Connect with us

SPORTS

कोई कंपनी नहीं, ओडिशा सरकार है हॉकी टीमों की स्पॉन्सर, सोशल मीडिया पर छाए नवीन पटनायक

Published

on

भारतीय महिला हॉकी टीम की बीते सोमवार को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ क्वार्टर फाइनल जीत के कुछ देर बाद 74 साल के नवीन पटनायक  भुवनेश्वर में अपने आधिकारिक ‘नवीन निवास’ के बरामदे में एक बधाई संदेश रिकॉर्ड करने के लिए खड़े थे. काली टी-शर्ट और पायजामा पहने पटनायक ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हमारी महिला हॉकी टीम का खेल कितना शानदार रहा. इससे एक दिन पहले, उन्हें मेंस हॉकी टीम के लिए खड़े होकर ताली बजाते देखा गया था. क्योंकि भारत ग्रेट ब्रिटेन को हराकर 49 साल बाद ओलंपिक के सेमीफाइनल में जो पहुंचा था. इन दो तस्वीरों से यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि नवीन पटनायक के लिए हॉकी के क्या मायने हैं.

सीएम नवीन पटनायक के साथ हॉकी टीम

नवीन पटनायक भले ही ओडिशा के मुख्यमंत्री हैं. लेकिन वो आज भारत में हॉकी के असली ‘नायक’ बनकर उभरे हैं. ऐसा इसलिए क्योंकि 2018 में सहारा भारतीय हॉकी टीमों को प्रायोजित करने से पीछे हट गया, तो ओडिशा सरकार ने ही हॉकी इंडिया के साथ अगले 5 साल हॉकी टीमों को प्रायोजित करने के लिए 100 करोड़ का समझौता किया था. तब उन्होंने इसे ओडिशा की तरफ से देश को एक तोहफा बताते हुए कहा था कि यह खेल राज्य के आदिवासी क्षेत्र, जहां “बच्चे हॉकी स्टिक के साथ चलना सीखते हैं” में जिंदगी जीने का एक तरीका है.

100 करोड़ का करार करने पर हुई थी पटनायक की आलोचना

भारतीय हॉकी को नए शिखर पर पहुंचाने की उनकी कोशिश को अक्सर सोशल मीडिया और इससे इतर सराहा गया है. हालांकि, ओडिशा जैसे गरीब राज्य के लिए 100 करोड़ रुपए हॉकी पर खर्च करने को लेकर उन्हें आलोचनाओं का शिकार भी होना पड़ा है. जब उन्होंने हॉकी इंडिया से करार किया था, तब आलोचकों ने इसे लेकर हैरानी जताई थी कि बार-बार प्राकृतिक आपदाओं का सामना करने वाला यह गरीब राज्य, क्या इस खेल के लिये सरकारी खजाने पर 100 करोड़ रुपये का खर्च वहन कर पाएगा.

ठीक तीन साल बाद, ओडिशा सरकार ने सभी राष्ट्रीय और स्थानीय अखबारों में पूरे पन्ने का विज्ञापन देकर घोषणा की- इस उल्लेखनीय यात्रा में हॉकी इंडिया के साथ भागीदारी करके ओडिशा को गर्व है. गर्व होता भी क्यों न, मौका ही ऐसा था. पुरुष और महिला हॉकी टीमें टोक्यो ओलंपिक के सेमीफाइनल में जो पहुंचीं थीं.

स्पॉन्सरशिप की राशि 100 से बढ़ाकर 150 करोड़ की

मुख्यमंत्री पटनायक ने आलोचकों को माकूल जवाब देते हुए कहा कि खेल में निवेश युवाओं में निवेश है. उन्होंने कहा कि इस मंत्र ने ओडिशा का ध्यान हॉकी पर केंद्रित करवाया, जो एक तरह से जनजातीय आबादी के लिये जीवन जीने का तरीका है. उन्होंने 5 सालों में प्रायोजन राशि को भी बढ़ाकर 150 करोड़ कर दिया है. ओडिशा सरकार ने घोषणा की है कि 38 चैंपियनों ने हॉकी में इतिहास लिखा, 1.3 अरब भारतीय अब सीना तान कर चलते हैं.

