Connect with us

ASTROLOGY

खरमास खत्म, अब शादियां ही शादियां, जाने कब-कब है शुभ मुहूर्त

Published

on

खरमास समाप्त होने के साथ ही इसी महीने से शहनाइयों की धुन सुनाई देने लगेगी। जनवरी महीने में छह और फरवरी में शादी के 11 शुभ मुहूर्त हैं। शहर के ज्योतिष पं.प्रभात मिश्र व आचार्य पं.दिलीप मिश्र ने हृषिकेश पंचांग का हवाला देते हुए बताया कि जनवरी से लेकर फरवरी तक विवाह के कुल 17 मुहूर्त हैं। 19 फरवरी के बाद फरवरी व मार्च में विवाह के शुभ मुहूर्त नहीं हैं। वहीं 2022 में दिसंबर तक कुल 83 वैवाहिक मुहूर्त हैं। 10 जुलाई को देवशयनी एकादशी मनाई जाएगी। इसी के साथ चातुर्मास प्रारंभ हो जाएगा। इसके कारण शादी-विवाह समेत मांगलिक कार्याें पर विराम लग जाएगा। चार नवम्बर को देवोत्थान एकादशी मनाई जाएगी। इस दिन से विवाहादि मांगलिक कार्य प्रारंभ हो जाएंगे।

22 से बजेगी शहनाई

Advertisement

पं.प्रभात मिश्र बताते हैं मकर संक्रांति से सूर्य उत्तरायण होते हैं। उत्तरायण देवताओं का दिन है। मान्यताओं के अनुसार उत्तरायण में मृत्यु होने से मोक्ष प्राप्ति की संभावना रहती है। दिसंबर से जनवरी तक का एक महीना का समय खरमास होता है और खरमास में मांगलिक काम करने की मनाही होती है, लेकिन मकर संक्रांति के साथ ही शादी-ब्याह, मुंडन, जनेऊ और नामकरण जैसे शुभ काम की शुरुआत हो जाती है। धार्मिक महत्व के साथ ही इस पर्व को लोग प्रकृति से जोड़कर भी देखते हैं जहां रोशनी और ऊर्जा देने वाले भगवान सूर्य देवता की पूजा की जाती है। मकर संक्रांति के शुभ अवसर पर विष्णु भगवान की पूजा का भी विधान है। शास्त्रों और पुराणों में कहा गया है कि माघ मास में नित्य तिल से भगवान विष्णु की पूजा करने वाला पाप मुक्त होकर मोक्ष को प्राप्त करता है।जनवरी में 22, 23 और 24 को शादी के लिए शुभ मुहूर्त है। वहीं फरवरी महीने में चार से 19 तक आधा दर्जन से अधिक शुभ मुहूर्त हैं।

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

जनवरी – 19, 21, 22, 25, 28, 29

Advertisement

फरवरी- 4, 5, 6, 9, 10, 11, 12, 16, 17, 18, 19

अप्रैल-15, 16, 17, 19, 20, 21, 22, 23, 27

Advertisement

मई – 2, 3, 7, 9, 10, 11, 12, 13, 14, 16, 17, 19, 20, 21, 22, 23, 24, 25, 26, 31

जून- 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, 12, 13, 14, 15, 16, 17, 21, 22, 23

Advertisement

जुलाई- 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9

नवंबर- 24, 25, 26, 27, 28

Advertisement

दिसंबर- 2, 3, 4, 7, 8, 9, 13, 14, 15

Source : Dainik Jagran

Advertisement

clat

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ASTROLOGY

इस बार होली पर इन राशियों की चमकेगी किस्मत, मिलेगी बड़ी सफलता

Published

on

होलिका दहन 17 मार्च को किया जाएगा और एक दिन बाद यानी 18 मार्च को रंगों की होली खेली जाएगी. होली के रंगों का हमारे जीवन से सीधा संबंध बताया जाता है, क्योंकि इनका सीधा असर राशि पर होता है. ज्योतिषी प्रवीण मिश्र ने सितारों के मुताबिक बताया कि होली के अवसर पर किस राशि के लोग किस रंग से होली खेलें, कौन-सा रंग शुभ रहेगा, होली के द‍िन को बेहतर बनाने के ल‍िए क्या करें? अगर भी होली पर अपने दिन को शुभ बनाना चाहते हैं, तो राशि के मुताबिक जानें कि आपका दिन कैसा रहेगा.

