Connect with us

Uncategorized

देवी उपासना का पर्व चैत्र नवरात्र कल से शुरू

Published

on

देवी आराधना का पर्व नवरात्र शनिवार से शुरू होगा। उस दिन कलश स्थापना के साथ ही माता के प्रथम रूप मां शैलपुत्री की पूजा होगी। इसी के साथ नवसंवत्सर भी शुरू होगा।

हरिसभा चौक स्थित राधाकृष्ण मंदिर के पुजारी पं.रवि झा व रामदयालु स्थित मां मनोकामना देवी मंदिर के पुजारी पं.रमेश मिश्र बताते हैं कि इस बार वैधृति योग में कलश स्थापना होगा। दिन में करीब साढ़े ग्यारह से साढ़े बारह बजे के बीच अभिजीत मुहूर्त में कलश की स्थापना किया जाना बड़ा ही शुभ माना जा रहा है।

वासंतिक नवरात्र का बड़ा ही धार्मिक महत्व है। इसमें भक्तगण अपने अभीष्ट की सिद्धि के लिए आदिशक्ति मां भगवती के नौ स्वरुपों का पूजन कर उपासना करेंगे। आठ दिनों का नवरात्र होने से शक्ति उपासना के लिए यह बहुत शुभ माना जा रहा है। इधर, पूजा को लेकर साधकों ने तैयारी शुरू कर दी है। पूजन सामग्री की खरीदारी के लिए बाजार में काफी गहमागहमी देखी जा रही है।

कलश स्थापना की विधि

– कलश स्थापना के लिए सबसे पहले पूजा स्थल को अच्छी तरह से शुद्ध कर लेना चाहिए।
– फिर एक लकड़ी के पटरे पर लाल कपड़ा बिछाकर उसपर गणेश भगवान को याद करते हुए थोड़ा चावल रख देना चाहिए।

– भगवान शंकर, विष्णु, वरुण देवता और नवग्रह देवता का ध्यान करें।

– आह्वान के बाद मां दुर्गा की स्तुति करें। यदि मंत्र याद नहीं तो दुर्गा चालीसा पढ़ें। यदि वह भी याद नहीं हो तो ‘ऊं दुर्गायै नम:Ó का जप करें।

– ध्यान रहे कि कलश स्थापना के समय पूरा परिवार मौजूद रहे।

– कलश रखने की जगह पर करीब एक फीट की गोलाई में मिट्टी बिछाकर उसमें जौ बो देना चाहिए। पानी के छींटे मारने के बाद मां की स्तुति करते हुए मिट्टी के बीचोंबीच कलश रख दें।

– कलश पर रोली से स्वास्तिक और बनाकर कलश के मुख पर रक्षासूत्र बांध दें।

– अंत में दीपक जलाकर कलश की पूजा करेंं।

– प्रतिदिन कलश की पूजा और आरती करें।

पूजन सामग्री

मिट्टी के पात्र, करीब 250 ग्राम जौ, शुद्ध साफ की हुई मिट्टी, शुद्ध जल से भरा मिट्टी का कलश (सोने, चांदी, तांबे या पीतल का कलश भी ले सकते हैं), मौली, आम का पल्लव, कलश के ऊपर रखने के लिए मिट्टी का बरतन, साबूत चावल, एक पानी वाला नारियल, सुपारी, कलश में रखने के लिए सिक्के, लाल कपड़ा या चुनरी, मिठाई, लाल अरहुल के फूल व फूलों की माला, पीला सरसों, काला तिल, 6 लौंग, पान आदि।

Input : Dainik Jagran

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Uncategorized

श्री महाकालेश्वर मंदिर: उज्जैन में स्थित इस ज्योतिर्लिंग के बारे में जान लें ये खास बातें

