Connect with us

BIHAR

बिहार में गंगा व अन्य नदियों के किनारे व एनएच के पास नहीं खुलेंगे ईंट-भट्ठे

Published

on

गंगा व अन्य नदियों के किनारे अब नए ईंट-भट्टे नहीं खुलेंगे। एक किमी के दो ईंट-भट्ठे नहीं होंगे। राष्ट्रीय राजमार्गों से भट्ठे की दूरी 200 मीटर और फोरलेन से 300 मीटर से ज्यादा रखनी होगी।

बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण पर्षद ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिया है। पर्षद ने नदी, राजमार्ग और आबादी के नजदीक नए ईंट-भट्ठा खोलने पर रोक लगा दी है। हालांकि, इससे पुराने ईंट-भट्ठे को अलग रखा गया है। इन क्षेत्रों में पहले से चल रहे पुराने ईंट-भट्ठे को पहले से तय मानकों का ही पालन करना होगा। फिलहाल नए ईंट भट्ठेखोलने के मानकों पर सख्ती बरती जा रही है।

Advertisement

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

यह आदेश पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय भारत सरकार द्वारा 22 फरवरी 2022 को जारी अधिसूचना के बाद जारी किया गया है। इसमें पर्यावरण संरक्षण के उपायों पर जोर दिया गया है। पर्षद सदस्य सचिव ने आदेश में कहा है कि नए तय मानकों के साथ ही ऑनलाइन आवेदन करना होगा। मानक के अनुसार नहीं पाए जाने पर आवेदन निरस्त करते हुए सहमति शुल्क जब्त कर लिया जाएगा।

राज्य में पटना सहित सभी जिलों में ज्यादातर ईंट-भट्ठे अभी नदियों के किनारे या राजमार्गों के नजदीक ही हैं। पटना जिले में मनेर से दानापुर के बीच सैकड़ों भट्ठे गंगा सुरक्षा बांध के उत्तर ही हैं। नई गाइडलाइन के बाद अब इन इलाकों में नए भट्ठे नहीं खुलेंगे। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अनुसार पुराने भट्ठों का संचालन भी पर्यावरण मानकों के अनुकूल करना होगा।

Advertisement

आबादी से भी बढ़ेगी दूरी: नए आदेश के अनुसार, आबादी से अब करीब 800 मीटर दूरी पर नए भट्ठे खुलेंगे। अभी सैकड़ों पुराने भट्ठे आबादी के नजदीक हैं। आबादी के नजदीक होने पर आसपास के इलाके में वायु प्रदूषण बढ़ जाता था। इतना ही नहीं राजमार्गों से होकर गुजरने वालों को भी भट्ठों की तपिश कम लगेगी।

यह है नई गाइडलाइन

Advertisement

● दो ईंट-भट्ठे के बीच की दूरी एक किलोमीटर से ज्यादा हो।

● नदी या अन्य प्राकृतिक जलस्त्रत्तेत, डैम से दूरी 500 मीटर से अधिक हो।

Advertisement

● आबादी, फलदार बाग-बगीचा, कार्यालय, स्कूल-कॉलेज, अस्पताल, न्यायालय से नए ईंट-भट्ठे की दूरी 800 मीटर से ज्यादा रहे।

● रेललाइन और राष्ट्रीय राजमार्ग से नए भट्ठे की दूरी 200 मीटर से अधिक होनी चाहिए।

Advertisement

● फोरलेन से भट्ठा की दूरी 300 मीटर से अधिक रहे।

● भट्ठे की चिमनी में पोर्ट हॉल एवं प्लेटफार्म की स्थापना अनिवार्य है।

Advertisement

● वन्य जीव अभयारण्य के पास ईंट-भट्ठे का निर्माण नहीं किया जाएगा।

● ईंट-भट्ठे पूर्णत: स्वच्छतर तकनीक यानी जिगजैग तकनीक या वर्टिकल शॉफ्ट पर आधारित हो।

Advertisement

नए ईंट-भट्ठे के मानकों में बदलाव करते हुए दूरी बढ़ाई गई है। पर्यावरण संरक्षण और कृषि योग्य भूमि को बचाना मकसद है। राज्य में अब नए मानक के अनुसार ही ईंट-भट्ठा खोलने की स्वीकृति दी जाएगी। – डॉ. अशोक घोष, चेयरमैन, बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण पर्षद

