Connect with us

BIHAR

आज से इमर्जेंसी सेवा के लिए सिर्फ एक नंबर- डायल 112; कॉल करते ही फौरन मिलेगी मदद

Published

on

112 services bihar police

पटना. आपातकालीन परिस्थितियों में मदद के लिए अब आपको ज्‍यादा परेशान नहीं होना पड़ेगा. बिहार में अब डायल 112 सेवा शुरू की गई है. इमर्जेंसी हालात में इस फोन नंबर पर कॉल करने पर फौरन मदद मिलेगी. मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार बिहार में बुधवार को डायल 112 की शुरुआत करेंगे. इमर्जेंसी रिस्पांस सपोर्ट सिस्टम के लिए राजवंशीनगर के पास 24 घंटे काम करने वाला कंट्रोल रूम बनाया गया है. योजना के तहत शहर के विभिन्न इलाकों में डायल 112 लिखी पुलिस की गाड़ियां अलग अलग जगहों पर पहले से मुस्तैद रहेंगी. डायल 112 6 जुलाई से काम करना शुरू कर देगा.

एंबुलेंस की जरूरत हो या फिर फायर ब्रिगेड की या फायर पुलिस को कॉल करना हो तो आपको अलग-अलग हेल्‍पलाइन नंबर्स पर कॉल नहीं करना होगा. बस आप डायल 112 पर कॉल कीजिए आपको सभी तरह की इमर्जेंसी सेवाओं में मदद मिलेगी. हालांकि, अब तक पटना समेत कुछ जिलों में ही इसका ट्रायल चल रहा था. बुधवार से इसकी विधिवत शुरुआत खुद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार करेंगे. इसे इमर्जेंसी रिस्पांस सपोर्ट सिस्टम या ईआरएसएस यानी डायल 112 कहते हैं.

Advertisement

बताते चलें की डायल 112 की सेवा का लाभ फिलहाल जिला मुख्यालय वाले शहरों को ही मिलेगा. इसके बाद धीरे-धीरे अनुमंडल और प्रखंड स्तर तक इसे ले जाने की योजना है. उद्घाटन से पहले जिला मुख्यालय वाले शहरों में डायल 112 के लिए जरूरी वाहन समेत अन्य सुविधाएं उपलब्ध करा दी गई हैं. गौरतलब है कि डायल 112 के लिए विशेष बोलेरो गाड़ियां मंगाई गई हैं जो जीपीएस समेत अन्य अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस हैं. इनमें मददगार तक पहुंचने के लिए रूट मैप देखने की भी व्यवस्था होगी.

इमर्जेंसी रिस्पांस सपोर्ट सिस्टम के लिए राजवंशीनगर के पास 24 घंटे काम करने वाला कंट्रोल रूम बनाया गया है. योजना के तहत शहर के विभिन्न इलाकों में डायल 112 लिखी पुलिस की गाड़ियां अलग अलग जगहों पर पहले से मुस्तैद रहेंगी. डायल 112 पर कॉल करते ही जरूरतमंदों को आपातकालीन परिस्थितियों में तत्‍काल मदद मिलेगी.

Advertisement

Source : News18

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

nps-builders

Genius-Classes

Advertisement
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

BIHAR

पत्नी को गैर की बाहों में देखा तो पति ने कर दी हत्या, लिखा- इसका यही अंजाम होता है

Published

on

पूर्णिया. बिहार के पूर्णिया में एक महिला की निर्मम तरीके से हत्या कर दी गई. महिला का अर्धनग्न शव उसके किराये के मकान से मिला है. मृतका का नाम कल्याणी है. घटना शहर के खजांची हाट थाना के प्रभात कॉलोनी की है. घटना की सूचना मिलते ही सदर एसडीपीओ सुरेंद्र कुमार सरोज, थाना प्रभारी अनिल कुमार समेत पुलिस बल मौके पर पहुंचे और मामले की जांच में जुट गई. घटनास्थल से पुलिस को एक नोट भी मिला है, जिसमें लिखा है कि पति के रहते दूसरे से संबंध बनाने का यही नतीजा होता है.

