Connect with us

SPORTS

10 विकेट… 29 साल… हार के बाद विराट कोहली के नाम जुड़ गए कई शर्मनाक रिकॉर्ड

Published

on

वर्ल्ड कप में अगर मुक़ाबला पाकिस्तान से हो तो टीम इंडिया  की हमेशा जीत की गारंटी रहती थी. लेकिन रविवार को दुबई में इतिहास के पन्ने पलट गए. 29 साल बाद पाकिस्तान की टीम भारत को वर्ल्ड कप के मैच में हराने में कामयाब रही. साल 1992 के बाद पहली बार कप्तान विराट के नाम ये अनचाहा रिकॉर्ड जुड़ गया. मोहम्मद अज़हरुद्दीन से लेकर महेंद्र सिंह धोनी किसी भी कप्तान को ये दिन नहीं देखना पड़ा थे. लेकिन क्रिकेट हार जीत का खेल है. हर कप्तान के करियर में और टीम में उतार चढ़ाव आते रहते हैं.

Image

इस वर्ल्ड कप के बाद विराट कोहली टी-20 की कप्तानी छोड़ देंगे. लेकिन जाते-जाते विराट पाकिस्तान के खिलाफ हार का दर्द ले गए. पता नहीं अब इस वर्ल्ड कप में या आगे पाकिस्तान के खिलाफ उन्हें अपनी कप्तानी में हार का बदला लेने का मौका मिलेगा या नहीं. आइए एक नज़र डालते हैं उन रिकॉर्ड्स पर जिसे विराट हमेशा भुला देना चाहेंगे.

Advertisement

Image

29 साल बाद हार

इस वर्ल्ड कप से पहले टीम इंडिया को पाकिस्तान के खिलाफ 12-0 की बढ़त हासिल थी. टीम इंडिया को वनडे वर्ल्ड कप के 7 मैचों में पाकिस्तान के खिलाफ जीत मिली थी. जबकि टी-20 वर्ल्ड कप में टीम इंडिया ने पाकिस्तान को 5 बार धोया था. लेकिन अब 29 साल के दबदबे के बाद जीत और हार का अंतर 12-1 हो गया है.

Advertisement

10 विकेट से हार

भारत को कभी भी टी-20 इंटरनेशनल मैचों में 10 विकेट से हार का सामना नहीं करना पड़ा था. इससे पहले सिर्फ ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण अफ्रीका और वेस्टइंडीज़ ने टीम इंडिया को ज्यादा से ज्यादा 9 विकेट से हराया था. इतना ही नहीं वनडे में भी आज तक कभी भी इंडिया पाकिस्तान से 10 विकेट से नहीं हारी है. साल 1997 में लाहौर में भारत को 9 विकेट से हार का सामना करना पड़ा था.

Advertisement

krishna-motors-muzaffarpur

दूसरी बार 10 विकेट से हार

विराट कोहली की कप्तानी में ये दूसरा मौका है जब टीम इंडिया को लिमिटेड ओवर क्रिकेट में 10 विकेट से हार का सामना करना पड़ा है. इससे पहले जनवरी 2020 में विराट कोहली के कप्तान रहते हुए ऑस्ट्रेलिया ने भारत को मुंबई में 10 विकेट से हराया था. इस वनडे मैच में ऑस्ट्रेलिया ने बिना विकेट खोए 256 रनों का लक्ष्य हासिल कर लिया था. फिंच और वॉर्नर दोनों ऑस्ट्रेलियाई ओपनर ने शतक लगाए थे.

Advertisement

पहले मैच में हार

टी-20 वर्ल्ड कप में ये दूसरा मौका है जब टीम इंडिया को अपने पहले मैच में हार का सामना करना पड़ा है. इससे पहले महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में साल 2016 टी-20 वर्ल्ड कप में न्यूज़ीलैंड के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था. इस मैच में टीम इंडिया सिर्फ 79 के स्कोर पर ऑल आउट हो गई थी.