मेष (Aries Holi rashifal 2022)

Advertisement

ज्योतिषी प्रवीण मिश्र बताते हैं कि मेष राशि वालों को होली पर परिवार से मतभेद सुलझाने का मौका मिलेगा. आगे बढ़कर बात करनी चाहिए. ऊर्जावान होकर फिर से काम करें. अच्छी सफलता मिलेगी. इस होली पर मेष राशि वाले लाल रंग के चंदन भगवान को लगाएं और लाल रंग के रंग-गुलाल से होली खेलें.

वृषभ (Tauras)

Advertisement

वृषभ राशि वाले अहंकार को छोड़कर आगे बढ़ें. होली का त्योहार आगे बढ़ने के अवसर दे रहा है, नेगेटिव बातों पर ध्यान न दें. काम पर फोकस रखें. सितारे आगे बढ़ने के संकेत दे रहे हैं. होली पर वृषभ राशि वाले गुलाबी चंदन अपने ईष्ट भगवान को लगाएं और गुलाबी रंग से होली खेलें.

nps-builders

मिथुन (Gemini)

Advertisement

मिथुन राशि वाले जो संभव हो उसे पाने की कोशिश करें. यानी कि सपने सिर्फ वे ही देखें, जिन्हें पाने के लिए आप मेहनत कर पाएं. होली पर धैर्य रखें. होली पर मिथुन राशि वाले हरे रंग अपने ईष्ट भगवान को लगाएं और हरे रंग से होली खेलें.

prashant-honda-muzaffarpur

कर्क (Cancer)

Advertisement

कर्क राशि वाले अपने काम में तकनीक का प्रयोग करेंगे तो आपको अच्छी सफलता मिलेगी. सोच समझकर फैसला लें. जल्दबाजी में काम न करें. समय अच्छा है, होली के बाद सफलता मिल सकती है. होली पर कर्क राशि वाले सफेद रंग अपने ईष्ट भगवान को लगाएं और सफेद रंग से होली खेलें.

सिंह (Leo)

Advertisement

सिंह राशि वाले अपनी मन की सुनकर काम करें. समय का सदुपयोग करें. सफलता मिलेगी. होली के बाद नए काम शुरू करें. सफलता मिलेगी. होली पर सिंह राशि वाले पीले रंग अपने ईष्ट भगवान को लगाएं और पीले रंग से होली खेलें.

कन्या (Virgo)

Advertisement

कन्या राशि वाले अपने स्वास्थ्य के लिए जागरुक रहें. खान-पान पर ध्यान दें. आने वाले समय में रुके हुए काम बनेंगे. होली पर कन्या राशि वाले हरे रंग अपने ईष्ट भगवान को लगाएं और हरे रंग से होली खेलें.

तुला (Libra)

Advertisement

तुला राशि वालों के सरकारी काम बनेंगे. आपके आसपास के लोगों से संबंध सुधरेंगे. होली पर परिवार वालों से कुछ कहना चाहते हैं, तो कह दें, बात बन जाएगी. होली पर तुला राशि वाले गुलाबी रंग अपने ईष्ट भगवान को लगाएं और गुलाबी रंग से होली खेलें.

वृश्चिक (Scorpio)

Advertisement

वृश्चिक राशि वालों को अपने प्रयास और बढ़ाने होंगे. पॉजिटिव सोच के साथ आगे बढ़ें. होली के त्योहार पर मिलेगी सफलता. होली पर वृश्चिक राशि वाले लाल रंग अपने ईष्ट भगवान को लगाएं और लाल रंग से होली खेलें.

