Connect with us

SPORTS

कोई कंपनी नहीं, ओडिशा सरकार है हॉकी टीमों की स्पॉन्सर, सोशल मीडिया पर छाए नवीन पटनायक

Published

on

भारतीय महिला हॉकी टीम की बीते सोमवार को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ क्वार्टर फाइनल जीत के कुछ देर बाद 74 साल के नवीन पटनायक  भुवनेश्वर में अपने आधिकारिक ‘नवीन निवास’ के बरामदे में एक बधाई संदेश रिकॉर्ड करने के लिए खड़े थे. काली टी-शर्ट और पायजामा पहने पटनायक ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हमारी महिला हॉकी टीम का खेल कितना शानदार रहा. इससे एक दिन पहले, उन्हें मेंस हॉकी टीम के लिए खड़े होकर ताली बजाते देखा गया था. क्योंकि भारत ग्रेट ब्रिटेन को हराकर 49 साल बाद ओलंपिक के सेमीफाइनल में जो पहुंचा था. इन दो तस्वीरों से यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि नवीन पटनायक के लिए हॉकी के क्या मायने हैं.

सीएम नवीन पटनायक के साथ हॉकी टीम

नवीन पटनायक भले ही ओडिशा के मुख्यमंत्री हैं. लेकिन वो आज भारत में हॉकी के असली ‘नायक’ बनकर उभरे हैं. ऐसा इसलिए क्योंकि 2018 में सहारा भारतीय हॉकी टीमों को प्रायोजित करने से पीछे हट गया, तो ओडिशा सरकार ने ही हॉकी इंडिया के साथ अगले 5 साल हॉकी टीमों को प्रायोजित करने के लिए 100 करोड़ का समझौता किया था. तब उन्होंने इसे ओडिशा की तरफ से देश को एक तोहफा बताते हुए कहा था कि यह खेल राज्य के आदिवासी क्षेत्र, जहां “बच्चे हॉकी स्टिक के साथ चलना सीखते हैं” में जिंदगी जीने का एक तरीका है.

Advertisement

100 करोड़ का करार करने पर हुई थी पटनायक की आलोचना

भारतीय हॉकी को नए शिखर पर पहुंचाने की उनकी कोशिश को अक्सर सोशल मीडिया और इससे इतर सराहा गया है. हालांकि, ओडिशा जैसे गरीब राज्य के लिए 100 करोड़ रुपए हॉकी पर खर्च करने को लेकर उन्हें आलोचनाओं का शिकार भी होना पड़ा है. जब उन्होंने हॉकी इंडिया से करार किया था, तब आलोचकों ने इसे लेकर हैरानी जताई थी कि बार-बार प्राकृतिक आपदाओं का सामना करने वाला यह गरीब राज्य, क्या इस खेल के लिये सरकारी खजाने पर 100 करोड़ रुपये का खर्च वहन कर पाएगा.

Advertisement

ठीक तीन साल बाद, ओडिशा सरकार ने सभी राष्ट्रीय और स्थानीय अखबारों में पूरे पन्ने का विज्ञापन देकर घोषणा की- इस उल्लेखनीय यात्रा में हॉकी इंडिया के साथ भागीदारी करके ओडिशा को गर्व है. गर्व होता भी क्यों न, मौका ही ऐसा था. पुरुष और महिला हॉकी टीमें टोक्यो ओलंपिक के सेमीफाइनल में जो पहुंचीं थीं.

Advertisement

स्पॉन्सरशिप की राशि 100 से बढ़ाकर 150 करोड़ की

मुख्यमंत्री पटनायक ने आलोचकों को माकूल जवाब देते हुए कहा कि खेल में निवेश युवाओं में निवेश है. उन्होंने कहा कि इस मंत्र ने ओडिशा का ध्यान हॉकी पर केंद्रित करवाया, जो एक तरह से जनजातीय आबादी के लिये जीवन जीने का तरीका है. उन्होंने 5 सालों में प्रायोजन राशि को भी बढ़ाकर 150 करोड़ कर दिया है. ओडिशा सरकार ने घोषणा की है कि 38 चैंपियनों ने हॉकी में इतिहास लिखा, 1.3 अरब भारतीय अब सीना तान कर चलते हैं.