ओडिशा आज देश में हॉकी का केंद्र

जैसे ही हॉकी में देश की दावेदारी बढ़ी, पटनायक खुश हो गए और टेलीविजन पर ओलंपिक के क्वार्टरफाइनल मैच को देखते हुए भारतीय टीम का इस्तकबाल भी किया. भारतीय पुरुष हॉकी टीम को सेमीफाइनल में बेल्जियम के हाथों 2-5 से मिली हार के बावजूद 74 साल के पटनायक आहत नहीं दिखे. पटनायक ने कांस्य पदक के लिये भारतीय खिलाड़ियों का उत्साह बढ़ाते हुए कहा कि अच्छा खेले. विश्व चैंपियन बेल्जियम के खिलाफ टोक्यो 2020 के सेमीफाइनल में कड़ी टक्कर देने के लिए भारतीय पुरुष हॉकी टीम को बधाई. उन्होंने जो हासिल किया है, वो खिलाड़ियों की एक पीढ़ी को प्रेरित करेगा.

खेलों के जरिए विरासत छोड़ने की कोशिश

राजनीति के जानकार भी मानते हैं कि नवीन पटनायक शायद खेलों के माध्यम से एक विरासत छोड़ना चाहते हैं और ओडिशा की छवि को एक ऐसे राज्य के रूप में मिटाना चाहते हैं, जो अपनी गरीबी या प्राकृतिक आपदाओं के लिए जाना जाता है. संयोग से, वह ओडिशा के पहले सीएम थे, जिसने हॉकी खिलाड़ी को राज्यसभा सांसद बनाया था.

दून स्कूल में गोलकीपिंग करते थे नवीन पटनायक

हॉकी से पटनायक का जुड़ाव उनके बचपन के दिनों से है जब वो दून स्कूल में थे और वहां टीम के गोलकीपर या ‘गोली’थे. 2017 में उनकी सरकार ने हॉकी इंडिया लीग का खिताब जीतने वाले कलिंगा लैंसर्स क्लब को भी स्पॉन्सर किया था. अगले साल ओडिशा में हॉकी वर्ल्ड लीग हुई. इसी साल ओडिशा ने एफआईएच मेंस सीरीज के फाइनल और ओलंपिक हॉकी क्वालिफायर की मेजबानी की. वहीं, 2020 में एफआईएच प्रो लीग भी हुई.

ओडिशा का हॉकी से जुड़ाव का यह सिलसिला आगे भी जारी रहेगा. राज्य में 2023 में एफआईएच मेंस हॉकी विश्व कप भी होगा. लगातार 5 बार से ओडिशा के मुख्यमंत्री पटनायक को अंतत: अब राष्ट्रीय खेल के लिये योगदान करने की इच्छा पूरी करने का मौका मिला है, जो 1970 के दशक के अंत में क्रिकेट के लोकप्रिय होने के बाद से हाशिये पर जा रहा था.

Input  : News18

SPORTS

एक दिन आएगा जब पूरी दुनिया की टीमें पाकिस्तान खेलने आएंगी: पाकिस्तान के गृह मंत्री

Published

on

न्यूजीलैंड और इंग्लैंड के सुरक्षा कारणों से पाकिस्तान में खेलने से मना करते ही पाकिस्तानी राजनीति में भूचाल आ गया. पीएम इमरान खान से लेकर गृहमंत्री शेख रशीद और शोएब अख्तर से लेकर रमीज राजा तक, सभी ने इस मुद्दे पर अपनी राय रखी है. गृहमंत्री शेख रशीद ने कुछ समय पहले कहा था कि न्यूजीलैंड की फौज इतनी नहीं होगी जितनी उन्होंने न्यूजीलैंड टीम की सुरक्षा के लिए आर्मी लगा दी थी. अब उन्होंने कहा है कि जिस किसी को लगता है कि न्यूजीलैंड और इंग्लैंड के दौरा रद्द करने से पाकिस्तान अलग-थलग पड़ जाएगा, उनकी बातों में किसी तरह का कोई तर्क नहीं है.

