Connect with us

MUZAFFARPUR

एमडीडीएम कालेज में छात्राओं का प्रदर्शन, कॉलेज पर लगाया अवैध शुल्क लेने का आरोप

Published

on

मुजफ्फरपुर। महंत दर्शन दास महिला महाविद्यालय में मंगलवार को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के बैनर तले छात्राओं ने स्नातक और पीजी कोर्स में नामांकन के समय फीस लिए जाने के विरोध में प्रदर्शन किया। छात्राओं का कहना था कि सरकार की ओर से किसी प्रकार का शुल्क नहीं लेने का दिशानिर्देश है। ऐसे में कालेज की ओर से अवैध शुल्क लिया जा रहा है।

मुजफ्फरपुर एमडीडीएम कालेज में छात्राओं का प्रदर्शन, गार्ड से धक्का-मुक्की

एक दिन पूर्व अभाविप की विष्णु प्रिया के नेतृत्व में छात्राओं ने इसी मुद्दे को लेकर प्राचार्य से मुलाकात की थी। प्राचार्य ने नियमानुसार फीस लेने की बात कही थी। मंगलवार को छात्राएं कालेज गेट पर पहुंचीं और प्राचार्य के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। इसी बीच प्राचार्य कालेज पहुंचीं। गेट खुलते ही छात्राएं गेट के भीतर प्रवेश करने लगी। गार्ड ने गेट बंद करने का प्रयास किया तो छात्राएं उग्र हो गई। इस क्रम में धक्का-मुक्की भी हुई।

छात्राओं ने आरोप लगाया कि गार्ड ने उनके साथ मारपीट की और दु‌र्व्यवहार किया। वहीं गार्ड विश्वजीत ने कहा कि छात्राओं ने धक्का-मुक्की की। उसकी वर्दी भी फाड़ दी। छात्राओं ने प्राचार्य कक्ष में ताला जड़ दिया और बाहर प्रदर्शन करने लगीं। कालेज की वरीय शिक्षकों की ओर से वार्ता का प्रयास किया गया पर छात्राएं मानने को तैयार नहीं थीं। विधि व्यवस्था बिगड़ता देख प्राचार्य ने मिठनपुरा पुलिस को इसकी सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने छात्राओं को समझाकर शांत कराने का प्रयास किया, लेकिन छात्राएं फीस नहीं लेने की मांग पर अड़ी रहीं।

प्राचार्य ने कहा- नियमानुसार लिया जा रहा फीस एमडीडीएम कालेज की प्राचार्य डा.कनुप्रिया ने कहा कि सरकार के निर्देशानुसार छात्राओं से ट्यूशन और नामांकन फीस नहीं ली जा रही है। कालेज में दी जाने वाली सुविधाओं के लिए छात्राओं से वार्षिक शुल्क लिया जाता है। वह भी चालान के माध्यम से बैंक में जमा होता है। रजिस्ट्रेशन शुल्क, स्पो‌र्ट्स शुल्क, रेडक्रास का शुल्क, लाइब्रेरी, बिजली समेत अन्य सुविधाओं के लिए पीजी में छात्राओं से प्रति वर्ष 2045 रुपये लिए जाते हैं। विवि द्वारा पूछे जाने पर यह जानकारी पहले ही दी जा चुकी है। इस शुल्क में विवि का भी हिस्सा होता है।

छात्राओं को एक दिन पूर्व इसकी जानकारी दी गई थी। इसके बाद अगले दिन बिना कोई लिखित सूचना दिए छात्राओं ने प्रदर्शन किया। बाद में लेखापाल की ओर से इस फीस की पूरी जानकारी छात्राओं को दी गई। इसके बाद छात्राएं संतुष्ट हुई। छात्राओं ने प्राचार्य और शिक्षकों से सामूहिक रूप से माफी भी मांगी। कुलपति से भी इसकी शिकायत की गई है।

biology-by-tarun-sir

विवि के अधिकारी बोले- शुल्क लेना कालेज व विवि की मजबूरी

विवि के पदाधिकारी ने छात्राओं से फीस के मुद्दे पर लगातार हो रहे विवादों को देखते हुए कहा कि जिन मद में कालेज और पीजी विभाग शुल्क ले रहे हैं। यह उनकी मजबूरी है। सरकार की ओर से एक ओर आदेश आया कि शुल्क नहीं लेना है। नामांकन लेने वाले छात्राओं की संख्या के अनुसार सरकार इन शुल्कों का वहन करेगी। वर्ष 2016 और 2017 में छात्राओं से शुल्क नहीं लिया गया। सरकार को जानकारी दी गई पर उसके बदले आज तक किसी प्रकार की राशि सरकार ने नहीं दी। ऐसे में कालेज और विवि में छात्र-छात्राओं को सुविधा देने के लिए शुल्क लेना इनकी मजबूरी है। यदि सरकार की ओर से इस मद में राशि आती है तो छात्राओं से ली गई राशि लौटाई जा सकती है।

