Connect with us

BIHAR

पटना : ढाई साल से बिछड़ी विक्षिप्त सीता को डाक विभाग ने परिवार से मिलाया, पति ने रचा ली दूसरी शादी

Published

on

21 माह से सीता मानसिक आरोग्यशाला में गुमनामी का जीवन बिता रही थी. वहां उसने बच्चे को भी जन्म दिया, जो राजकीय बालगृह में रह रहा था. पति ने मृत मानकर दूसरी शादी रचा ली, लेकिन विधाता को कुछ और ही मंजूर था. सामाजिक कार्यकर्ता नरेश पारस के रूप में एक उम्मीद की किरण जगी और ढाई साल बाद सीता को अपना परिवार मिल सका. 16 महीने बाद अपने लाल को गोद में खिला पायी.

बच्चे को पाकर उसे लगातार चूमे जा रही थी. यह नजारा था मानसिक आरोग्यशाला, आगरा का. सीता को परिवार से मिलाने में डाक विभाग और स्वयंसेवी संगठन महफूज सुरक्षित बचपन के संयोजक भूमिका अहम रही. 29 जून, 2017 को गौतमबुद्ध नगर पुलिस ने सीता नामक एक महिला को आगरा की मानसिक आरोग्यशाला में लावारिस हालत में भर्ती कराया था.

उसका मानसिक संतुलन ठीक नहीं था. उस समय वह गर्भवती थी. चार माह बाद 13 नवंबर, 2017 को उसने मानसिक आरोग्यशाला में ही एक बच्चे को जन्म दिया. बच्चे को राजकीय बालगृह (शिशु) आगरा में भर्ती करा दिया.

बाल अधिकार कार्यकर्ता और महफूज सुरक्षित बचपन के समन्वयक नरेश पारस जब राजकीय बालगृह (शिशु) गये तो बच्चे की मां के बारे में जानकारी मिली. उन्होंने मानसिक आरोग्यशाला जाकर सीता से मुलाकात की और काउंसेलिंग की. काउंसेलिंग में सीता ने अपना जिला मधुबनी, बिहार बताया. बताये गये टूटे- फूटे पते के आधार पर नरेश पारस ने सीता के परिवार को खोजने की मुहिम शुरू कर दी. उन्होंने सोशल मीडिया के माध्यम से सीता का संदेश वायरल किया.

पटना जीपीओ के चीफ पोस्टमास्टर राजदेव और मधुबनी जिले के डाक विभाग के अधीक्षक आरसी चौधरी ने इसे गंभीरता से लिया और सीता संबंधी मैसेज को सभी डाकघरों मेें भिजवाया. आखिरकार डाक विभाग ने सीता के घर को ढूंढ़ लिया. सीता के भाई कामेश्वर दास और चचेरे भाई घूरन दास ने नरेश पारस से संपर्क किया. नरेश पारस ने उन्हें आगरा बुला लिया. सीजेएम के आदेश पर सीता और उसके बच्चे आयुष को परिजनों को सुपुर्द कर दिया गया.

बेटे को देखा तो गोद में लेकर माथा चूमने गयी

जब सीता भाई से मिली तो देखते ही लिपट गयी और रोने लगी. यह खबर सुन सीता की बहन फूलवती भी अंबाला से आगरा आ गयी. सीजेएम के आदेश पर सीता को उसका बेटा आयुष सुपुर्द किया गया. जैसे ही सीता ने बेटे को देखा तो उसे गोद में लेकर उसका माथा चूमने लगी. यह देख सभी की आंखें नम हो गयीं.

20 शहरों में खाक छान चुके थे परिजन

सीता के भाई कामेश्वर दास ने आगरा से मोबाइल पर बताया किया कि सीता मंदबुद्धि थी. उसका मानसिक संतुलन खराब हो गया था. वह 19 सितंबर, 2016 को घर से लापता हो गयी थी. इस संबंध में परिजनों ने थाने में भी सूचना दी, लेकिन पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज नहीं की. वह अपने स्तर से सीता को तलाश रहे थे.
वह पटना, दरभंगा, अंबाला, दिल्ली, हरिद्वार समेत लगभग 20 शहरों की खाक छान चुके थे, लेकिन सीता का कोई पता नहीं चल सका था. नरेश पारस के अथक प्रयासों से सीता को अपना परिवार मिल सका.