उन्होंने आगे कहा कि जिस दिन न्यूजीलैंड ने पाकिस्तान का दौरा रद्द किया था, मुझे उसी दिन एहसास हो गया था कि इंग्लैंड भी पाकिस्तान का दौरा रद्द करने जा रहा है और इसके तीन दिन बाद ऐसा ही हुआ. क्रिकेट हमारा जुनून है और मुझे यकीन है कि एक दिन ऐसा आएगा जब दुनिया भर की टीमें पाकिस्तान में खेलने के लिए आएंगी. मुझे लगता है कि पूरे मामले को बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया गया है और मैंने सूचना मंत्री को कहा था कि इस मुद्दे को अब खत्म कर देना चाहिए क्योंकि हमारे पास इससे ज्यादा महत्वपूर्ण मुद्दे हैं.

biology-by-tarun-sir

गौरतलब है कि पाकिस्तान अपनी नाकामी का आरोप भारत पर भी लगा रहा है. सूचना मंत्री फवाद चौधरी ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में दावा किया था कि इस सीरीज के रद्द होने के पीछे भारत का हाथ है. उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि भारत से न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम को धमकी भरा ईमेल भेजा गया था, जिसके चलते न्यूजीलैंड ने पाकिस्तान का दौरा रद्द कर दिया. उन्होंने कहा कि यह धमकी भरा मेल भारतीय शख्स ओम प्रकाश मिश्रा ने न्यूजीलैंड के क्रिकेटर मार्टिन गुप्टिल की पत्नी को भेजा था.

भारत फैला रहा पाकिस्तान में आतंकवाद: शेख राशिद

वहीं, शेख रशीद ने भी इस मामले में भारत पर आरोप लगाए हैं. उन्होंने कहा कि भारत अपने जेलों से कई लोगों को जमानत देता है और उन्हें ट्रेनिंग देता है. इसमें कोई दो राय नहीं कि भारत पाकिस्तान में आतंकवाद को प्रमोट कर रहा है. उन्होंने इससे पहले एक इंटरव्यू में ये भी कहा था कि भारत इस मसले में एक बड़ा ही गैर-जिम्मेदाराना रोल अदा करने जा रहा है. भारत ऑस्ट्रेलिया, जापान, अमेरिका की तरह अपने आपको सुपरपावर समझ रहा है और भारत के दिमाग से ये खुमार निकल ही नहीं रहा है. सेर की हड्डियों में हिंदुस्तान डेढ़ सेर बढ़ गया है.

इमरान खान ने भी की पाकिस्तानी टीम से मुलाकात

बता दें कि पाकिस्तान के पीएम और साल 1992 में पाकिस्तान को विश्व कप जिताने वाले इमरान खान ने पाकिस्तानी टीम से मुलाकात की और उनका मनोबल बढ़ाया. एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के मुताबिक, इमरान खान ने प्लेयर्स से कहा कि वह बेहतर प्रदर्शन कर इसका बदला लें. इस मीटिंग में पीसीबी चीफ रमीज राजा भी मौजूद थे. रमीज राजा का कहना था कि वे पहले भारतीय टीम को हराने पर फोकस करते थे लेकिन अब उनका फोकस न्यूजीलैंड और इंग्लैंड पर भी होगा.

Source : Aaj Tak

हेलो! मुजफ्फरपुर नाउ के साथ यूट्यूब पर जुड़े, कोई टैक्स नहीं चुकाना पड़ेगा 😊 लिंक 👏

Continue Reading

SPORTS

इंटरनेशनल बेइज्जती से बौखलाया पाकिस्तान, कहा- न्यूजीलैंड टीम को भारत से भेजी गई थी धमकी

Published

on

पाकिस्तान के सूचना और प्रसारण मंत्री फ़वाद चौधरी ने आरोप लगाया है कि न्यूज़ीलैंड की क्रिकेट टीम को जिस डिवाइस से धमकी भेजी गई थी उसका ताल्लुक भारत से था.

यह बात उन्होंने बुधवार को इस्लामाबाद में एक प्रेस कॉन्फ़्रेंस के दौरान कही.

फ़वाद चौधरी ने कहा कि ‘यह पूरा मामला तब शुरू हुआ जब किसी ने तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) का चरमपंथी एहसुल्लाह एहसान होने का दावा करते हुए एक फ़र्ज़ी पोस्ट किया.’