Advertisement

Image

Source : News18

(मुजफ्फरपुर नाउ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Advertisement

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

SPORTS

दिग्गज अंपायर रुडी कोएर्टजन की कार दुर्घटना में मौत, क्रिकेट जगत में शोक की लहर

Published

on

दक्षिण अफ्रीका के पूर्व अंपायर रुडी कोएर्टजन का कार दुर्घटना में मौत गई. कोएर्टजन 73 वर्ष के थे. आईसीसी एलीट पैनल के इस महान अंपायर की कार सामने से आ रही दूसरे वाहन से टकरा गई. इस दुर्घटना में रुडी कोएर्टजन सहित तीन अन्य लोगों की भी मौत हो गई. इस पूर्व दक्षिण अफ्रीकी अंपायर ने दिसंबर 1992 से लेकर जुलाई 2019 तक इंटरनेशनल क्रिकेट में अंपायरिंग की.

रुडी कोएर्टजन ने 108 टेस्ट और 209 वनडे इंटरनेशनल मैचों के साथ साथ 14 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में भी अंपायरिंग की. उन्होंने इस दौरान एक महिला टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में भी अंपायर की भूमिका निभाई. कोएर्टजन के बेटे ने बताया कि उनके पिता अपने दोस्तों के साथ गोल्फ टूर्नामेंट खेलने गए थे. वह सोमवार (9 अगस्त) को ही केप टाउन लौटने वाले थे.

Advertisement

टेस्ट मैचों में सबसे ज्यादा अंपायरिंग के मामले में कोएर्टजन तीसरे नंबर पर हैं. उनसे पहले इस लिस्ट में पाकिस्तान के अलीम डार और विंडीज के स्टीव बकनर हैं. रुडी कोएर्टजन के बेटे ने अलगोवा एफएम न्यूज से कहा, ‘ वह गोल्फ टूर्नामेंट के लिए अपने दोस्तों के साथ गए थे. वह सोमवार को ही लौटने वाले थे. लेकिन सभी ने अन्य राउंड में भी खेलने का फैसला लिया.’ कोएर्टजन के निधन की खबर से क्रिकेट जगत में शोक की लहर है.

रुडी कर्टजन ने 1992 में अंपारिंग की दुनिया में कदम रखा. तब भारतीय टीम दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर गई थी. उस सीरीज में पहली बार किसी खिलाड़ी को टीवी रिप्ले के जरिए रन आउट दिया गया था. कोएर्टजन साल 1997 में आईसीसी के फुल टाइम अंपायर बने. इसके बाद उन्हें 2002 में एलीट पैनल में जगह मिली. वह साल 2006 में इंग्लैंड के डेविड शेफर्ड के बाद 150 वनडे में अंपायरिंग करने वाले अंपायर बने थे.

Advertisement

Source : News18

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

nps-builders

Genius-Classes

Advertisement
Continue Reading

SPORTS

कुश्ती में फिर बरसा सोना, भारत के नवीन ने पाकिस्तानी रेसलर को पटका, जीता गोल्ड

Published

on

भारतीय पहलवान नवीन ने पाकिस्तान के रेसलर ताहिर को हराकर कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत को 12वां गोल्ड दिलाया. 19 वर्षीय नवीन ने डेब्यू कॉमनवेल्थ गेम्स में सोना जीता. इसी के साथ राष्ट्रमंडल खेलों के इस बार भारत कुश्ती में 6 गोल्ड जीतने में सफल रहा. कॉमनवेल्थ गेम्स में यह भारत की कुश्ती में रिकॉर्ड है. इससे पहले भारत ने कभी इतने गोल्ड मेडल नहीं जीते थे. भारत की पदकों की संख्या अब 34 पहुंच गई है. भारत पदक तालिका में पांचवें स्थान पर है. इससे पहले शनिवार को विनेश फोगाट और रवि दहिया ने भी कुश्ती में गोल्ड जीता जबकि पूजा गेहलोत व पूजा सिहाग को ब्रॉन्ज मेडल मिला.

इससे पहले शनिवार को रवि कुमार दहिया ने गोल्ड जीता. टोक्यो ओलंपिक के सिल्वर मेडलिस्ट रवि दहिया ने रेसलिंग में अपेक्षा के अनुरूप प्रदर्शन करते हुए भारत की झोली में गोल्ड मेडल डाला. दहिया ने पुरुषों के 57 किग्रा फाइनल में नाइजीरिया के एबिकेवेनिमो वेल्सन को तकनीकी श्रेष्ठता के आधार पर 10-0 से हराया. इससे पहले उन्होंने न्यूजीलैंड के सूरज सिंह और पाकिस्तान के असद अली को तकनीकी श्रेष्ठता के आधार पर हराया था.