धनु (Sagittarius)

Advertisement

धनु राशि वालों का सबसे बड़ा शत्रु आलस्य होता है इसलिए उन्हें अपने आलस्य को छोड़कर काम करने होंगे. अधिक फुर्ती और अधिक मेहनत करने की जरूरत है. पूरे उत्साह के साथ आगे बढ़ें. होली पर धनु राशि वाले पीले रंग अपने ईष्ट भगवान को लगाएं और पीले रंग से होली खेलें.

मकर (Capricorn)

Advertisement

मकर राशि वाले अकेलापन दूर करने की कोशिश करें. पसंदीदा व्यंजन खाएं. सबकुछ अच्छा होगा. होली पर मकर राशि वाले सफेद रंग का गुलाल अपने ईष्ट भगवान को लगाएं और आसमानी रंग से होली खेलें.

कुंभ (Aquarius)

Advertisement

कुंभ राशि वालों को दोस्तों से मिलेगी मदद. नया काम शुरू करने के लिए अच्छा समय है, परिवार वालों से संबंध सुलझेंगे. होली पर कुंभ राशि वाले सफेद रंग का गुलाल अपने ईष्ट भगवान को लगाएं और आसमानी रंग से होली खेलें.

मीन (Pisces)

Advertisement

मीन राशि वालों के दोस्त आपकी बातचीत से नाराज हो सकते हैं, इसलिए बातों पर संयम रखें और सोच समझकर बोलें. नया काम शुरू करने के लिए होली के बाद का समय अच्छा है. होली पर मीन राशि वाले पीला रंग अपने ईष्ट भगवान को लगाएं और पीले रंग से होली खेलें.

Source : Aaj Tak

Advertisement

clat

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

Continue Reading

ASTROLOGY

महालक्ष्मी व्रत प्रारंभ: जानें महत्व, पूजन विधि और व्रत कथा

Published

on

‘महा लक्ष्मी आली घरात सोन्याच्या पायानी, भरभराटी घेऊन आली’ 

भक्ति से भरी इन पंक्तियों के साथ आज महाराष्ट्रियन समाज के लाखों घरों में मां लक्ष्मी की पूजा होगी। भाद्रपद शुक्ल अष्टमी से हर वर्ष महाराष्ट्रियन परिवारों में महालक्ष्मी उत्सव का आरंभ होता है, जो अंग्रेजी कैलेंडर के हिसाब से आज यानी 25 अगस्त, मंगलवार को है। देश के कई हिस्सों में लोग अपनी-अपनी मान्यता के मुताबिक हर्षोल्लास से इस त्योहार को मनाते हैं। कई जगहों पर यह महालक्ष्मी पर्व तीन दिन चलता है तो कई जगह 16 दिन।

Advertisement

एस्ट्रोसेज वार्ता से दुनियाभर के विद्वान ज्योतिषियों से करें फ़ोन पर बात! 

जो लोग 16 दिन का व्रत रखते हैं, वो आखिरी दिन उद्यापन करते हैं। जो लोग 16 दिन का व्रत नहीं रख पाते, वो केवल तीन दिन व्रत रख सकते हैं। इसमें पहले, 8वें और 16वें दिन ये व्रत किया जा सकता है। ध्यान रहे कि इस व्रत में अन्न ग्रहण नहीं किया जाता। हालांकि, दूध, फल, मीठे का सेवन किया जा सकता है।

Advertisement

इस वर्ष महालक्ष्मी पर्व 25 अगस्त यानी आज से शुरु हो रहा है और आश्विन कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि तक चलेगा। शास्त्रों की मानें तो यह बहुत महत्वपूर्ण व्रत है। इस व्रत को रखने से मां लक्ष्मी सभी मनोकामनाएं पूरी अवश्य करती हैं और इंसान के जीवन में चली आ रही हर प्रकार की समस्याओं का अंत होता है। 