Input : Prabhat Khabar

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

BIHAR

मुंबई से दरभंगा पहुंची प्रवासी गर्भवती महिला का बच्चा हुआ तो नाम रखा ‘सोनू सूद’

Published

on

मुंबई. इन दिनों बॉलीवुड इंडस्ट्री के जाने माने एक्टर सोनू सूद (Sonu Sood) जबरदस्त सुर्खियों में बने हुए हैं. इस मुश्किल समय में वो लगातार प्रवासी मजदूरों की मदद के लिए खड़े हुए हैं. कभी लॉकडाउन में गरीबों और जरूरतमंदों को खाना-राशन पहुंचाते दिख रहे हैं तो कभी प्रवासी मजदूरों (Migrant Workers) को घर पहुंचाने के लिए बसों का इंतजाम कर रहे हैं. सोनू के इन्हीं नेक कामों ने उन्हें प्रवासी मजदूरों का रियल हीरो बना दिया है. सोशल मीडिया (Social media) पर उन्हें शुक्रिया करते कई मजदूरों के किस्से सामने आए हैं. वहीं उनकी मदद से घर पहुंची बिहार (Bihar) की एक गर्भवती मजदूर महिला (Pregnant Migrant Worker Woman) ने उन्हें बेहद स्पेशल तरीके से थैंक्यू कहा है.

India: Sonu Sood launches toll free number to help migrants reach ...

सोनू सूद ने इस वाकये का खुलासा खुद किया था. उन्होंने बॉम्बे टाइम्स से बातचीत में कहा था- ‘मैंने जिन लोगों को घर भेजा उनमें से एक महिला ने बच्चे को जन्म दिया और उसका नाम मेरे नाम पर रखा है.’ सोनू ये भी कहा था कि ये वाकया उनके दिल को छू गया था. इस बातचीत के मुताबिक सोनू ने बताया, ‘मैंने टीम के साथ मिलकर 12 मई को प्रवासी मजदूरों का एक ग्रुप मुंबई से दरभंगा के लिए रवाना किया था. जिसमें में दो गर्भवती महिलाएं भी शामिल थीं. इनमें से एक को घर पहुंचते ही बच्चा हुआ. ये खुशखबरी उन्होंने मुझे फोन करके दी थी.’

Sonu Sood sends home another group of migrants stuck in Mumbai ...

सोनू का कहना है, ‘उनके परिजनों ने बताया कि बेटा हुआ है और उन्होंने अपने बेटे का नाम सोनू सूद रखा है. जब मैंने उनसे पूछा कि सूद कैसे… वो तो श्रीवास्तव हुआ ना? ये सुनकर महिला ने खुद बताया कि बच्चे का पूरा नाम सोनू सूद श्रीवास्तव रखा गया है.’ सोनू कहते हैं कि उन्हें उस महिला का शुक्रिया कहने का ये तरीका बेहद स्पेशल लगा और उनके दिल को छू गया.

सोनू ने अपने ट्विटर के जरिए कुछ प्रवासी मजदूरों के धन्यवाद का जवाब भी दिया है. सोनू द्वारा किए गए बस के इंतजाम के बाद उसमें सवार एक व्यक्ति ने उन्हें टैग करते हुए ट्विटर पर लिखा था, ‘सर हम लोग अच्छे से निकल चुके हैं, आप बेफिक्र रहिए, मैं आपको अपडेट करता रहूंगा, आपको प्यार भइया.’ इस पर सोनू ने लिखा- ‘विश यू अ हैप्पी जर्नी भाई, बोला था ना कल मां के हाथ का खाना खाओगे. बिहार पहुंच कर सबको सलाम कहना.’

Input : News18

Continue Reading

BIHAR

मौसम विभाग ने बिहार के कई जिलों को लेकर जारी किया अलर्ट, तेज आंधी और बारिश की आशंका

Published

on

बिहार में मौसम विभाग ने अर्लट जारी किया है. मौसम विभाग ने तेज आंधी और बारिश को लेकर कई जिलेों के लिए अर्लट जारी किया यही नहीं इन जिलों में वज्रपात की भी संभावना है. मौसम विभाग ने मधेपुरा, सहरसा, सुपौल, पूर्णिया, किशनगंज और अररिया जिलों को लेकर अलर्ट जारी किया है.