Advertisement

Advertisement

ओडिशा आज देश में हॉकी का केंद्र

जैसे ही हॉकी में देश की दावेदारी बढ़ी, पटनायक खुश हो गए और टेलीविजन पर ओलंपिक के क्वार्टरफाइनल मैच को देखते हुए भारतीय टीम का इस्तकबाल भी किया. भारतीय पुरुष हॉकी टीम को सेमीफाइनल में बेल्जियम के हाथों 2-5 से मिली हार के बावजूद 74 साल के पटनायक आहत नहीं दिखे. पटनायक ने कांस्य पदक के लिये भारतीय खिलाड़ियों का उत्साह बढ़ाते हुए कहा कि अच्छा खेले. विश्व चैंपियन बेल्जियम के खिलाफ टोक्यो 2020 के सेमीफाइनल में कड़ी टक्कर देने के लिए भारतीय पुरुष हॉकी टीम को बधाई. उन्होंने जो हासिल किया है, वो खिलाड़ियों की एक पीढ़ी को प्रेरित करेगा.

Advertisement

खेलों के जरिए विरासत छोड़ने की कोशिश

राजनीति के जानकार भी मानते हैं कि नवीन पटनायक शायद खेलों के माध्यम से एक विरासत छोड़ना चाहते हैं और ओडिशा की छवि को एक ऐसे राज्य के रूप में मिटाना चाहते हैं, जो अपनी गरीबी या प्राकृतिक आपदाओं के लिए जाना जाता है. संयोग से, वह ओडिशा के पहले सीएम थे, जिसने हॉकी खिलाड़ी को राज्यसभा सांसद बनाया था.

Advertisement

दून स्कूल में गोलकीपिंग करते थे नवीन पटनायक

हॉकी से पटनायक का जुड़ाव उनके बचपन के दिनों से है जब वो दून स्कूल में थे और वहां टीम के गोलकीपर या ‘गोली’थे. 2017 में उनकी सरकार ने हॉकी इंडिया लीग का खिताब जीतने वाले कलिंगा लैंसर्स क्लब को भी स्पॉन्सर किया था. अगले साल ओडिशा में हॉकी वर्ल्ड लीग हुई. इसी साल ओडिशा ने एफआईएच मेंस सीरीज के फाइनल और ओलंपिक हॉकी क्वालिफायर की मेजबानी की. वहीं, 2020 में एफआईएच प्रो लीग भी हुई.

Advertisement

ओडिशा का हॉकी से जुड़ाव का यह सिलसिला आगे भी जारी रहेगा. राज्य में 2023 में एफआईएच मेंस हॉकी विश्व कप भी होगा. लगातार 5 बार से ओडिशा के मुख्यमंत्री पटनायक को अंतत: अब राष्ट्रीय खेल के लिये योगदान करने की इच्छा पूरी करने का मौका मिला है, जो 1970 के दशक के अंत में क्रिकेट के लोकप्रिय होने के बाद से हाशिये पर जा रहा था.

Input  : News18

Advertisement

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

SPORTS

भारत के खिलाफ जीत के बाद दक्षिण अफ्रीकी खिलाड़ी बोला- ‘जय श्री राम’

Published

on

साउथ अफ्रीकी टीम के लिए साल 2022 का आगाज काफी शानदार रहा है. पहले डीन एल्गर की अगुवाई में अफ्रीकी टीम ने भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज पर 2-1 से कब्जा जमाया. फिर तीन मैचों की ओडीआई सीरीज में टेम्बा बावुमा की टीम ने भारत का सूपड़ा साफ कर दिया था.

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

यादगार जीत दर्ज करने के बाद साउथ अफ्रीकी टीम जश्न में डूबी हुई है. टीम के बाएं हाथ के स्पिनर केशव महाराज ने इंस्टाग्राम पोस्ट के जरिए जीत की खुशी जाहिर की है. पोस्ट के अंत में उन्होंने जय श्रीराम भी लिखा, जिसने भारतीय फैंस का दिल जीत लिया है. साथ ही, महाराज ने साउथ अफ्रीकी टीम की तस्वीरें भी शेयर की हैं.