Source : Dainik Jagran

हेलो! मुजफ्फरपुर नाउ के साथ यूट्यूब पर जुड़े, कोई टैक्स नहीं चुकाना पड़ेगा 😊 लिंक 👏

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

MUZAFFARPUR

मुजफ्फरपुर- एन. सी.सी कैडेट्स को दिया गया सेना में शामिल होने का गुरुमंत्र

Published

on

सेना भर्ती कार्यालय के निदेशक सेना मेडल कर्नल बॉबी जयसरोटिया ने शनिवार को एनसीसी कैडेट्स को सेना में शामिल होने का टिप्स दिया।

एलएस कॉलेज के ऑडोटोरियम में उन्होंने 32- बिहार बटालियन से सम्बंधित 300 से अधिक एनसीसी कैडेट्स को संबोधित करते हुए कहा कि सेना में शामिल होने के लिए एनसीसी कोडेट्स के पास सुनहरा अवसर होता है। सेना के सभी विंग में एनसीसी सर्टिफिकेट धारी को विशेष छूट मिलता है।

उन्होंने गर्ल्स कैडेट्स को महिला मिलिट्री फोर्स में भर्ती होने की प्रक्रिया से अवगत कराया। कर्नल जसरोटिया ने कहा कि सेना में शामिल होकर देश की सेवा करने का अगर आप सभी के अंदर जनून है, तो अपनी काबिलियत पर भरोसा रखें। किसी तरह के बिचौलियों के चक्कर मे न पड़े। आपकी काबिलियत ही सेना में चयन का रास्ता खोलेंगी।एनसीसी कैम्प का अनुशासन आपको सेना में भर्ती होने में मदद करेगी।कार्यक्रम के अंत में उन्होंने कैडेट्स के सवालों का भी जवाब दिया।

हेलो! मुजफ्फरपुर नाउ के साथ यूट्यूब पर जुड़े, कोई टैक्स नहीं चुकाना पड़ेगा 😊 लिंक 👏

biology-by-tarun-sir

Continue Reading

MUZAFFARPUR

मुजफ्फरपुर में सार्वजनिक स्थानों पर तम्बाकू सेवन करने वालों को पकड़े जाने पर भरना होगा जुर्माना

Published

on

मुजफ्फरपुर : जिले में तम्बाकू नियंत्रण हेतु जिला पदाधिकारी द्वारा गठित त्रिस्तरीय छापामार दस्ते को तम्बाकू नियंत्रण के गुर सिखाने के लिए राज्य सरकार की तकनीकी सहयोगी संस्थान सोशियो इकोनॉमिक एंड एजुकेशनल डेवलपमेंट सोसाइटी (सीड्स) और जिला तम्बाकू नियंत्रण कोषांग के संयुक्त तत्वावधान में आज उप विकास आयुक्त श्री आषुतोष ‌ द्विवेदी की अध्यक्षता में समाहरणालय सभागार मे उन्मुखीकरण सह प्रशिक्षण कार्यशाला आयोजित की गई।

उप विकास आयुक्त ने बताया कि तम्बाकू के दुष्परिणामों से बच्चों और अवयस्कों को बचाना बहुत आवश्यक है। उन्होंने जिला शिक्षा पदाधिकारी को निर्देश दिया कि स्कूलों में इस कार्यक्रम का संचालन किया जाय। उन्होंने सभी संबंधित पदाधिकारियों को अपने अपने कार्यक्षेत्रों में कोटपा 2003 के विभिन्न धराओं का अनुपालन सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। उप विकास आयुक्त ने तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम के नोडल पदाधिकारी डॉ0 शिवशंकर को निर्देश दिया कि कोटपा की घारा 4 के अनुपालन हेतु इसके बोर्ड का दिवार लेखन करवाया जाय । शैक्षणिक संस्थानों के 100 गज के दायरे से अविलंब दुकान हटवाने का निर्देश दिया गया।