नीचे में नाम नीरज लिखा हुआ है. दरअसल नीरज मृतका कल्याणी के पति का भी नाम है. पुलिस को आशंका है कि पति ने ही किसी वजनदार चीज रोटी बनाने वाले तवे से सिर पर वारकर उसकी हत्या कर दी है. मृतका का मोबाइल भी पति के पास ही है. सदर एसडीपीओ सुरेंद्र कुमार सरोज ने बताया कि हत्या का शक पति पर ही है. उन्होंने कहा कि महिला कल्याणी का ससुराल बड़हरा कोठी थाना इलाके में पड़ता है. मृतका यहां पर रहकर किसी प्राइवेट एक्स-रे में काम करती थी.

Advertisement

शनिवार की शाम को उसकी सहेली जो कि मृतका के साथ ही रहती थी, जब पहुंची तो महिला कल्याणी का शव घर में देखा. उसके बाद इसकी सूचना उसने पहले घर के मालिक को दी. गृहस्वामी प्रदीप कुमार ने बताया कि महिला पिछले डेढ़ माह से उनके घर में किराये पर रहती थी. वह ऑफिस से आकर अपने घर में लेटा था तभी लड़की जो उसी कमरे में किराये पर रहती है ने उसे बताया कि कल्याणी की किसी ने हत्या कर दी है.

पुलिस ने बताया कि एक महीने पहले ही महिला के 4 साल के बेटे को उसके दादा अपने साथ घर लेकर चले गए थे. घटना के दिन महिला का पति नीरज भी यहां आया था. आशंका है कि उसी ने कल्याणी की हत्या कर दी और मोबाइल लेकर फरार हो गया है. फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है. मृतका का पति काफी दिनों से अपनी पत्नी से अलग रहता था.

Advertisement

Source : News18

nps-builders

Genius-Classes

Advertisement
Continue Reading

BIHAR

समस्तीपुर : पिस्टल से केक काटा, ड्रोन से खिंचाई फोटो,गर्लफ्रेंड से रिश्ता टूटने पर मनी ब्रेकअप पार्टी

Published

on

यूं तो आपने बर्थ डे, मैरेज एनिवर्सरी, फेयरवेल जैस कई तरह के उत्सव के माहौल पर केक काटते हुए देखा होगा. अक्सर जन्मदिन, विवाह के वर्षगांठ एवं अन्य अवसरों पर केक काटे जाते हैं और उस मौके पर उत्सवी माहौल होता है लेकिन बिहार से एक ऐसा मामला सामने आया है जहां गर्ल फ्रेंड से हुए ब्रेकअप पर केक काटा गया, जश्न मनाया गया.

 समस्तीपुर जिले में हुई ये घटना जिले के विद्यापतिनगर थाना क्षेत्र अंतर्गत मनियारपुर गांव की बतायी जा रही है. गर्लफ्रैंड से ब्रेकअप होने के बाद युवक ने बेहतर साज-सज्जा के साथ पार्टी बुलाई थी और जमकर जश्न मनाया इस दौरान डीजे की धुन पर खूब नाच गाना भी हुआ.

 मामला समस्तीपुर का है जहां हुए इस अनोखे ब्रेकअप पार्टी की तस्वीरें अब सोशल मीडिया मे वायरल हो रही है. इन तस्वीरों में  युवकों की टोली के द्वारा यहां पार्टी किसी सुनसान जगह पर लेकिन उत्सवी माहौल में किया जा रहा है, वहीं जमकर हथियार भी लहराये जा रहे हैं.

इस मौके पर जमकर नाच गाना हुए लेकिन इस ब्रेकअप पार्टी में जो सबसे खास बात रही वो ये कि युवाओं की टोली के द्वारा इस ब्रेकअप पार्टी में जो केक काटा गया उसमें चाकू की बजाय पिस्टल का प्रयोग किया गया और जमकर हथियारों का नुमाइश की गई.

Advertisement

मामला समस्तीपुर का है जहां हुए इस अनोखे ब्रेकअप पार्टी की तस्वीरें अब सोशल मीडिया मे वायरल हो रही है. इन तस्वीरों में युवकों की टोली के द्वारा यहां पार्टी किसी सुनसान जगह पर लेकिन उत्सवी माहौल में किया जा रहा है, वहीं जमकर हथियार भी लहराये जा रहे हैं.