Advertisement

महिलाओं के 50 किलो वर्ग में पूजा गेहलोत ने स्कॉटलैंड की क्रिस्टेले एल को ब्रॉन्ज मेडल मुकाबले में तकनीकी श्रेष्ठता के आधार पर 12-2 से हराया. पहले मैच में इसी प्रतिद्वंद्वी को हराने के बाद कैमरन की रेबेका एंडोलो मुआम्बो पर वाकओवर मिला था. सेमीफाइनल में हालांकि वह कनाडा की मेडिसन बियांका पार्क्स से हार गई थी.

वहीं, भारत की स्टार महिला पहलवान विनेश फोगाट ने बर्मिंघम कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल लाया. टोक्यो ओलंपिक की नाकामी, अतीत के मानसिक और शारीरिक संघर्षों को पीछे छोड़कर विनेश ने महिलाओं के 53 किग्रा वर्ग में चंद सेकंड में ही श्रीलंका की चामोडिया केशानी मदुरावलागे डॉन को चित करके 4-0 से जीत दर्ज की. कॉमनवेल्थ गेम्स में विनेश का यह लगातार तीसरा गोल्ड मेडल है. इससे पहले विनेश ने साल 2014 और 2018 कॉमनवेल्थ गेम्स में भी स्वर्ण पर कब्जा जमाया था.

Advertisement

Source : News18

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

nps-builders

Genius-Classes

Advertisement
Continue Reading

SPORTS

हरमनप्रीत कौर एंड कंपनी GOLD से एक जीत दूर, रोमांचक मुकाबले में इंग्लैंड को दी पटखनी

Published

on

भारत ने कॉमनवेल्थ गेम्स 2022  में महिला क्रिकेट प्रतियोगिता के फाइनल में प्रवेश कर लिया है. भारत ने सेमीफाइनल में इंग्लैंड  को 4 रन से हराया. हरमनप्रीत कौर की कप्तानी वाली टीम इंडिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 5 विकेट के नुकसान पर 164 रन बनाए. जवाब में मेजबान इंग्लैंड की टीम 6 विकेट पर 160 रन ही बना सकी. कॉमनवेल्थ गेम्स में पहली बार महिला क्रिकेट को शामिल किया गया है. ऐसे में टीम इंडिया गोल्ड मेडल से अब सिर्फ एक जीत दूर है.

स्मृति मंधाना ने जड़ा सबसे तेज अर्धशतक

Advertisement

स्मृति मंधाना  के 32 गेंद में तीन छक्के और आठ चौके जड़ित 61 रन के अलावा जेमिमा रॉड्रिग्स  की नाबाद 44 रन की उपयोगी पारी की बदौलत भारत ने 5 विकेट पर 164 रन का स्कोर खड़ा किया. मंधाना की पावरप्ले में खेली गई आक्रामक पारी ने इस स्कोर की नींव रखी जबकि रॉड्रिग्स (सात चौके) ने 31 गेंद की नाबाद पारी ने इसे बढ़ाने में मदद की. मंधाना ने इस दौरान महिला क्रिकेट में टी20 अंतरराष्ट्रीय में सबसे तेज अर्धशतक भी जड़ दिया जिसके लिए उन्होंने केवल 23 गेंद खेली.

दीप्ति औ जेमिमा ने चौथे विकेट पर 53 रन जोड़े

Advertisement

दीप्ति शर्मा ने 20 गेंद में 22 रन का योगदान दिया. हालांकि भारत ने पावरप्ले के छह ओवर में 64 रन बना लिए थे जिसे देखकर लगता है कि उनके स्कोर में 15 रन कम रह गए. भारतीय पारी में पावरप्ले के बाद के 14 ओवरों में 100 रन जुड़े क्योंकि टीम ने मध्य ओवरों में लगातार तीन विकेट गंवाकर लय खो दी थी. रॉड्रिग्स और दीप्ति ने चौथे विकेट के लिए 53 रन की महत्वपूर्ण साझेदारी निभाई.