Advertisement
View this post on Instagram

A post shared by Keshav Maharaj (@keshavmaharaj16)

Advertisement

महाराज ने लिखा, ‘हमारे लिए यह एक बेहतरीन सीरीज रही. मैं इससे ज्यादा इस टीम पर गर्व नहीं कर सकता और हम कितनी दूर तक चल आए हैं.अब फिर से तैयार होने एवं अगली चुनौती को स्वीकार करने का समय है. जय श्रीराम.’

Advertisement

केशव महाराज का वनडे सीरीज में काफी बढ़िया प्रदर्शन रहा. उन्होंने इस सीरीज के तीनों ही मुकाबले‌ में 1-1 विकेट चटकाया. पहले वनडे में उन्होंने शिखर धवन को पवेलियन भेजा था, जिसके बाद टीम इंडिया की पारी लड़खड़ा गई थी. वहीं बाकी दो मुकाबलों में उन्होंने टीम इंडिया के पूर्व कप्तान विराट कोहली को अपना शिकार बनाया है.

nps-builders

केशव महाराज के पूर्वज भारतीय राज्य उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर से ताल्लुक रखते थे. केशव के पिता आत्मानंद महाराज ने एक इंटरव्यू में बताया था कि उनके पूर्वज 1874 के आसपास सुल्तानपुर से डरबन आ गए थे. उस दौर में भारतीय लोग खुशहाल जीवन जीने के लिए काम की तलाश में साउथ अफ्रीका जैसे देशों का रुख कर रहे थे.

Advertisement

Source : Aaj Tak

KRISHNA-HONDA-MUZAFFARPUR

clat

Advertisement
Continue Reading

SPORTS

‘विराट कोहली ने कप्तानी छोड़ी नहीं, उनसे छुड़वाई गई’; पाकिस्तानी दिग्गज का बड़ा बयान

Published

on

विराट कोहली ने हाल ही में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज गंवाने के बाद इस फॉर्मेट की कप्तानी भी छोड़ दी. इससे पहले, उन्होंने सितंबर में टी20 टीम की कप्तानी से हटने का फैसला लिया था. इसके बाद, बीसीसीआई ने दक्षिण अफ्रीका दौरे पर रवाना होने से ठीक पहले उनसे वनडे की कप्तानी छीन ली थी. उनकी जगह रोहित शर्मा को यह जिम्मेदारी सौंपी गई थी. इसके पीछे बोर्ड ने दलील थी कि सेलेक्टर्स व्हाइट बॉल क्रिकेट में एक ही कप्तान चाहते हैं. इसलिए यह फैसला लिया गया.

nps-builders

इसके बाद से ही बीसीसीआई और विराट कोहली के बीच कप्तानी को लेकर विवाद खड़ा हो गया है. अब पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने भी इस विवाद पर बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि कोहली ने कप्तानी छोड़ी नहीं, उनसे छुड़वाई गई.

Advertisement

मस्कट में लीजेंड्स क्रिकेट लीग में एशिया लायंस की तरफ से खेल रहे शोएब अख्तर ने पत्रकारों से बातचीत में कहा, “विराट कोहली ने खुद कप्तानी नहीं छोड़ी है. उन्हें ऐसा करने के लिए मजबूर किया गया है. यह सब जानते हैं. उनके लिए वक्त फिलहाल अच्छा नहीं चल रहा है. लेकिन वो मानसिक तौर पर मजबूत खिलाड़ी हैं. उनकी काबिलियत पर शायद ही किसी को शक होगा. वो महान क्रिकेटर हैं. उनके लिए भी अचानक यह सब होना किसी झटके से कम नहीं है.”