समस्तीपुर जिले में हुई ये घटना जिले के विद्यापतिनगर थाना क्षेत्र अंतर्गत मनियारपुर गांव की बतायी जा रही है. गर्लफ्रैंड से ब्रेकअप होने के बाद युवक ने बेहतर साज-सज्जा के साथ पार्टी बुलाई थी और जमकर जश्न मनाया इस दौरान डीजे की धुन पर खूब नाच गाना भी हुआ.

Advertisement

इस दौरान पार्टी में डीजे साउंड और लाइटिंग की भी व्यवस्था की गयी थी और पूरे कार्यक्रम को ड्रोन कैमरे से भी कवर किया गया. पार्टी में दोस्तों के लिए खाने-पीने की भी व्यवस्था थी.

ये घटना कब की है, इसकी पुष्टि नहीं हो सकी है. हालांकि जानकार लोगों का बताना है कि यह मामला विद्यापति के मनियारपुर गांव का है. पार्टी के केक पर अमित एन्ड निशा ब्रेकअप डे लिखा हुआ था.

Advertisement

पार्टी की तस्वीरें वायरल होने के बाद सवाल उठता है पार्टी किसी भी तरह की हो लेकिन उस पार्टी में हथियार की नुमाइश कहां तक उचित है. मामला पुलिस तक पहुंचा है जिसके बाद पुलिस घटना की जांच कर कार्रवाई की बात कह रही है..

Source : News18

Advertisement

nps-builders

Genius-Classes

Continue Reading

BIHAR

नीतीश कुमार ने भले तोड़ा हो भाजपा से गठबंधन, हरिवंश नहीं देंगे इस्तीफा; बने रहेंगे राज्यसभा के उपसभापति

Published

on

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के साथ गठबंधन तोड़ने के जनता दल (यूनाइटेड) के फैसले ने न केवल बिहार में राजनीतिक समीकरण को बदल दिया, बल्कि पटना से लेकर दिल्ली तक के सियासी गलियारों में सरगर्मी बढ़ा दी है। इस बीच यह चर्चा हो रही है कि क्या राज्यसभा के उपसभापति और जेडीयू सांसद हरिवंश अपने पद पर बने रहेंगे या इस्तीफा देने जा रहे हैं।

JD(U)'s Harivansh reelected Rajya Sabha Deputy Chairman

हरिवंश के एक करीबी ने नाम नहीं छापने की शर्त पर न्यूज एजेंसी एएनआई को बताया कि जेडीयू नेता एक संवैधानिक पद पर हैं और जो लोग इस तरह के पद पर बैठे हैं वे अपने कर्तव्यों के निर्वहन के दौरान किसी राजनीतिक दल से संबंधित नहीं होते हैं। उन्होंने कहा, “उन्हें इस्तीफा क्यों देना चाहिए?”

Advertisement

जेडीयू ने बैठक में भी नहीं बुलाया

पटना में नीतीश कुमार द्वारा 9 अगस्त को बुलाई गई जेडीयू की बैठक में हरिवंश के शामिल नहीं होने के बारे में पूछे जाने पर राज्यसभा के उपसभापति के सहयोगी ने कहा, “उन्हें बैठक में आमंत्रित नहीं किया गया था। इसलिए वह वहां नहीं गए थे, लेकिन नीतीश कुमार के लिए उनके मन में बहुत सम्मान है।”

Advertisement

अपने पद पर बने रहेंगे हरिवेश: JDU नेता

हरिवंश को 8 अगस्त, 2018 को राज्यसभा के उपसभापति के रूप में चुना गया था। 14 सितंबर, 2020 को संसद के ऊपरी सदन में अपने दूसरे कार्यकाल के लिए लौटने के बाद उन्हें राज्यसभा के उपसभापति के रूप में फिर से चुना गया था। जेडीयू के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि हरिवंश का पार्टी से गहरा नाता है और उनके संवैधानिक पद पर बने रहने की संभावना है।