फ़वाद चौधरी ने कहा कि अगस्त में एहसान के नाम से एक फ़र्जी पोस्ट की गई थी जिसमें कहा गया था कि न्यूज़ीलैंड की सरकार को अपनी टीम पाकिस्तान भेजने से बचना चाहिए क्योंकि वहाँ उन्हें ‘निशाना’ बनाया जाएगा.

उन्होंने कहा कि इस फ़र्ज़ी पोस्ट के बाद भारतीय समाचार वेबसाइट ‘द संडे गार्डियन’ के ब्यूरो चीफ़ अभिनंदन मिश्रा ने एक ख़बर छापी जिसमें दावा किया गया था कि न्यूज़ीलैंड की टीम पर पाकिस्तान में आतंकी हमला हो सकता है.

फ़वाद चौधरी ने कहा, “दिलचस्प बात तो यह है कि अभिनंदन मिश्रा के अफ़ग़ानिस्तान के पूर्व उप राष्ट्रपति अमरुल्ला सालेह के साथ मज़बूत सम्बन्ध हैं.”

मार्टिन गुप्टिल की पत्नी

मार्टिन गुप्टिल की पत्नी

मार्टिन गुप्टिल की पत्नी को मिला था धमकी भरा ईमेल

चौधरी ने बताया कि 24 अगस्त को न्यूज़ीलैंड के ओपनर मार्टिन गुप्टिल की पत्नी को एक धमकी भरा इमेल मिला था.

फ़वाद चौधरी के मुताबिक़, “जब हमने इसकी जाँच की तो पता चला कि यह ईमेल किसी सोशल मीडिया अकाउंट से नहीं जुड़ा है और इस आईडी से भेजा गया यह एकमात्र ईमेल था.”

चौधरी का कहना है कि यह ईमेल प्रोटोनमेल नाम की एक सुरक्षित सर्विस के ज़रिए भेजा गया था.

उन्होंने कहा, “इस ईमेल के बारे में ज़्यादा जानकारी उपलब्ध नहीं है और हमने इंटरपोल से इस बारे में मदद माँगी है.”

न्यूज़ीलैंड की मीडिया ने क्या कहा था?

इससे पहले पाकिस्तान के अख़बारों में न्यूज़ीलैंड की मीडिया के हवाले से ख़बर छपी थी कि पाँच देशों की ख़ुफ़िया एजेंसियों के इनपुट के बाद न्यूज़ीलैंड की सरकार ने क्रिकेट दौरा रद्द करने का फ़ैसला किया.

पाकिस्तान के अख़बार एक्सप्रेस में छपी रिपोर्ट के अनुसार न्यूज़ीलैंड, ऑस्ट्रेलिया, अमेरिका, कनाडा और ब्रिटेन की ख़ुफ़िया एजेंसियों के एक संयुक्त संगठन ने अपनी रिपोर्ट में कहा था कि पाकिस्तान का दौरा कर रही न्यूज़ीलैंड की टीम पर गंभीर ख़तरा है.

biology-by-tarun-sir

न्यूज़ीलैंड की क्रिकेट टीम पाकिस्तान पहुंची लेकिन रावलपिंडी स्टेडियम में मैच शुरू होने के चंद मिनट पहले ही सुरक्षा कारणों का हवाला देकर उन्होंने मैच खेलने से इनकार कर दिया था.

न्यूजीलैंड क्रिकेट (NZC) ने कहा कि पाकिस्तान “बेहतरीन मेज़बान” था लेकिन खिलाड़ियों की सुरक्षा “सर्वोपरि” थी.

न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम 18 साल बाद 11 सितंबर को तीन वनडे और पांच 20-20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने पाकिस्तान पहुंची थी.

पीसीबी प्रमुख

पाकिस्तानी क्रिकेट प्रेमी और पीसीबी हताश

पीसीबी के अनुसार पाकिस्तान के पास सभी आने वाली टीमों के लिए पूरी सुरक्षा व्यवस्था थी और उसने न्यूज़ीलैंड क्रिकेट को भी पूरा आश्वासन दिया था.

पीसीबी ने कहा था कि न्यूजीलैंड की टीम अपने पूरे प्रवास के दौरान सुरक्षा व्यवस्था से संतुष्ट थी लेकिन अंतिम समय में लिए गए उनके फ़ैसले से हताशा हुई है.