मौसम विभाग ने इन जिलों में वज्रपात की और तेज आंधी की संभावना है. ऐसे में लोग बिना जरूरी न हो तो घर से नहीं निकले. घर में ही सुरक्षित रहे.

बंगाल की खाड़ी की हवा में आई रफ्तार ने और पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल असम होते हुए नागालैंड तक बनी टर्फ लाइन ने बुधवार को पूरे प्रदेश को अपने दायरे में ले लिया. जिसकी वजह से पूरे प्रदेश में अगले 48 घंटे में बारिश के आसार हैं. मौसम विभाग के अनुसार पूर्वी बिहार में अच्छी बारिश एवं बिहार के अन्य जिलों में कई जगह छिटपुट बारिश हो सकती है. फिलहाल बंगाल की खाड़ी से 20 से 30 किलोमीटर प्रति घंटे की चाल से चली हवा की वजह से बुधवार को पूरे प्रदेश के तापमान में 8 डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गई.

Input : Live Cities

Continue Reading

MUZAFFARPUR

मुजफ्फरपुर : अनाप-शनाप औसत बिल भेज रहा विभाग, उपभोक्ता हलकान

Published

on

मुजफ्फरपुर : बिजली विभाग के अजब-गजब कारनामे सामने आ रहे हैं। दैनिक जागरण से विद्युत उपभोक्ताओं ने विभागीय लापरवाही की पोल पट्टी खोल दी है। ज्यादातर उपभोक्ताओं औसत री¨डग कर अनाप-शनाप बिल मिलने से परेशान हैं। ऑनलाइन या ऑफलाइन शिकायत के बावजूद कोई समाधान नहीं निकल पा रहा है। बैरिया पठानटोली कृष्ण मोहन नगर मोहल्ले के रहने वाली पूनम कुमारी को पिछले तीन वर्षो से एवरेज बिजली बिल आ रहा है। उनके पति अभय कुमार उर्फ बिट्ट लोहिया कॉलेज में हैं। वे दर्जनों बार शिकायत कर चुकी हैं। फिर भी उनको मीटर रीडिंग से बिजली बिल नहीं मिल रहा है। गलत मीटर नंबर से उनको बिजली बिल आ रहा है। कहीं विभाग एक बार लाखों रुपये की पेनाल्टी न लगा दें, इससे पूरा परिवार डरा हुआ है।

 

एस्सेल के जाने के बाद नॉर्थ बिहार पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी के हाथ बिजली व्यवस्था आई, तब से ही से इलाके के जेई और ऑनलाइन शिकायत कर रहे हैं। करजा थाने के गवसरा गांव निवासी भरत सिंह ने बिजली बिल सुधार के लिए विभाग के अधिकारियों को लगातार आवेदन दे रहे हैं। भगवानपुर श्रमजीवी नगर मोहल्ला निवासी दिनेश मिश्र ने दो महीने का एक साथ यूनिट जोड़ कर बिजली बिल बना देने की शिकायत की है। औराई आलमपुर के रहने वाले शिवेंद्र कुमार ने अधिक बिल आने की बात कही है। बैरिया आयाची ग्राम निवासी राकेश क्षत्रिय ने एवरेज बिजली बिल पेमेंट करने के बाद रीडिंग पर अधिक बिल आने से परेशान हैं।

नगर थाने के बालूघाट जंगलीमाई वार्ड-17 के निवासी लालशंकर प्रसाद सिन्हा ने अप्रैल माह का बिल नहीं आने की शिकायत की है। बैरिया के उपभोक्ता संजय कुमार ने ने अपने बिल को गलत बताया है। सरैयागंज के सुजीत कुमार ने बिल में गड़बड़ी की शिकायत की है। चंदवारा जमीरन गाछी मोहल्ला निवासी रईस अहमद एक साथ तीन महीने के बिजली बिल आने से परेशान हैं।