Advertisement

नीतीश के लिए भी पूरा सम्मान

जेडीयू नेता ने न्यूज एजेंसी एएनआई से कहा, “हरिवंश जी हमारे सुप्रीमो और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के लिए पूरा सम्मान और सम्मान रखते हैं, लेकिन यह भी समझना चाहिए कि राज्यसभा का सभापति एक संवैधानिक पद है और निर्वाचित व्यक्ति छह साल तक इस पद पर रहता है। इसलिए इसका कोई प्रभाव नहीं होना चाहिए। बिहार में राजनीतिक स्थिति बदलने के बावजूद उनके पद पर बने रहने की संभावना है।”

Advertisement

भाजपा ने बनाया था डिप्टी स्पीकर

बिहार के एक अन्य जेडीयू नेता ने कहा कि हरिवंश के नाम का प्रस्ताव भाजपा ने किया था और उन्हें कई दलों के समर्थन से चुना गया था। उन्होंने एएनआई को बताया, “मौजूदा राजनीतिक स्थिति में राज्यसभा के उपसभापति को उनके पद से तभी हटाया जा सकता है जब भाजपा उनके खिलाफ अविश्वास व्यक्त करे।”

Advertisement

संवैधानिक होता है उपसभापति का पद

राज्यसभा के एक पूर्व महासचिव ने नाम न छापने की शर्त पर कहा कि उपसभापति, अध्यक्ष या उपाध्यक्ष का पद संवैधानिक होता है। देश या राज्य या किसी भी राजनीतिक दल की राजनीतिक स्थिति में बदलाव के बावजूद उनके प्रभाव में कोई परिवर्तन नहीं किया जाना चाहिए।

Advertisement

उन्होंने कहा, “इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि उनकी पार्टी सत्ता में है या विपक्ष में। संवैधानिक पद पर ऐसे लोग सदन के नियम का पालन करने के लिए बाध्य हैं और संविधान उनके लिए सर्वोच्च होना चाहिए। मेरा मानना ​​है कि राज्यसभा के उपसभापति का पद गैर-राजनीतिक है।”

कई उदाहरण

Advertisement

एक उदाहरण का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि प्रोफेसर पीजे कुरियन (कांग्रेस) 21 अगस्त 2012 को राज्यसभा के उपसभापति चुने गए थे और वर्ष 2014 में लोकसभा चुनाव के बाद केंद्र में सरकार बदलने के बावजूद 1 जुलाई 2018 तक अपने पद पर बने रहे। इसके अलावा उन्होंने कहा, “नजमा हेपतुल्ला (कांग्रेस) 18 नवंबर, 1988 से 4 जुलाई, 1992, फिर 10 जुलाई 1992 से 4 जुलाई 1998 और 9 जुलाई 1998 से 10 जून 2004 तक राज्यसभा की उपसभापति रहीं। इस बीच 4 मौकों पर सरकार बदली, लेकिन वह उपसभापति के रूप में अपने कार्यालय में बनी रहीं।”

उन्होंने आगे कहा कि माकपा नेता सोमनाथ चटर्जी 4 जून 2004 को 14वीं लोकसभा के अध्यक्ष चुने गए थे। माकपा केंद्र में तत्कालीन संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (यूपीए) सरकार की सहयोगी थी। भारत-अमेरिका परमाणु समझौते के मुद्दे पर माकपा ने जुलाई 2008 में सरकार से समर्थन वापस ले लिया। हालांकि, चटर्जी ने लोकसभा अध्यक्ष का पद संभालना जारी रखा।

Advertisement

नीतीश कुमार ने बिहार में फिर बदला पाला

आपको बता दें कि नीतीश कुमार ने एक दिन पहले पद से इस्तीफा देने और भाजपा के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) छोड़ने के बाद बुधवार को रिकॉर्ड आठवीं बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। राजद नेता तेजस्वी यादव उपमुख्यमंत्री बनेंगे। बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली महागठबंधन सरकार राज्य विधानसभा में अपना बहुमत साबित करने के लिए 24 अगस्त को एक फ्लोर टेस्ट के लिए जाएगी।

Advertisement

महागठबंधन को विधानसभा में 164 सदस्यों का समर्थन प्राप्त है। नीतीश कुमार ने कांग्रेस और वाम दलों सहित महागठबंधन में राजद और अन्य दलों के साथ हाथ मिलाने से पहले मंगलवार को आठ साल में दूसरी बार भाजपा के साथ अपना गठबंधन तोड़ा। महागठबंधन को हिंदुस्तान आवाम मोर्चा (एचएएम) का भी समर्थन प्राप्त है, जिसके विधानसभा में चार विधायक हैं।