सीड्स के कार्यपालक निदेशक श्री दीपक मिश्रा ने प्रस्तुतिकरण के माध्यम से तम्बाकू नियंत्रण के कानून कोटपा 2003 के प्रावधानो एवं चलानींग प्रक्रिया की विस्तृत जानकारी दी। श्री मिश्रा ने बिहार के विभिन्न जिलों में अब तक किये गए गतिविधियों की जानकारी दी।

विदित हो कि विश्व स्वास्थ्य संघठन और भारत सरकार द्वारा प्रकाशित GATS 2 के सर्वे में बिहार में तम्बाकू सेवन करने वालों में काफी हद तक कमी आई है, यह आंकड़ा 53.5% से घट कर 25.9% हो गया है।

कार्यक्रम के आरंभ में तम्बाकू नियंत्रण के जिला नोडल अधिकारी डॉक्टर शिव शंकर ने सभी प्रतिभागियों का स्वागत किया और जिले में अब तक किए गए गतिविधियों के बारे में बताया। अंत में जिला कार्यक्रम प्रबंधक प्रमोद कुमार वर्मा ने धन्यवाद ज्ञापन किया।

biology-by-tarun-sir

उक्त कार्यशाला में डीपीआरओ कमल‌ सिंह, सीड्स के कार्यक्रम पदाधिकारी सुनील कुमार चौधरी, मनोज कुमार झा, डी पी एम वी पी वमां, एनसीडी सेल के जिला वित्तीय सह लाजिस्टिक सहलाकर प्रिंस कुमार, सदर अस्पताल के अधीक्षक, जिला तम्बाकू नियंत्रण कोषांग के नोडल पदाधिकारी सहित सभी छापामार दस्ता के सदस्यों एवं सभी प्रखंड विकास पदाधिकारियों, प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी एवं थाना प्रभारियों ने हिस्सा लिया।

हेलो! मुजफ्फरपुर नाउ के साथ यूट्यूब पर जुड़े, कोई टैक्स नहीं चुकाना पड़ेगा 😊 लिंक 👏

Continue Reading

MUZAFFARPUR

यूपीएससी में मुजफ्फरपुर के प्रांजल प्रतीक को मिला 529वां स्थान

Published

on

यूपीएससी परिणाम शुक्रवार को घोषित हो हो गए हैं. मुजफ्फरपुर के मोतीपुर के रहने वाले प्रांजल प्रतीक ने पहले ही प्रयास में यूपीएससी की परीक्षा पास की है. प्रांजल ने यूपीएससी परीक्षा में 529 वीं रैंक हासिल की है. खास बात यह है कि प्रांजल ने बिना किसी कोचिंग के ही यूपीएससी की परीक्षा पास की है. प्रांजल ने साल 2020 में अपना स्टार्टअप भी शुरू किया था जिसमें वो ऑनलाइन चैन का काम शुरू किया था. अपने काम के साथ-साथ ही उन्होंने यूपीएससी की परीक्षा पास की है. प्रांजल के पिता विश्वनाथ प्रसाद वन विभाग में अधिकारी हैं.

यूपीएससी परीक्षा का शुकवार को फाइनल रिजल्ट जारी हो गया है जिसमें बिहार के कटिहार से शुभम कुमार ने टॉप किया है. वहीं मुजफ्फरपुर के प्रांजल प्रतीक ने भी यूपीएससी की परीक्षा में 529 वीं रैंक हासिल की है. प्रांजल ने यह कारनामा बिना किसी कोचिंग के कर दिखाया है. साथ ही उन्होंने अपना स्टार्टअप करते हुए यूपीएससी परीक्षा की पढ़ाई की. प्रांजल क्चुह्ह समय पहले स्टार्टअप शुरू करते हुए ऑनलाइन सप्लाई चेन शुरू की थी जो किसानों के उत्पादों को बाजार तक पहुंचाती है. प्रांजल ने रांची के जेएनवी श्यामली से उन्होंने 12वीं तक की पढ़ाई की जिसके बाद उन्होंने इंडियन इंस्टीच्यूट ऑफ स्पेश साइंस एंड टेक्नोलॉजी तिरुवनंतपुरम में दाखिला लिया.