अख्तर ने विराट की बल्लेबाजी की खामी बताई

Advertisement

अख्तर ने विराट कोहली के खराब फॉर्म को लेकर कहा,”वो बॉटम हैंड से ज्यादा खेलते हैं और जब आउट ऑफ फॉर्म होते हैं तो यह परेशानी और ज्यादा दिखती है. लेकिन वो बड़े बल्लेबाज हैं और उन्होंने काफी कुछ हासिल किया है. मुझे विश्वास है कि वो वापसी कर लेंगे. उन्हें अब इस विवाद को भुलाकर सिर्फ बल्लेबाजी पर ध्यान लगाना चाहिए. बड़ा खिलाड़ी ही गिरता है. उनके लिए भी यह मौका है खुद को और बेहतर साबित करने का. उन्हें सारी कड़वाहट भुलाकर आगे बढ़ना चाहिए.”

विराट की कप्तानी में भारत ने सबसे अधिक टेस्ट जीते

Advertisement

बता दें कि विराट कोहली भारत के सबसे सफल टेस्ट कप्तान रहे हैं. उनकी कप्तानी में भारत ने सबसे अधिक 40 टेस्ट जीते. इतना ही नहीं, भारत ने ऑस्ट्रेलिया में लगातार दो सीरीज जीती. वहीं, टेस्ट में भारत 5 साल तक नंबर-1 रहा. विराट की अगुवाई में ही पिछले साल टीम इंडिया विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप का फाइनल भी खेली थी. कोहली की कप्तानी में भारत ने 95 में से 65 यानी 70 फीसदी से ज्यादा वनडे जीते. उनका विनिंग पर्सेंटेज भारत को सबसे अधिक वनडे जीत दिलाने वाले महेंद्र सिंह धोनी (110) से ज्यादा है. धोनी ने भारत को 200 में से 110 वनडे में जीत दिलाई. उनका विनिंग पर्सेंटेज 59.52 रहा.

Source : News18

Advertisement

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

clat

Continue Reading

SPORTS

सचिन तेंदुलकर ने बकाया राशि नहीं मिलने की वजह से रोड सेफ्टी सीरीज में खेलने से साफ कर दिया मना

Published

on

पूर्व भारतीय कप्तान सचिन तेंदुलकर रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज टूर्नामेंट के दूसरे चरण का हिस्सा नहीं होंगे, क्योंकि कई खिलाड़ियों ने पहले सीजन में बकाया राशि की शिकायत की है. इस टूर्नामेंट में संन्यास ले चुके इंटरनेशनल खिलाड़ी हिस्सा लेते हैं. पहले चरण का खिताब जीत चुकी इंडिया लीजेंड्स के लिए खेल चुके तेंदुलकर को भी पहले सीजन के लिए पूरा भुगतान नहीं मिला है और उन्होंने अब इस टूर्नामेंट से खुद को पूरी तरह से अलग करने का फैसला किया है.

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

बांग्लादेश मीडिया में खबरें आई हैं कि देश के कई शीर्ष पूर्व खिलाड़ियों को भी अभी तक पहले सीजन का कोई भुगतान नहीं किया गया है, जिनमें खालिद महमूद, खालिद मसूद, मेहराब हुसैन, राजिन सालेह, हन्नान सरकार और नफीस इकबाल शामिल हैं. सचिन तेंदुलकर टूर्नामेंट के पहले चरण के ब्रांड एंबेसेडर भी थे और सुनील गावस्कर टूर्नामेंट के कमिश्नर थे. इसकी जानकारी रखने वाले एक सूत्र ने पीटीआई से कहा, ‘सचिन रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज के नए सीजन का हिस्सा नहीं होंगे. टूर्नामेंट संयुक्त अरब अमीरात में एक से 19 मार्च तक होना है, लेकिन सचिन किसी भी तरीके से इस टूर्नामेंट में नहीं दिखेंगे.’

Advertisement

Advertisement

clat

सचिन को भी नहीं मिले पूरे पैसे

यह पूछने पर कि क्या आयोजकों द्वारा सचिन तेंदुलकर को भुगतान नहीं किया गया है, तो सूत्र ने इसकी पुष्टि की. सूत्र ने कहा, ‘हां, सचिन उन कई क्रिकेटरों में शामिल हैं, जिन्हें आयोजकों द्वारा भुगतान नहीं किया गया है. अगर कोई जानकारी लेनी है तो रवि गायकवाड़ से संपर्क करना चाहिए जो इसके मुख्य आयोजक थे.’