विद्युत उपभोक्ताओं ने खोली विभागीय लापरवाही की पोल पट्टी

दर्जनों बार शिकायत के बाद भी नहीं मिल रहा बिजली बिल

बिजली बिल या किसी तरह की गड़बड़ी को लेकर उपभोक्ता सीधे अपने सेक्शन के वरीय विद्युत अधिकारी से मिलें। समस्या का शीघ्र समाधान हो जाएगा। एवरेज बिल पाने वाले उपभोक्ता मीटर का वीडियो बनाकर कार्यपालक अभियंता को दे कर बिल सही करवा सकते हैं। – छबिंद्र  प्रसाद सिंह, विद्युत कार्यपालक अभियंता, नॉर्थ बिहार पावर डिस्ट्रीब्यूशन।

Continue Reading
BIHAR37 mins ago

मुंबई से दरभंगा पहुंची प्रवासी गर्भवती महिला का बच्चा हुआ तो नाम रखा ‘सोनू सूद’

BIHAR1 hour ago

मौसम विभाग ने बिहार के कई जिलों को लेकर जारी किया अलर्ट, तेज आंधी और बारिश की आशंका

INDIA5 hours ago

अब व्हाट्सएप से बुक करें गैस सिलेंडर, इस नंबर पर करना होगा मैसेज

Jharkhand5 hours ago

पहली बार फ्लाइट से प्रवासी मजदूरों की वापसी, मुंबई से झारखंड लौटेंगे 180 लोग

MUZAFFARPUR7 hours ago

मुजफ्फरपुर : अनाप-शनाप औसत बिल भेज रहा विभाग, उपभोक्ता हलकान

MUZAFFARPUR8 hours ago

मुजफ्फरपुर : क्वारंटाइन केंद्र पर उकसाकर हंगामा कराने में प्राथमिकी

INDIA8 hours ago

ज्यादा मजदूरों की मदद के लिए सोनू सूद ने जारी किया टोल फ्री नंबर, जाने वालों से कहा- वापस जरूर आना

INDIA14 hours ago

व्यापारिक मोर्चे पर भी चीन के साथ आर-पार की लड़ाई के मूड में भारत, जानें पूरा ब्योरा

RELIGION14 hours ago

अब ऑन लाइन कर सकेंगे बद्रीनाथ और केदारनाथ के दर्शन, बोर्ड के लिए राज्य सरकार ने स्वीकृत किए 10 करोड़ रुपए

BIHAR14 hours ago

जिले के 50 से अधिक छोटे स्कूल बंद होने की कगार पर

BIHAR2 weeks ago

जानिए- बिहार के एक मजदूर ने ऐसा क्या कहा कि दिल्ली के अफसर की आंखों में आ गए आंसू

INDIA4 weeks ago

लॉकडाउन में राशन खरीदने निकला बेटा दुल्हन लेकर लौटा, भड़की मां पहुंची थाने

BIHAR4 weeks ago

ऋषि कपूर ने उठाए थे नीतीश सरकार के फैसले पर सवाल, कहा था- कभी नहीं जाऊंगा बिहार

WORLD3 weeks ago

इंडोनेशिया में घर के साथ पत्नी मुफ्त, एड ऑनलाइन हुआ वायरल

BIHAR4 weeks ago

बिहार के किस जिले में आज से क्या-क्या होगा शुरू, देंखे-पूरी लिस्ट

INDIA4 weeks ago

Lockdown Part 3- 17 मई तक जानिए क्या खुलेगा और क्या रहेगा बंद

BIHAR3 weeks ago

बिहार के लिए हरियाणा से खुलेंगी 11 ट्रेनें, यहां देखिये गाड़ियों की पूरी लिस्ट

BIHAR4 weeks ago

बाहर फंसे बिहारियों की वापसी का बिहार सरकार नहीं करेगी इंतजाम, सुशील मोदी बोले- हमारे पास नहीं है संसाधन

INDIA4 weeks ago

लॉकडाउन के बीच 21 हजार रुपए से कम सैलरी पाने वालों के लिए सरकार ने की 5 बड़ी घोषणाएं

Uncategorized4 weeks ago

50 फीसद यात्रियों के साथ बसों का संचालन, बढ़ सकता किराया

Trending