कृषि योग्य भूमि बचाना है मकसद

Advertisement

दरअसल, सरकार फ्लाई ऐश से बनने वाली ईंट को बढ़ावा दे रही है। मकसद कृषि योग्य भूमि को बचाना है। ईंट बनाने में मिट्टी की ऊपरी परत की कटाई होती है। इससे उपजाऊ भूमि नष्ट हो रही है। इसीलिए नए लाल ईंट भट्ठा खोलने के नियम सख्त किए जा रहे हैं। नए मानकों के अनुसार, ईंट भट्ठा खोलने में कई तरह की परेशानी आएगी। इसके बाद फ्लाई ऐश से बनने वाली ईंट के भट्ठे को बढ़ावा मिलेगा।

nps-builders

Source : Hindustan

Advertisement

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

BIHAR

बिहार की लड़की की मदद के लिए आगे आए सोनू सूद, कहा- ‘सामान बांधिए प्रियांशु, नई शुरुआत करते हैं

Published

on

अभिनेता सोनू सूद ने एक बार फिर से अपनी दरियादिली दिखाई है. इस बार सोनू सूद सीवान के जीरादेई प्रखंड के बनथू श्री राम गांव की रहने वाली प्रियांशु के मदद के लिए आगे आए हैं. प्रियांशु की खबर मीडिया में चलने के बाद सोनू सूद ने ट्विटर के माध्यम से इस बात की जानकारी दी है. उन्होंने लिखा की “चलिए अब दोनो पैरों से नई शुरुआत करें. सामान बंधिए प्रियांशु” हालांकि प्रियांशु के परिजनों को इस ट्वीट की खबर नहीं थी.

सीवान की प्रियांशु 2 दिनों में दोनों पैरों से जाने लगेगी स्कूल, DM की भेजी जांच टीम लगाएगी कृत्रिम पैर | Siwan's Priyanshu will start going to school with both feet in

एक किलोमीटर चलकर जाती है स्कूल

Advertisement

दरअसल प्रियांशु दिव्यांग है जिस कारण से उसे स्कूल जानें में परेशानी होती है. प्रियांशु हर दिन एक किलोमीटर पैदल चलकर पढ़ाई करने के लिए स्कूल जाती है. प्रियांशु ने मीडिया में उसकी खबर आने के बाद बताया था की स्कूल जाने के लिए अच्छी सड़क नहीं है. अगर उसे कृत्रिम अंग मिल जाए तो वह चल कर स्कूल जा सकती है. मीडिया में यह खबर आने के बाद जिलाधिकारी ने गंभीरता दिखाते हुए बिहार राज्य शिक्षा परियोजना के तहत बैसाखी और ट्राईसाइकिल उपलब्ध कराया.

nps-builders

कम उम्र में हो गई थी हादसे का शिकार

Advertisement

प्रियांशु बहुत ही कम उम्र में एक हादसे का शिकार हो गई थी. उस हादसे में प्रियांशु ने अपना बायां पैर गंवा दिया था. लेकिन उसने अपना हौसला नहीं खोया और प्रतिदिन एक पैर से चलकर दो किलोमीटर दूर पढ़ने के लिए स्कूल जाती है. वह बनथू श्री राम गांव के ही एक स्कूल में कक्षा पांचवी में पढ़ती है. प्रियांशु के शिक्षक भी दिव्यांग हैं और उन्होंने अपनी देखरेख में ही प्रियांशु का नि: शुल्क नामांकन करवाया है.

परिवार की खुशी का ठिकाना नहीं

Advertisement

प्रियांशु के परिवार के पास जब मदद की खबर पहुंची तो उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा. उन्हें उम्मीद जगी है कि अब आने वाले समय में 11 साल की प्रियांशु अपने दोनों पैरो से चल सकेगी. प्रियांशु के एक पैर से स्कूल जाने का वीडियो सामने आने के बाद कई लोगों ने सोनू सूद से मदद करने के लिए कहा था. और सोनू सूद मदद करने के लिए आगे भी आयें.

Source : Prabhat Khabar

Advertisement

Genius-Classes

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

Continue Reading

BIHAR

चुपके से आई यूपी की पुलिस टीम, बिहार से ले गई तीन युवकों को

Published

on

यूपी के लखनऊ में एक हत्याकांड में संलिप्तता पाए जाने के बाद एसआइटी (यूपी) की टीम ने बड़हरिया थाना क्षेत्र के अटखंबा गांव में शनिवार की सुबह तीन युवकों को गुपचुप तरीके से दबोच लिया और उन्हें अपने साथ लेकर यूपी चली गई। एसआइटी टीम में एक जवान पुलिस के वेश में था जबकि शेष सादे लिबास में थे। तीनों युवकों को हिरासत में लेकर जाने के बाद गांव में हड़कंप मच गया। गांव में चर्चाओं का बाजार गर्म था। वहीं स्वजन इस मामले में पुलिस कुछ भी नहीं बताए जाने को लेकर चिंतित हो गए।