Advertisement

साल 2020 में हुए टूर्नामेंट के लिए प्रत्येक खिलाड़ी को करार करने के बाद 10 प्रतिशत राशि दी गई थी, जिसके बाद 25 फरवरी 2021 तक 40 प्रतिशत राशि दी जानी थी, जबकि बची हुई 50 प्रतिशत राशि का भुगतान 31 मार्च 2021 तक किया जाना था. टूर्नामेंट का फाइनल रायपुर में खेला गया था.

Advertisement
Continue Reading
INDIA3 hours ago

सास बनी मिसाल: बेटे की मौत के बाद बहू को पढ़ाकर बनाया लेक्चरर, करवाई दूसरी शादी

SPORTS3 hours ago

भारत के खिलाफ जीत के बाद दक्षिण अफ्रीकी खिलाड़ी बोला- ‘जय श्री राम’

BIHAR3 hours ago

बिहार बोर्ड ने छात्रों को दी बड़ी राहत, अब जूते-मोजे पहनकर दे सकेंगे परीक्षा

BIHAR4 hours ago

RRB-NTPC परीक्षा के रिजल्ट से नाराज अभ्यर्थियों का पटना और आरा के स्टेशनों पर प्रदर्शन, ट्रेन सेवा बाधित

BIHAR8 hours ago

पटना की किन्नर पर फिदा हुआ सुपौल का आशिक,पहले ऐश किया फिर पैसों के लिए कर दी हत्या

INDIA10 hours ago

अखिलेश पर संबित पात्रा का तंज, कहा- अखिलेश यादव का बस चलता तो याकूब मेनन को भी टिकट देते

INDIA12 hours ago

बिना इजाजत पत्नी ने खरीदा स्मार्टफोन, गुस्साए पति ने दी मर्डर की सुपारी

BIHAR13 hours ago

बिहार के मंत्री पुत्र की बढ़ी मुश्किलें, भीड़ से पिटने के बाद अब पुलिस ने भी दर्ज किया FIR

BIHAR13 hours ago

बिहार के इस महिला DM ने किया ऐसा काम कि PM नरेंद्र मोदी भी हुए फैन

INDIA14 hours ago

यूपी विधानसभा चुनाव से पहले अयोध्या में षड्यंत्र, रेलवे पुल के छह बोल्ट गायब; बड़ा हादसा टला

BIHAR2 weeks ago

रेल हादसाः बिहार के कई स्टेशनों से चढ़े थे यात्री, रेलवे ने जारी किया हेल्पलाइन नंबर

BIHAR3 weeks ago

राजेंद्र नगर-नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस का बदल जाएगा रूट!

JOBS1 week ago

गेटमैन के पदों पर भर्ती कर रहा इंडियन रेलवे, 10वीं पास भी कर सकते हैं आवेदन

BIHAR2 weeks ago

आज से 17 तारीख तक आधा दर्जन ट्रेनें रद्द, कई गाड़ियों के रूट भी बदले गए

BIHAR3 weeks ago

बिहार में बनेंगे जलमार्ग, सड़कमार्ग और रेलमार्ग के जंक्शन

BIHAR2 weeks ago

बिहार में एक स्‍कूल के हेडमास्‍टर का अनूठा प्रयास, अब ‘हवाई जहाज’ में पढ़ रहे यहां के छात्र

BIHAR4 weeks ago

तूफान की तरह मात्र 11 सेकेंड में 341 मीटर लंबी सुरंग पार कर गई ट्रेन

BIHAR3 weeks ago

3300 करोड़ में बनेंगी 2 फोरलेन सड़कें, पटना से फटाफट पहुंच सकेंगे गया और बक्‍सर

BIHAR3 weeks ago

“एक गजेरी चिलम पीकर” गाने वाली गायिका बदहाली में कर रही गुजर- बसर

BIHAR4 weeks ago

बिहार में अजब प्यार की गजब कहानी, पति ने पत्नी की उसके बॉयफ्रेंड से करवाई शादी

Trending