साल 2020 में महालक्ष्मी व्रत

महालक्ष्मी व्रत आरंभ शुक्ल अष्टमी, भाद्रपद मास 25 अगस्त 2020, मंगलवार
महालक्ष्मी व्रत समाप्ति कृष्ण अष्टमी, अश्विन मास 10 सितंबर 2020, गुरुवार
  • अष्टमी तिथि प्रारंभ : 12 बज-कर 23 मिनट 36 सेकंड – 25 अगस्त 2020 (मंगलवार)
  • अष्टमी तिथि समाप्त : 10 बज-कर 41 मिनट 20 सेकंड – 26 अगस्त 2020 (बुधवार)

जीवन में कोई भी दुविधा है तो उसका हल जानने के लिए ज्योतिषियों से प्रश्न पूछें 

महालक्ष्मी व्रत विधि

  • माता महालक्ष्मी के व्रत के दिन आपको उठते ही कुछ देर माता का ध्यान करना चाहिये। इसके बाद आपको स्नान आदि से निवृत होकर अपने घर और पूजा स्थल को भी साफ करना चाहिये।
  • इसके बाद महालक्ष्मी व्रत का संकल्प लेना चाहिये और माता से प्रार्थना करनी चाहिये कि, ‘मेरा यह व्रत सफल हो औऱ इसमें कोई विघ्न न आए।’
  • व्रत के संकल्प के लिए इस मंत्र का उच्चारण किया जा सकता है,

करिष्यहं महालक्ष्मि व्रतमें त्वत्परायणा। तदविघ्नेन में यातु समप्तिं स्वत्प्रसादत:।।

  • इस मंत्र का अर्थ है कि, ‘हे देवी मैं पूरी मनोयोग से आपके इस महा-व्रत का पालन करुंगा या करुंगी। मेरा ये व्रत बिना किसी बाधा के पूर्ण हो।’
  • यदि आपने सोलह दिनों या तीन दिनों का महालक्ष्मी व्रत लिया है तो हर दिन सुबह शाम आपको माता की पूजा करनी चाहिये।
  • व्रत के सोलह दिनों तक घर की साफ सफाई का विशेष ध्यान रखें।
  • सोलहवें दिन जब व्रत पूरा हो जाए तो उस दिन लाल रंग के वस्त्र से एक मंडप बनाकर उसमें मॉं लक्ष्मी की प्रतिमा रखनी चाहिये।
  • माता के पूजन के लिये फल, फूल, मिठाई, मेवा, कुमकुम आदि पूजा स्थल पर रखें।
  • पूजा के दौरान माता को 16 बार सूत चढ़ाई जानी चाहिये और नीचे दिये गये मंत्र का उच्चारण करना चाहिये। इस मंत्र का सारांश यह है कि, ‘हे माता लक्ष्मी आप मेरे द्वारा लिये गये इस व्रत से संतुष्ट हों।’

क्षीरोदार्णवसम्भूता लक्ष्मीश्चन्द्र सहोदरा। व्रतोनानेत सन्तुष्टा भवताद्विष्णुबल्लभा।।

  • इसके बाद माता लक्ष्मी को पंचामृत से स्नान करवाएं और षोडशोपचार पूजा करें। यदि आपकी सामर्थ्य है तो इस दिन आपको चार ब्राह्माणों को भोजन अवश्य करवाना चाहिये।
  • महालक्ष्मी के व्रत के दिन एक बात का ध्यान ज़रूर रखना चाहिये कि आप फल, दूध और मिठाई के अलावा कुछ भी न खाएं।

बृहत् कुंडली : जानें विवाह, आर्थिक, स्वास्थ्य, संतान, प्रॉपर्टी और परिवार से जुड़े शुभ समय 