Published

on

श्री महाकालेश्वर मंदिर (Shri Mahakaleswar Temple) भारत के बारह ज्योतिर्लिंगों (Jyotirlinga) में से एक है. यह मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के उज्जैन (Ujjain) नगर में स्थित है. यह महाकालेश्वर भगवान (भगवान शिव) का प्रमुख मंदिर है. पुराणों, महाभारत और कालिदास जैसे महाकवियों की रचनाओं में इस मंदिर का अद्भुत वर्णन मिलता है. स्वयंभू, भव्य और दक्षिणमुखी होने के कारण महाकालेश्वर महादेव की अत्यन्त पुण्यदायी महत्ता है. ऐसी मान्यता है कि इसके दर्शन मात्र से ही मोक्ष की प्राप्ति हो जाती है. महाकवि कालिदास (kalidas) ने मेघदूत Meghdoot) में उज्जयिनी की चर्चा करते हुए इस मंदिर की प्रशंसा की है. 1235 ई. में इल्तुत्मिश के द्वारा इस प्राचीन मंदिर का विध्वंस किए जाने के बाद से यहां जो भी शासक रहे, उन्होंने इस मंदिर के जीर्णोद्धार और सौन्दर्यीकरण की ओर विशेष ध्यान दिया, इसीलिए मंदिर अपने वर्तमान स्वरूप को प्राप्त कर सका है. प्रतिवर्ष और सिंहस्थ के पूर्व इस मंदिर को सुसज्जित किया जाता है.

Harsiddhi Mata Temple | Ujjain | Madhya Pradesh - Explorations ...

इसके बारे में इतिहास से पता चलता है कि उज्जैन में सन् 1107 से 1728 ई. तक यवनों का शासन था. इनके शासनकाल में अवंति की लगभग 4500 वर्षों में स्थापित हिन्दुओं की प्राचीन धार्मिक परंपराएं नष्ट हो चुकी थीं लेकिन 1690 ई. में मराठों ने मालवा क्षेत्र में आक्रमण कर दिया और 29 नवंबर 1728 को मराठा शासकों ने मालवा क्षेत्र में अपना अधिपत्य स्थापित कर लिया.

इसके बाद उज्जैन का खोया हुआ गौरव दोबारा लौटा और सन 1731 से 1809 तक यह नगरी मालवा की राजधानी बनी रही. मराठों के शासनकाल में यहां दो महत्त्वपूर्ण घटनाएं घटीं- पहला, महाकालेश्वर मंदिर का पुनर्निर्माण और ज्योतिर्लिंग की पुनर्प्रतिष्ठा तथा सिंहस्थ पर्व स्नान की स्थापना, जो एक बहुत बड़ी उपलब्धि थी. आगे चलकर राजा भोज ने इस मंदिर का विस्तार कराया.

मंदिर एक परकोटे के भीतर स्थित है. गर्भगृह तक पहुंचने के लिए एक सीढ़ीदार रास्ता है. इसके ठीक उपर एक दूसरा कक्ष है जिसमें ओंकारेश्वर शिवलिंग स्थापित है. महाशिवरात्रि और श्रावण मास में हर सोमवार को इस मंदिर में अपार भीड़ होती है. हालांकि लॉकडाउन के चलते अभी मंदिर भक्तों के लिए बंद है.

Ujjain: Officials take stock of arrangements ahead of Mahashivratri

मंदिर से लगा एक छोटा-सा जलस्रोत है जिसे कोटितीर्थ कहा जाता है. ऐसी मान्यता है कि इल्तुत्मिश ने जब मंदिर को तुड़वाया तो शिवलिंग को इसी कोटितीर्थ में फिकवा दिया था. बाद में इसकी पुनर्प्रतिष्ठा कराई गई.

सन 1968 के सिंहस्थ महापर्व के पूर्व मुख्य द्वार का विस्तार कर सुसज्जित कर लिया गया था. इसके अलावा निकासी के लिए एक अन्य द्वार का निर्माण भी कराया गया था लेकिन दर्शनार्थियों की अपार भीड़ को दृष्टिगत रखते हुए बिड़ला उद्योग समूह के द्वारा 1980 के सिंहस्थ के पूर्व एक विशाल सभा मंडप का निर्माण कराया.

महाकालेश्वर मंदिर की व्यवस्था के लिए एक प्रशासनिक समिति का गठन किया गया है जिसके निर्देशन में यहां की व्यवस्था सुचारु रूप से चल रही है. हाल ही में इसके 118 शिखरों पर 16 किलो स्वर्ण की परत चढ़ाई गई है. हाल ही में मंदिर में दान के लिए इंटरनेट सुविधा भी चालू की गई है.