मंधाना और शेफाली ने पहले विकेट के लिए 76 रन की साझेदारी की

Advertisement

महिलाओं के क्रिकेट में मंधाना के ड्राइव शॉट देखने लायक होते हैं. उनके साथ शेफाली वर्मा (15 गेंद में 17 रन) जब बिना आक्रामकता के खेल रही हों तो आंखों पर विश्वास ही नहीं होता. इन दोनों ने 7.5 ओवर में 76 रन की साझेदारी निभाई. मंधाना ने कैथरीन ब्रंट पर कवर ड्राइव लगाए जबकि नैट स्किवर, इस्सी वोंग और स्पिनर सारा ग्लेन पर छक्के जमाए. इस तरह उन्हाोंने महज 23 गेंद में अर्धशतक पूरा किया. स्किवर के मंधाना को आउट करते ही रन गति कम हो गई जिसमें कप्तान हरमनप्रीत कौर ने एक चौके और एक छक्के के बावजूद कई डॉट गेंद खेली जिससे उन्होंने 20 गेंद में इतने ही रन बनाए.

Source : News18

Advertisement

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

nps-builders

Genius-Classes

Continue Reading
INDIA1 hour ago

गांव में हर आंख में आंसू के साथ शहीद मनोज पीछे छोड़ गए नौ माह की गर्भवती पत्नी

BIHAR2 hours ago

बेहतरीन इंवेस्टिगेशन के लिए बिहार के दो आईपीएस सहित 7 अफसरों को गृहमंत्री मेडल

BIHAR2 hours ago

राजीवनगर के भूमाफियाओं पर ईडी करेगी मनी लॉड्रिंग का केस

VIRAL9 hours ago

उम्र- 3 साल, रिकॉर्ड- 5 मिनट में क्यूब सॉल्विंग, भारत की बेटी का कमाल

BIHAR9 hours ago

‘जंगलराज-2’ लाने जा रहे हैं नीतीश कुमार, बिहार सीएम पर BJP के आरोपों की बौछार

INDIA13 hours ago

पिता ने की डेढ़ साल के मासूम को गला दबाकर मार डाला, नींद में डाल रहा था खलल

INDIA13 hours ago

हर घर तिरंगा अभियान: राष्ट्रीय ध्वज की बिक्री में 50 गुना उछाल, मांग पूरी करना हुआ मुश्किल

INDIA13 hours ago

बिगड़ती जा रही है कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव की हालत, बेहोश, ब्रेन भी नहीं कर रहा रेस्पॉन्ड

BIHAR15 hours ago

सोनिया गांधी से मिले तेजस्वी यादव, महागठबंधन सरकार को समर्थन के लिए जताया आभार

BIHAR19 hours ago

गिरिराज सिंह पर तेजस्वी का कटाक्ष, कहा-‘लंबी चोटी से कोई ज्ञानी नहीं हो जाता’

BIHAR4 weeks ago

बिहार दारोगा रिजल्ट : छोटी सी दुकान चलाने वाले सख्स की दो बेटियाँ एक साथ बनी दारोगा

job-alert
BIHAR2 weeks ago

बिहार: मैट्रिक व इंटर पास महिलाएं हो जाएं तैयार, जल्द होगी 30 हजार कोऑर्डिनेटर की बहाली

INDIA4 weeks ago

प्यार के आगे धर्म की दीवार टूटी, हिंदू लड़के से मुस्लिम लड़की ने मंदिर में की शादी

BIHAR3 weeks ago

बिहार में तेल कंपनियों ने जारी की पेट्रोल-डीजल की नई दरें

BIHAR1 week ago

बीपीएससी 66वीं रिजल्ट : वैशाली के सुधीर बने टॉपर ; टॉप 10 में मुजफ्फरपुर के आयुष भी शामिल

BIHAR7 days ago

एक साल में चार नौकरी, फिर शादी के 30वें दिन ही BPSC क्लियर कर गई बहू

BUSINESS1 week ago

पैसों की जरूरत हो तो लोन की जगह लें ये सुविधा; होगा बड़ा फायदा

BIHAR7 days ago

ग्राहक बन रेड लाइट एरिया में पहुंची पुलिस, मिली कॉलेज की लड़किया

BIHAR3 weeks ago

बिहार : अब शिकायत करें, 3 से 30 दिनों के भीतर सड़क की मरम्मत हाेगी

INDIA2 weeks ago

बुढ़ापे का सहारा है यह योजना, हर दिन लगाएं बस 50 रुपये और जुटाएं ₹35 लाख फंड

Trending