महालक्ष्मी व्रत कथा

महालक्ष्मी व्रत से जुड़ी एक कथा हमारे पुराणों में मिलती है। इस कथा के अनुसार एक गांव में एक गरीब ब्राह्मण निवास करता था, जो भगवान विष्णु का भक्त था। एक बार उसकी भक्ति से प्रसन्न होकर भगवान विष्णु ने उसे दर्शन दिये और उससे वरदान मांगने को कहा। भगवान की बात को सुनने के बाद ब्राह्मण ने लक्ष्मी जी का निवास घर में होने की कामना रखी। ब्राह्मण की इच्छा को सुनने के बाद विष्णु भगवान ने कहा कि, तुम्हारे गांव के मंदिर के पास एक महिला उपले थापती है। वही देवी लक्ष्मी हैं उस स्त्री यानि देवी लक्ष्मी को अपने घर आने का आमंत्रण दो।

Advertisement

कौन सा करियर दिलाएगा जीवन में सफलता? कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट से जानें जवाब 

भगवान विष्णु के बताये अनुसार उस ब्राह्मण ने वैसा ही किया। वह उपले थापने वाली स्त्री यानि देवी लक्ष्मी के पास गया और उन्हें घर आने का निमंत्रण दिया। उसकी बातों को सुनकर देवी लक्ष्मी समझ गयीं कि यह काम भगवान विष्णु का है। इसके बाद उन्होंने ब्राह्मण से कहा कि तुम 16 दिनों तक महालक्ष्मी का व्रत रखो और 16 वें दिन रात के समय चंद्रमा को अर्घ्य दो। ऐसा करने से तुम्हारी मनोकामना पूरी होगी। ब्राह्मण ने देवी की बातों को सुनकर विधि-विधान से महालक्ष्मी का व्रत रखा और 16वें दिन लक्ष्मी जी ने अपना वचन निभाया। तब से महालक्ष्मी का व्रत भारत के लोगों द्वारा रखा जाने लगा।

Advertisement
Continue Reading

ASTROLOGY

होली पर मकर राशि में शनि और गुरु धनु राशि में, इन 5 राशियों को मिलेगा किस्मत का साथ

Published

on

इस बार ग्रहों की अच्छी स्थिति के कारण होली पर बहत फलदायी और शुभ संयोग बन रहे हैं। ग्रहों की ये स्थिति सालों बाद बन रही है। ग्रहों की इस स्थिति के कारण सभी राशियों पर भी इसका प्रभाव पड़ेगा। आपको बता दें कि सन 1521 के बाद इस वर्ष होली पर 9 मार्च को मकर राशि में शनि ग्रह और गुरु अपनी धनु राशि में रहेंगे। जिसके चलते होली पर शुभ संयोग रहेगा। इससे पूर्व 3 मार्च 1521 यानि 499 वर्ष पहले होली के दिन दोनों ग्रहों के अपनी-अपनी राशियों में होने के कारण ऐसा संयोग बना था।कहा जा रहा है कि होली पर इन 6 राशिवालों को किस्मत का साथ मिलने वाला है।

Image result for राशि

यहां जाने होली पर आपकी राशि पर क्या प्रभाव पड़ेगा और होली पर आपको क्या उपाय करने चाहिए:

Advertisement

मेष राशि: होली पर मेष राशि के लोगों के लिए अच्छा समय है। इस राशि के लोगों की धन की स्थिति अच्छी रहेगी, नौकरीपेशा लोगों को फायदा होगा और बिजनेस वाले लोगों के लिए निवेश में अच्छा समय है। बुजुर्गों का सम्मान करना होगा और दान में खाने की चीजें और लाल कपड़ा देना होगा।

वृषभ राशि के लोगों के लिए भी अच्छा समय है। इस राशि के लोगों के पीछे किए गए अच्छे कार्य आपको इस समय लाभ कराएंगे। इस राशि के लोगों को अपने बड़ों की सलाह माननी चाहिए और गर्म कपड़े गरीबों को दान करने चाहिए।

Advertisement

मिथुन राशि के लोगों के लिए भी अच्छा समय है। इस राशि के लोगों को अधिकारियों से अच्छा फायदा होगा। आपकी किस्मत आपके साथ है। इस राशि के लोग केसर का दान करें।

कन्या राशि के लोगों के लिए भी होली शुभ समाचार लेकर आ रही है। इस राशि के लोगों के साथ किस्मत का साथ बना हुआ है। घर से अच्छा समाचार मिलेगा। इस राशि के लोगों को अनाज का दान करना होगा।