Continue Reading

Uncategorized

सांसद अजय निषाद व मंत्री सुरेश शर्मा सहित अन्य के खिलाफ सीजेएम कोर्ट में परिवाद दायर, यह है आरोप

Published

on

मुजफ्फरपुर के सांसद अजय निषाद व मंत्री सुरेश शर्मा सहित अन्य के खिलाफ सीजेएम कोर्ट में परिवाद दाखिल किया गया है। यह परिवाद नगर थाना के न्यू एरिया सिकंदरपुर निवासी चंद्रकिशोर पाराशर ने दाखिल किया है।

इसमें अन्य आरोपितों में पूर्व उपमहापौर विवेक कुमार, राजद नेता डॉ. इकबाल मोहम्मद शमी, कुढऩी विधायक केदार प्रसाद गुप्ता, जिला परिषद अध्यक्ष इंद्रा देवी, वार्ड पार्षद संजय केजरीवाल, उत्तर बिहार चैंबर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष मोतीलाल छापडिय़ा, महापौर सुरेश कुमार व राजद के जिलाध्यक्ष रमेश गुप्ता सहित 100 अज्ञात लोग शामिल हैं। सीजेएम ने परिवाद को सुनवाई के लिए रखा है। इसके लिए चार जून की तारीख मुकर्रर की है।

परिवाद में यह लगाया आरोप

परिवाद में चंद्रकिशोर पाराशर ने कहा है कि पांच मई को साहित्यकार व पत्रकार सुरेश अचल की पुण्यतिथि थी। इस अवसर पर तिलक मैदान रोड में कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इस कार्यक्रम में लॉकडाउन का उल्लंघन किया गया। जब इस कार्यक्रम के आयोजक विवेक कुमार से इस कार्यक्रम के आयोजन की जिला प्रशासन से मिली अनुमति पत्र दिखाने को कहा तो वे अभद्र भाषा का प्रयोग करने लगे और हाथापाई की।

कांग्रेस नेता आसिफ इकबाल के विरुद्ध कोर्ट परिवाद

युवा कांग्रेस के प्रदेश महासचिव आसिफ इकबाल के खिलाफ मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी सीजेएम मुकेश कुमार के कोर्ट में परिवाद दाखिल किया गया है। यह परिवाद भाजपा के विधि प्रकोष्ठ के जिला संयोजक व अधिवक्ता अनिल कुमार सिंह ने दाखिल किया है। मुजफ्फरपुर के सांसद अजय निषाद के प्रति फेसबुक पर कांग्रेस नेता के आपत्तिजनक पोस्ट को आधार बनाया है। सीजेएम ने परिवाद को सुनवाई के लिए रखा है। इसके लिए चार जून की तारीख मुकर्रर की है।

परिवाद में यह लगाया आरोप

परिवाद में अधिवक्ता सिंह ने कहा है कि 13 मई की शाम वे अपने आवास पर सोशल साइट फेसबुक देख रहे थे। इसी बीच देखे कि आसिफ इकबाल नाम के फेसबुक आइडी से मुजफ्फरपुर सांसद अजय निषाद एवं उनके समर्थकों के विरुद्ध अभद्र भाषा का प्रयोग किया गया था। उन्होंने इसका स्क्रीन शॉट संरक्षित कर लिया। यह पोस्ट सांसद व उनके समर्थकों की छवि धूमिल करने वाला है। इससे उनके मान-सम्मान को ठेस पहुंची है।

Input : Dainik Jagran

Continue Reading

Uncategorized

बड़ाहरूप गांव में विश्वव्यापी महामारी COVID-19 से बचाव हेतु सुरक्षा सामग्री वितरण

Published

on

वैशाली जिला के भगवानपुर प्रखंड अंतर्गत ग्राम पंचायत राज मांगनपुर के बड़ाहरूप गांव में सूर्यदेव जनकल्याण समिति के तत्वाधान में विश्वव्यापी महामारी कोरोना वायरस से बचाव हेतु सुरक्षा सामग्री वितरण सह कोरोना वारीयर्स सम्मान समारोह का आयोजन किया गया।

जिसमें भगवानपुर थाना के थानाध्यक्ष सीबी शुक्ला एवं थाना के अन्य अधिकारीगण के साथ ही क्षेत्रीय डॉक्टर डॉ अमित कुमार, डॉक्टर उमाकांत प्रसाद के साथ-साथ प्रखंड के पत्रकार बंधु को पुष्पमाला एवं अंग वस्त्र जन कल्याण समिति के अध्यक्ष सुधीर कुमार पांडे कोषाध्यक्ष अजय कुमार पांडे वरीय सदस्य सूर्य देव पांडे ,शशि भूषण पांडे,बीरेंद्र पांडेय,रूपेश पांडेय एवं युवा सदस्य गौतम पांडे हेमंत पांडे सोनू पांडे के द्वारा देकर सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर जन कल्याण समिति के सदस्यों के द्वारा जरूरतमंद गरीब लोगों में मास्क, साबुन इत्यादि सामानों का वितरण किया गया साथहीं पंचायत में सैनिटाइजर के छिड़काव का कार्य भी शुरू किया गया।