nps-builders

यूपी की एसआइटी टीम आई थी बिहार

Advertisement

मामले में एसपी शैलेश कुमार सिन्हा ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि यूपी की एसआइटी टीम ने संपर्क किया था तीनों युवकों को पूछताछ के लिए टीम अपने साथ हिरासत में लेकर गई है। इधर घटना की सूचना जैसे ही बड़हरिया थानाध्यक्ष को हुई वह मौके पर पहुंचा कर जांच में जुट गए। गांव में लगे सीसी कैमरा की मदद से उन्होंने सभी की पहचान की। थानाध्यक्ष ने बताया कि बड़हरिया थाना क्षेत्र के अटखंमबा गांव के तीन लड़कों को सिविल ड्रेस में आई यूपी पुलिस अपने साथ लेकर चली गई। सीसीटीवी फुटेज में देखा गया कि पांच लोग सिविल ड्रेस में और एक पुलिस की वर्दी में थे। प्रारंभिक जानकारी मिली है कि लखनऊ में कुछ माह पहले किसी की हत्या हुई थी और उसी संदर्भ में तीनों की संलिप्तता पाई गई है। इसमे दो सगे भाई भी शामिल हैं। यूपी पुलिस ने जिन तीन युवकों को उठाया है उसमें मंजर इकबाल, काशिफ हसन व सरफराज अहमद शामिल है।

यूपी एसआइटी टीम ने पहले मंजर को पकड़ा

Advertisement

थानाध्यक्ष ने बताया कि फुटेज देखने से यह प्रतीत हो रहा था कि सभी यूपी की एसआइटी टीम के सदस्य थे। टीम ने पहले मंजर को पकड़ा इसके बाद सौ मीटर की दूरी पर मौजूद दोनों भाई काशिफ एवं सरफराज को पकड़ा लिया। दोनों भाई अलीगढ़ में हाफिज की पढ़ाई करते थे। लाकडाउन के समय से सिवान में थे। वहीं मंजर नोएडा में बीटेक करता है। चार दिन पूर्व सिवान आया था। बताया कि दोनों भाई पर अलीगढ़ में केस भी है। कहते हैं अधिकारी मामले में पुलिस अधीक्षक शैलेश कुमार सिन्हा बताया कि लखनऊ पुलिस आई थी। उन तीनों को लखनऊ के किसी मर्डर केस के सिलसिले में संलिप्तता पाए जाने पर अपने साथ लेकर गई है।

Source : Dainik Jagran

Advertisement

Genius-Classes

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

Continue Reading

BIHAR

बिहार : मां ने दी बेटी को मुखाग्नि, ससुराल में संदिग्ध मौत के बाद खुद ही किया अंतिम संस्कार

Published

on

गया में पहली बार एक मां ने अपनी शादीशुदा बेटी को मुखाग्नि दी। मोक्ष नगरी गयाजी के विष्णुपद स्थित श्मशान घाट पर दिल्ली में रहने वाली सावित्री देवी ने शुक्रवार की देर शाम अपनी बेटी सपना को मुखाग्नि दी। बेटी की ससुराल वालों ने हत्या कर दी थी। उसकी 3 साल की बेटी रस्म पूरा नहीं कर सकती थी तो मां ने जिम्मेदारी ली।

nps-builders

सपना के पिता की मृत्यु 8 साल पहले हो चुकी है। उसकी मां ने उसकी शादी करवाई थी।

Advertisement

6 साल पहले की थी बेटी की शादी

विष्णुपद थाना क्षेत्र के चांदचौरा मोहल्ले के रहने वाले हेमंत चौधरी उर्फ डब्बू चौधरी की शादी 6 साल पहले सपना चौधरी से हुई थी। सपना की मौत गुरुवार को हो गई थी। पुलिस ने उसके शव को हेमंत के घर से बरामद किया था।

Advertisement

सपना के गले में गहरे नीले निशान थे और बदन पर भी कई जगह चोट के निशान भी थे। बताया जा रहा है कि पति-पत्नी के बीच एक-दूसरे की केयर ना करने और मायके वालों के हस्ताक्षेप को लेकर बीते दो वर्ष से अनबन चल रही थी। सपना की मौत के समय उसकी 3 साल की बच्ची दूसरे कमरे में सो रही थी। सपना के मारे जाने की भनक उसकी मां जो दिल्ली में रहते ही उसे लग गई।

Advertisement

मां के बयान पर पति हुआ गिरफ्तार

सावित्री देवी ने अपनी बेटी की हत्या का आरोप उसके ससुराल वालों पर लगाया है। जिस पर कार्रवाई करते पुलिस ने दामाद हेमंत को गिरफ्तार कर लिया है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था। इस बीच दिल्ली से मृतका की मां सावित्री देवी भी गया पहुंच गईं। शव के पोस्टमार्टम के बाद पुलिस ने शुक्रवार को शव परिजनों को सौंपना चाहा तो मायके और ससुराल पक्ष के बीच शव को लेने और दाह संस्कार के लिए बहस शुरू हो गई।

