैं।

गुरुवार को डीआगजी ने एसपी, डीएसपी सदर, क्यूआरटी जवान और डुमरा थाना के निलंबित थानाध्यक्ष से घटना की बाबत जानकारी ली। डीआइजी की तहकीकात जारी है। घटना को लेकर इलाके के लोगों में पुलिस के प्रति जबरदस्त गुस्सा दिख रहा है। सोशल मीडिया पर लोग आक्रोश जता रहे हैं।

इसके पूर्व बुधवार की रात पुलिस पर हत्या का आरोप लगाते हुए मृतक पूर्वी चंपारण जिले के चकिया थाना के रमडीहा निवासी गुफरान और तस्लीम के परिजनों ने पोस्टमार्टम के बाद शव लेने से इन्कार कर दिया था। नाराज परिजन सदर अस्पताल गेट पर धरना पर बैठ गए थे । रात 1.15 बजे एसपी अमरकेस डी के साथ डीआइजी रवींद्र कुमार सदर अस्पताल पहुंचे। परिजनों को इंसाफ का आश्वासन दिया।

डीआइजी के आदेश पर एसडीपीओ सदर ने परिजनों का बयान दर्ज किया। दो बजे रात को पुलिसिया व्यवस्था के बीच दोनों का शव चकिया भेजा गया। इधर, डीआइजी ने मामले को लेकर एसपी समेत पुलिस अधिकारियों को जम कर फटकार लगाई। जांच में दोषी पाए जाने पर कड़ी कार्रवाई की बात कही है। हालांकि, स्थानीय पुलिस अब भी पुलिस पिटाई से इन्कार करते हुए मौत को संदिग्ध ही बता रही है। पुलिस पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने का इंतजार कर रही है।

Input : Before Print

Total 0 Votes
0

Tell us how can we improve this post?

+ = Verify Human or Spambot ?