बीजेपी ने नीतीश कुमार पर बिहार की जनता द्वारा दिए गए जनादेश का अपमान करने का आरोप लगाया है। बीजेपी और जद (यू) ने 2020 में विधानसभा चुनाव एक साथ लड़ा था। नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री बनाया गया था, हालांकि बीजेपी को ज्यादा सीटें मिली थीं।

Advertisement

Source : Hindustan

nps-builders

Genius-Classes

Advertisement
Continue Reading
INDIA18 hours ago

मूसेवाला के पिता बोले- मेरे बेटे की हत्या के पीछे कुछ सिंगर और सफेदपोश, जल्द करूंगा खुलासा

INDIA19 hours ago

तलाक पर कोर्ट में समझौता, बाहर निकलते ही पत्नी की गला रेतकर हत्या की, बच्ची पर भी किया हमला

BIHAR19 hours ago

पत्नी को गैर की बाहों में देखा तो पति ने कर दी हत्या, लिखा- इसका यही अंजाम होता है

BIHAR19 hours ago

समस्तीपुर : पिस्टल से केक काटा, ड्रोन से खिंचाई फोटो,गर्लफ्रेंड से रिश्ता टूटने पर मनी ब्रेकअप पार्टी

INDIA20 hours ago

असम के मुख्यमंत्री ने आमिर खान से राज्य का दौरा स्थगित करने का आग्रह किया

BIHAR21 hours ago

नीतीश कुमार ने भले तोड़ा हो भाजपा से गठबंधन, हरिवंश नहीं देंगे इस्तीफा; बने रहेंगे राज्यसभा के उपसभापति

MUZAFFARPUR23 hours ago

महिला सिपाही कविता की गर्दन की हड्डी टूटी, गले पर गहरा निशान

INDIA23 hours ago

शेयर मार्केट किंग राकेश झुनझुनवाला का निधन, 62 साल की उम्र में ली आखिरी सांस #RakeshJhunjhunwala

BIHAR23 hours ago

बिहार का नवादा बन रहा साइबर क्राइम का हब, 1.22 करोड़ कैश के साथ 4 गिरफ्तार

INDIA1 day ago

‘उठो राजू…’ रिकवरी के लिए राजू श्रीवास्तव को सुनाई जा रही है अमिताभ बच्चन की आवाज

job-alert
BIHAR2 weeks ago

बिहार: मैट्रिक व इंटर पास महिलाएं हो जाएं तैयार, जल्द होगी 30 हजार कोऑर्डिनेटर की बहाली

BIHAR4 weeks ago

बिहार में तेल कंपनियों ने जारी की पेट्रोल-डीजल की नई दरें

BIHAR2 weeks ago

बीपीएससी 66वीं रिजल्ट : वैशाली के सुधीर बने टॉपर ; टॉप 10 में मुजफ्फरपुर के आयुष भी शामिल

BIHAR1 week ago

एक साल में चार नौकरी, फिर शादी के 30वें दिन ही BPSC क्लियर कर गई बहू

BUSINESS2 weeks ago

पैसों की जरूरत हो तो लोन की जगह लें ये सुविधा; होगा बड़ा फायदा

BIHAR1 week ago

ग्राहक बन रेड लाइट एरिया में पहुंची पुलिस, मिली कॉलेज की लड़किया

BIHAR4 weeks ago

बिहार : अब शिकायत करें, 3 से 30 दिनों के भीतर सड़क की मरम्मत हाेगी

INDIA2 weeks ago

बुढ़ापे का सहारा है यह योजना, हर दिन लगाएं बस 50 रुपये और जुटाएं ₹35 लाख फंड

BIHAR2 weeks ago

बीपीएससी 66 वीं के रिजल्ट में परफेक्शन आईएएस के 131 अभ्यर्थी सफल..

BIHAR4 weeks ago

सात समुंदर पार कर इंग्लैंड से सुल्तानगंज गंगा घाट पहुंची भोलेनाथ की दीवानी रेबेका

Trending