Advertisement

बिना सिले हुए कपड़ों में बेटी को दी मुखाग्नि

अंत में मोहल्ले वालों के हस्तक्षेप के बाद शव, मृतका की मां को सौंप दिया गया। विधिवत तरीके से शव को श्मशान घाट लाया गया। जब मुखाग्नि देने की बात आई तो सावित्री ने आगे बढ़ कर कहा कि मुखाग्नि तो मैं ही दूंगी। यह सुनते ही वहां मौजूद ब्राह्मण व अन्य लोग एक क्षण के लिए चुप्पी साध गए, लेकिन दूसरे पल ही सावित्री को कहा गया कि आपके और भी बच्चे हैं।

Advertisement

उनसे मुखाग्नि दिलवा दीजिए, लेकिन सावित्री देवी नहीं मानीं। इसके बाद उन्हें बिना सिले हुए वस्त्र पहनाए गए और फिर विधिवत तरीके से अपनी बेटी को सावित्री देवी ने मुखाग्नि दी।

Source : Dainik Bhaskar

Advertisement

Genius-Classes

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

Continue Reading
Uncategorized2 hours ago

उदयपुर हत्याकांड: आरोपियों की जयपुर कोर्ट में पेशी के दौरान पिटाई

BIHAR3 hours ago

बिहार की लड़की की मदद के लिए आगे आए सोनू सूद, कहा- ‘सामान बांधिए प्रियांशु, नई शुरुआत करते हैं

BIHAR3 hours ago

चुपके से आई यूपी की पुलिस टीम, बिहार से ले गई तीन युवकों को

BIHAR6 hours ago

बिहार : मां ने दी बेटी को मुखाग्नि, ससुराल में संदिग्ध मौत के बाद खुद ही किया अंतिम संस्कार

WORLD8 hours ago

सड़क पर मिले 38 लाख रुपये, गरीबी के बावजूद वापस लौटा दिए, इसी ईमानदारी ने ज़िन्दगी बदल दी

BIHAR8 hours ago

बिहार : मंदिर से लौट रहे व्यापारी की बीच सड़क पर गोली मारकर हत्या, पत्नी जख्मी

WORLD8 hours ago

कुत्ते कब इंसान के साथी बने थे, हिमयुग के DNA ने दिया जवाब

BIHAR8 hours ago

बिहार से महिला को नौकरी के लिए दिल्ली बुलाया, ओमान ले जाकर ‘बंधक’ बनाया, पति हाईकोर्ट की शरण में

BIHAR10 hours ago

बिहार में 900 करोड़ के निवेश का आया प्रस्ताव, टेक्सटाइल और सीमेंट की लगेगी यूनिट

BIHAR10 hours ago

एक बार फिर अधूरा रह गया लालू यादव के राष्ट्रपति बनने का सपना

TECH1 week ago

अब केवल 19 रुपये में महीने भर एक्टिव रहेगा सिम

BIHAR3 days ago

विधवा बहू की ससुरालवालों ने कराई दूसरी शादी, पिता बन कर ससुर ने किया कन्यादान

BIHAR6 days ago

बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद से मदद मांगना बिहार के बीमार शिक्षक को पड़ा महंगा

BIHAR4 weeks ago

गांधी सेतु का दूसरा लेन लोगों के लिए खुला, अब फर्राटा भर सकेंगे वाहन, नहीं लगेगा लंबा जाम

BIHAR3 weeks ago

समस्तीपुर के आलोक कुमार चौधरी बने एसबीआई के एमडी, मुजफ्फरपुर से भी कनेक्शन

MUZAFFARPUR3 days ago

मुजफ्फरपुर: पुलिस चौकी के पास सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, अड्डे से आती थी रोने की आवाज

BIHAR3 weeks ago

बिहार : पिता की मृत्यु हुई तो बेटे ने श्राद्ध भोज के बजाय गांव के लिए बनवाया पुल

JOBS3 weeks ago

IBPS ने निकाली बंपर बहाली; क्लर्क, PO समेत अन्य पदों पर निकली वैकेंसी, आज से आवेदन शुरू

BIHAR1 week ago

बिहार का थानेदार नेपाल में गिरफ्तार; एसपी बोले- इंस्पेक्टर छुट्टी लेकर गया था

MUZAFFARPUR2 weeks ago

मुजफ्फरपुर समेत पूरे बिहार में सेना की अग्निपथ स्कीम का विरोध, सड़क जाम व ट्रेनों पर पथराव

Trending