इंडियन इंस्टीच्यूट ऑफ स्पेश साइंस एंड टेक्नोलॉजी तिरुवनंतपुरम से प्रांजल ने 2016 में बीटेक की पढ़ाई की लेकिन इसके बाद आईआईएम बंगलोर से एमबीए की पढ़ाई पूरी करने के बाद एक साल नौकरी की. प्रांजल ने बताया कि उन्होंने खुद से यूपीएससी की तैयारी के साथ ही काम भी किया. जब भी समय मिलता था वह पढ़ने बैठ जाते थे. उन्होंने बताया कि उनके पिता ही उनके प्रेरणा श्रोत हैं. पिताजी सरकारी नौकरी में थे तो उनका भी सपना यूपीएससी करने का था.

Input : Hindustan

हेलो! मुजफ्फरपुर नाउ के साथ यूट्यूब पर जुड़े, कोई टैक्स नहीं चुकाना पड़ेगा 😊 लिंक 👏

biology-by-tarun-sir

Continue Reading
WORLD8 hours ago

UNGA में पीएम मोदी ने पाकिस्तान और चीन को लताड़ा

BIHAR10 hours ago

त्योहारों पर आना है बिहार, तो लानी होगी 72 घंटे पूर्व की RT-PCR नेगेटिव जांच रिपोर्ट

VIRAL11 hours ago

गुस्से में बॉयफ्रेंड के सिर पर लड़की ने दे मारा मोबाइल फोन, बेहोश होकर गिरा, मौत

MUZAFFARPUR12 hours ago

मुजफ्फरपुर- एन. सी.सी कैडेट्स को दिया गया सेना में शामिल होने का गुरुमंत्र

MUZAFFARPUR13 hours ago

मुजफ्फरपुर में सार्वजनिक स्थानों पर तम्बाकू सेवन करने वालों को पकड़े जाने पर भरना होगा जुर्माना

BIHAR13 hours ago

वीडियो: भोजपुरी रैपर ने दी ‘बादशाह-हनी सिंह’ को टक्कर, मनिहारी गाने में यूं लगाया तड़का

INDIA14 hours ago

दुष्कर्म मामले में लोजपा सांसद प्रिंस राज को मिली अग्रिम जमानत

BIHAR15 hours ago

वीडियो: हमारे देश की अफसर बिटिया स्नेहा दुबे ने पाकिस्तान को दिया मुंहतोड़ जवाब

BIHAR17 hours ago

पंचायत चुनाव: इन चार जिलों में महिलाओं ने पुरुषों को पछाड़ा, ओवरऑल वोटिंग में यह जिला रहा टॉप

BIHAR17 hours ago

जिम ट्रेनर गोलीकांड: सिर्फ विक्रम से नहीं था खुशबू सिंह का याराना, मिहिर पर भी आया था दिल, पटना SSP का खुलासा

INDIA3 weeks ago

सिद्धार्थ शुक्ला पंचतत्व में विलीन, कांपते हाथों से मां ने दी जिगर के टुकड़े को मुखाग्नि

BIHAR6 days ago

बिहार: कागजों में करोड़पति बने 2 लड़कों का अभिनेता सोनू सूद कनेक्शन!

BIHAR23 hours ago

बिहार: पिता की थी छोटी सी खैनी की दुकान, ट्यूशन पढ़ा करते थे पढ़ाई, अब UPSC में पाई दूसरी बार सफलता

MUZAFFARPUR5 days ago

मुजफ्फरपुर : पति की हत्या कर शव केमिकल से गला रही थी पत्नी, चार दिन बाद हो गया ब्लास्ट

BIHAR1 week ago

बिहार : भांजी पर आया मामा का दिल, पत्नी और बेटे को छोड़कर हुआ फरार, दो सालों से चल रहा था प्रेम प्रसंग

BIHAR4 days ago

बिहार के सभी घरों में नजर आएंगे स्मार्ट प्रीपेड मीटर

INDIA2 weeks ago

अगर इन 3 बैंकों में है आपका भी अकाउंट तो 1 अक्टूबर से नहीं चलेगी पुरानी चेकबुक

INDIA2 weeks ago

रिवॉल्वर लेकर वीडियो बनाने वाली लेडी कांस्टेबल को विभाग को देने होंगे 1.82 लाख रुपए

INDIA1 day ago

यू ही नहीं बिहार को कहा जाता आई.ए.एस फैक्ट्री कटिहार का शुभम बना UPSC टॉपर

TRENDING4 weeks ago

शादी के 3 महीने बाद महिला ने दिया बच्चे को जन्म, पति पहुंचा कोर्ट

Trending