इस अवसर पर थाना अध्यक्ष श्री सीबी शुक्ला ने सूर्यदेव जन कल्याण समिति के सदस्यों एवं पत्रकार बंधुओं के साथ गांव के लोगों का भी धन्यवाद किया और कहा कि हम लोगों का सम्मान कर आप लोगों ने हम लोगों का और भी मनोबल बढ़ाया है।

Continue Reading
BIHAR3 hours ago

नाबालिग प्रेमी संग दिल्ली से आई युवती, तीन दिन क्वारंटाइन सेंटर में रही, फिर रचाई शादी

Uncategorized3 hours ago

श्री महाकालेश्वर मंदिर: उज्जैन में स्थित इस ज्योतिर्लिंग के बारे में जान लें ये खास बातें

RELIGION3 hours ago

हनुमान जी के 5 ऐसे चमत्कारी मंदिर, जहां भक्त की हर मनोकामना होती है पूरी

INDIA3 hours ago

भारत के 5 प्रसिद्ध महालक्ष्मी मंदिर, दर्शन के लिए उमड़ती है भक्तों की असंख्य भीड़

BIHAR3 hours ago

कल जारी होंगे दसवीं के नतीजे, खत्म होगा 15 लाख स्टूडेंट्स का इंतजार

INDIA3 hours ago

घरेलू उड़ान के यात्रियों को क्वारंटाइन में रखने की जरूरत नहीं लगती- उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी

BIHAR3 hours ago

बिहार के माध्यमिक शिक्षकों का निलंबन रद्द, सरकार ने लिया FIR वापस लेने का बड़ा फैसला

BIHAR3 hours ago

कल बिहार आएंगी 83 ट्रेनें, एक लाख मजदूर पहुंचेंगे घर, यहां देखिये गाड़ियों की लिस्ट

INDIA3 hours ago

चार्टर प्लेन से झारखंड के लोगों को वापस लायेंगे हेमंत सोरेन, केंद्र सरकार से मांगी है अनुमति

INDIA6 hours ago

वेब सीरीज ‘पाताल लोक’ को लेकर मुश्किल में फंसी अनुष्का शर्मा, मिला लीगल नोटिस

BIHAR1 week ago

जानिए- बिहार के एक मजदूर ने ऐसा क्या कहा कि दिल्ली के अफसर की आंखों में आ गए आंसू

INDIA3 weeks ago

क्या 4 मई से शुरू होगा ट्रेनों का संचालन? जानें रेलवे की आगे की रणनीति

INDIA3 weeks ago

लॉकडाउन में राशन खरीदने निकला बेटा दुल्हन लेकर लौटा, भड़की मां पहुंची थाने

BIHAR3 weeks ago

ऋषि कपूर ने उठाए थे नीतीश सरकार के फैसले पर सवाल, कहा था- कभी नहीं जाऊंगा बिहार

WORLD2 weeks ago

इंडोनेशिया में घर के साथ पत्नी मुफ्त, एड ऑनलाइन हुआ वायरल

BIHAR4 weeks ago

IIT से पढ़ाई, डॉन की गिरफ्तारी, अब बिहार के IPS बने यूट्यूब गुरु

BIHAR4 weeks ago

बिहार सरकार का बड़ा फैसला, 9 दिनों के अंदर बनेगा नया राशन कार्ड, ये होगी प्रक्रिया

MUZAFFARPUR4 weeks ago

मुजफ्फरपुर : पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी ; 36 घंटे के अंदर बैंक लूट कांड का किया खुलासा

BIHAR4 weeks ago

मौसम विभाग ने साइक्लोन सर्किल का जारी किया अलर्ट, इन जिलों में आंधी-तूफान के साथ बारिश की संभावना

BIHAR3 weeks ago

बिहार के किस जिले में आज से क्या-क्या होगा शुरू, देंखे-पूरी लिस्ट

Trending