न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ एकदिवसीय श्रृंखला रावलपिंडी स्टेडियम में खेली जानी थी, जिसमें 17, 19 और 21 सितंबर को मैच होने थे. जबकि गद्दाफ़ी स्टेडियम में 25 सितंबर से 3 अक्टूबर तक पांच टी-20 मैच होने थे.

न्यूज़ीलैंड के बाद इंग्लैंड ने भी सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए अपनी पुरुष और महिला टीम का अक्टूबर में होने वाला पाकिस्तान दौरा रद्द कर दिया था.

न्यूज़ीलैंड के बाद इंग्लैंड क्रिकेट टीम के पाकिस्तान का दौरा रद्द होने से वहाँ के क्रिकेट खिलाड़ियों, अधिकारियों और क्रिकेट प्रेमियों में काफ़ी मायूसी है.

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के नवनियुक्त चेयरमैन रमीज़ राजा ने इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) के फ़ैसले की आलोचना की थी और कहा था कि पाकिस्तान में सुरक्षा को लेकर बहाना बनाया जा रहा है.

एक वीडियो बयान जारी करके रमीज़ राजा ने कहा थाकि पश्चिमी देशों का गुट इकट्ठा होकर ऐसे फ़ैसले लेता है.

उन्होंने इस पूरे घटनाक्रम पर उन्होंने कहा था कि पाकिस्तान को लेकर इन देशों का नज़रिया नहीं बदला है.

Source : BBC

हेलो! मुजफ्फरपुर नाउ के साथ यूट्यूब पर जुड़े, कोई टैक्स नहीं चुकाना पड़ेगा 😊 लिंक 👏

Continue Reading

SPORTS

BREAKING: पाकिस्तान को बड़ा झटका, न्यूजीलैंड के बाद इंग्लैंड ने भी दौरा रद्द किया

Published

on

पाकिस्तान क्रिकेट को लगातार दूसरा झटका लगा है. इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने पाकिस्तान का दौरा करने से इनकार कर दिया है. यह फैसला ऐसे समय में आया है जब न्यूजीलैंड ने सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए तीन दिन पहले ही पाकिस्तान का दौरा अधूरा छोड़ दिया था. कीवी टीम ने सीरीज शुरू होने के दिन यानी 17 सितंबर को ही हटने का फैसला कर लिया था. इंग्लैंड क्रिकेट टीम को अक्टूबर में दो टी20 मुकाबलों के लिए पाकिस्तान जाना था. यह मैच 13 और 14 अक्टूबर को खेले जाने थे. साथ ही उसकी महिला टीम को भी दौरे पर जाना था. उसे दो टी20 और तीन वनडे खेलने थे. लेकिन अब अंग्रेजों ने पाकिस्तान जाने से मना कर दिया. इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड की तरफ से बयान जारी कर कहा गया कि बोर्ड ने पिछले सप्ताह के आखिर में पाकिस्तान दौरे को लेकर चर्चा की. इसमें यह फैसला किया गया कि पुरुष और महिला दोनों टीमों के दौरे को रद्द किया जाता है.

इंग्लैंड बोर्ड की तरफ से जारी बयान में कहा गया, ‘हमारे खिलाड़ियों और सपोर्ट स्टाफ की मेंटल और फिजिकल सेहत हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है और वर्तमान हालातों में तो यह और भी जरूरी हो जाता है. हमें पता है कि इस इलाके में सफर करने को लेकर लगातार चिंताएं बढ़ रही हैं और हमारा मानना है कि वहां जाने से खिलाड़ियों पर दबाव बढ़ेगा. खिलाड़ी पहले से ही कोरोना नियमों के चलते जूझ रहे हैं. हमारी पुरुष टी20 टीम से जुड़ी एक और दिक्कत है. हमें लगता है कि इन हालातों में दौरा करना आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप की आदर्श तैयारी नहीं रहेगा जो कि 2021 में हमारे लिए प्राथमिकता है.