Advertisement

धनु राशि के लोगों के लिए होली पर शुभ संयोग अच्छा समय लेकर आ रहा है। इस राशि के लोगों को परिवार की तरफ से लाभ मिलने की संभावना है। इस राशि के लोग चावल का दान करें।

Advertisement
Continue Reading
BIHAR1 hour ago

बिहार: KGF की तरह सोना उगलेगी देश की सबसे बड़ी खदान! खुदाई की तैयारी में सरकार

HEALTH8 hours ago

करी पत्ते को सुबह खाना पलट सकता है शरीर की काया

INDIA12 hours ago

दोगुने हुए 500 रुपये के नकली नोट, ₹2000 के जाली नोट 50 फीसदी से ज्यादा बढ़े

INDIA13 hours ago

“जहां कार बेचने की इजाजत नहीं, वहां प्लांट भी नहीं”, भारत में टेस्ला कार उत्पादन पर बोले एलन मस्क

BOLLYWOOD15 hours ago

सोनू सूद ने बताई साउथ इंडस्ट्री में ज्यादा काम काम करने की वजह, बोले- ‘खराब हिंदी फिल्में करने से बचाती है’

BIHAR18 hours ago

बिहार की बेटी सीमा को मिला दूसरा पैर, अब दोनों पैरों से दुनिया जीतेगी

BIHAR18 hours ago

बिहार : बेटियों के साथ गलत हरकतें करता था पिता, शिकायत के बाद हुई जेल

MUZAFFARPUR20 hours ago

गायघाट में किसानों के बीच धान बीज का किया गया वितरण

MUZAFFARPUR21 hours ago

गायघाट पुलिस ने शराब और मिलावटी ताड़ी के साथ 9 लोगों को किया गिरफ्तार

BIHAR21 hours ago

सदर अस्पताल में पति की मदद के लिए गिड़गिड़ाती रही पत्नी, नहीं पसीजा किसी का दिल

BIHAR4 weeks ago

बिहार में अनोखी शादी: 36 इंच का दूल्हा, 34 इंच की दुल्हन…इस शादी में बिन बुलाए पहुंच गए हजारों लोग

BIHAR3 weeks ago

बिहार : शादी के 42 साल बाद अपनी दुल्हन लेने पहुंचा दूल्हा, 8 बेटी-बेटे भी बने ‘बाराती’

VIRAL3 weeks ago

तस्वीर ने आंखों को किया नम, इस मां को हर कोई कर रहा है सलाम

MUZAFFARPUR4 weeks ago

मुजफ्फरपुर के तीन प्रखंडों से होकर गुजरेगा रिंग रोड

BIHAR2 weeks ago

पटना एनआईटी पासआउट गौरव आनंद निकला बीपीएससी पेपर लीक का मास्टरमाइंड, पटना में बना रखा था कंट्रोल रूम

MUZAFFARPUR4 days ago

मुजफ्फरपुर : तीन नई सड़कें चौड़ी होंगी, रामदयालु से मधौल तक सड़क दो लेन की बनेगी

BIHAR3 weeks ago

बिहार : ड्राइवर की नौकरी करने वाला शख्‍स रातोंरात बना करोड़पति, Dream-11 में ₹59 लगाकर जीते ₹2 करोड़

BIHAR3 weeks ago

समस्तीपुर : पापा रोज मेरे साथ करते हैं गंदी हरकतें, मां से कहती तो मुझे ही दोषी बताती… बेटी ने बताई टीचर पिता की दरिंदगी

MUZAFFARPUR3 days ago

दुनिया की ताकतवर महिलाओं में शामिल हुई मुजफ्फरपुर की बेटी रेणु पासवान

BIHAR1 week ago

बिहार के स्कूलों में गर्मी की छुट्टी घोषित, 23 दिनों तक बंद रहेंगे सभी प्राइवेट व सरकारी स्कूल

Trending