इंग्लैंड ने जताया दुख

इंग्लैंड ने अपने फैसले के लिए दुख जताया है और अगले साल दौरा करने की बात कही है. बयान में कहा गया है, ‘हम समझते हैं कि इस फैसले से पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को काफी निराशा होगी. वह अपने देश में इंटरनेशनल क्रिकेट की वापसी के लिए लगातार काम कर रहे हैं. पिछली दो गर्मियों में उन्होंने इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट का काफी सहयोग दिया और दोस्ती दिखाई. हम इस फैसले से पड़ने वाले असर के लिए दुखी हैं और 2022 में दौरे के वादे को दोहराते हैं.’

हेलो! मुजफ्फरपुर नाउ के साथ यूट्यूब पर जुड़े, कोई टैक्स नहीं चुकाना पड़ेगा 😊 लिंक 👏

biology-by-tarun-sir

Continue Reading
WORLD9 hours ago

UNGA में पीएम मोदी ने पाकिस्तान और चीन को लताड़ा

BIHAR11 hours ago

त्योहारों पर आना है बिहार, तो लानी होगी 72 घंटे पूर्व की RT-PCR नेगेटिव जांच रिपोर्ट

VIRAL12 hours ago

गुस्से में बॉयफ्रेंड के सिर पर लड़की ने दे मारा मोबाइल फोन, बेहोश होकर गिरा, मौत

MUZAFFARPUR13 hours ago

मुजफ्फरपुर- एन. सी.सी कैडेट्स को दिया गया सेना में शामिल होने का गुरुमंत्र

MUZAFFARPUR14 hours ago

मुजफ्फरपुर में सार्वजनिक स्थानों पर तम्बाकू सेवन करने वालों को पकड़े जाने पर भरना होगा जुर्माना

BIHAR14 hours ago

वीडियो: भोजपुरी रैपर ने दी ‘बादशाह-हनी सिंह’ को टक्कर, मनिहारी गाने में यूं लगाया तड़का

INDIA15 hours ago

दुष्कर्म मामले में लोजपा सांसद प्रिंस राज को मिली अग्रिम जमानत

BIHAR16 hours ago

वीडियो: हमारे देश की अफसर बिटिया स्नेहा दुबे ने पाकिस्तान को दिया मुंहतोड़ जवाब

BIHAR18 hours ago

पंचायत चुनाव: इन चार जिलों में महिलाओं ने पुरुषों को पछाड़ा, ओवरऑल वोटिंग में यह जिला रहा टॉप

BIHAR18 hours ago

जिम ट्रेनर गोलीकांड: सिर्फ विक्रम से नहीं था खुशबू सिंह का याराना, मिहिर पर भी आया था दिल, पटना SSP का खुलासा

INDIA3 weeks ago

सिद्धार्थ शुक्ला पंचतत्व में विलीन, कांपते हाथों से मां ने दी जिगर के टुकड़े को मुखाग्नि

BIHAR6 days ago

बिहार: कागजों में करोड़पति बने 2 लड़कों का अभिनेता सोनू सूद कनेक्शन!

BIHAR24 hours ago

बिहार: पिता की थी छोटी सी खैनी की दुकान, ट्यूशन पढ़ा करते थे पढ़ाई, अब UPSC में पाई दूसरी बार सफलता

MUZAFFARPUR5 days ago

मुजफ्फरपुर : पति की हत्या कर शव केमिकल से गला रही थी पत्नी, चार दिन बाद हो गया ब्लास्ट

BIHAR1 week ago

बिहार : भांजी पर आया मामा का दिल, पत्नी और बेटे को छोड़कर हुआ फरार, दो सालों से चल रहा था प्रेम प्रसंग

BIHAR4 days ago

बिहार के सभी घरों में नजर आएंगे स्मार्ट प्रीपेड मीटर

INDIA2 weeks ago

अगर इन 3 बैंकों में है आपका भी अकाउंट तो 1 अक्टूबर से नहीं चलेगी पुरानी चेकबुक

INDIA2 weeks ago

रिवॉल्वर लेकर वीडियो बनाने वाली लेडी कांस्टेबल को विभाग को देने होंगे 1.82 लाख रुपए

INDIA1 day ago

यू ही नहीं बिहार को कहा जाता आई.ए.एस फैक्ट्री कटिहार का शुभम बना UPSC टॉपर

TRENDING4 weeks ago

शादी के 3 महीने बाद महिला ने दिया बच्चे को जन्म, पति पहुंचा कोर्ट

Trending