Connect with us

TRENDING

आज हिंदी दिवस : जब अंग्रेजी वाले सवाल पर नीरज चोपड़ा के जवाब से गूंजा भाषा का गौरव

Published

on

एक मीडिया बातचीत चल रही है. सामने नीरज चोपड़ा बैठे हैं. ओलंपिक में सोना जीतने के बाद वह नई सनसनी बने हुए हैं. सवाल उनसे ही होने हैं. सिलसिला शुरू होता है. एक रिपोर्टर की आवाज आती है. I Want to Ask…. अभी ये बात पूरी भी नहीं हो पाती है कि नीरज चोपड़ा की आवाज गूंजने लगती है. भाई, भाई भाई… हिंदी (Hindi) में पूछ ल्यो… हिंदी में जवाब दे लूंगा…

ये एक बात हिंदी भाषा की आंखों में खुशी भर देती है. उसका सिर ऊंचा कर देती है और जिस दामन को लोग पुराना मानने लगे हैं उसे फिर से उजला बना देती है. मजे की बात देखिए कि इसकी चर्चा ही नहीं है कि नीरज को इंग्लिश समझ में नहीं आती या फिर इसे बोलने में वह असहज होते हैं. बस मंच से उनकी इस गुजारिश को तुरंत मान लिया जाता है और सवालों की भाषा सेकेंड से भी कम समय में बदल जाती है. इंग्लिश वाली गिटर-पिटर को छोड़कर ठहराव और संजीदगी के साथ सवाल हिंदी में हो जाते हैं.

advertise-with-muzaffarpur-now

आजादी के बाद से ही हम हिंदुस्तानियों की दिक्कत रही है कि हम दिखावे में बहुत रहे हैं. ये दिखावा हमारे रहन-सहन में तो सबसे पहले आया. एक बारगी यहां तक तो ठीक भी रहा, लेकिन इसके बाद इसका सबसे अधिक असर हमारी भाषा पर पड़ा. लॉर्ड मैकाले की बाबू बनाने वाली शिक्षा पद्धति इसके लिए जितनी जिम्मेदार है, अंग्रेजीदां जैसा दिखने का हमारा लालच भी इसके लिए उतना ही जिम्मेदार है.

कई सालों तक आलम ये रहा कि हम भाषाई दोहरेपन में फंसे रहे. हिंदी भले ही मातृभाषा बनी रही, लेकिन हमारा लालच यही रहा कि हम अंग्रेजों जैसे दिखें. उनके जैसे दिखने को मार्केट में शालीन बताकर बेचा गया. पैसे वाले लोगों ने इसे खरीदा और यहीं से मध्यम वर्ग में एक दबाव आया कि वो भी ऐसा ही करे.

दरअसल, मध्यम वर्ग का व्यक्ति समाज का वो हिस्सा है, जो अपनी जिंदगी में हर चीज थोड़ी-थोड़ी कर लेना चाहता है. कई मामलों में वो उच्च वर्ग के आसपास जैसा दिखने की कोशिश करता नजर आता है. आज भले ही लोगों ने असलियत की ओर लौटना शुरू कर दिया है, लेकिन बीसवीं सदी के आखिरी दो और 21वीं सदी का पहला दशक ऐसी ही आपाधापी का रहा. इसी आपाधापी को भीष्म साहनी ने बहुत पहले अपनी एक कहानी ‘अहम् ब्रह्मास्मि’ में सामने रखा था.

कहानी का किरदार भाटिया, खुद तो भारतीयता को लेकर नाक-मुंह बनाता है और अंग्रेजों के मुंह से सुनकर उसी बात की प्रशंसा करता है. यही स्थिति हम सभी की हो चली है. इस स्थिति में ऐसे लोग भी शामिल हैं, जो बच्चों पर अपनी अधूरी महत्वाकांक्षा थोपते हैं. वह तो नहीं कर पाए, लेकिन उनके बच्चे अंग्रेजी में टिपिर-टिपिर करें. भारतीय घरों में इसके बड़े आसान उदाहरण मिल जाएंगे.

May be an image of 1 person, standing, footwear and outdoors

लोग अपने घुटनों चल रहे बच्चों से बोलते दिखते हैं, कम हियर, बेटा, गौ माता को काऊ, वो देखो बफेलो, अरे डॉगी आ गया. ब्रेकफास्ट, लंच, डिनर, स्पून. ये सारे शब्द बचपन से ही उनकी जिंदगी का हिस्सा बन रहे हैं. इसमें कोई बुराई नहीं है, लेकिन दुखद है कि आप इसके जरिए खुद को शालीन या कथित तौर पर एडवांस बनता हुआ दिखने की झूठी कोशिश कर रहे हैं और बाज भी नहीं आ रहे हैं. फिर हिंदी दिवस वाले एक दिन हिंदी को जबरन ही या तो कमजोर मानेंगे या जरूरत से ज्यादा ही मजबूत बताएंगे.

नीरज चोपड़ा ने ये साबित कर दिया है कि भाषा सिर्फ बात कहने-सुनने और समझने का जरिया है. उसका काबिलियत से कोई लेना-देना नहीं है. बहुत से खिलाड़ियों-अभिनेताओं (हरभजन सिंह, सहवाग, आयुष्मान खुराना, कपिल शर्मा) ने इसे साबित भी किया है. इसके बावजूद जो भी ये नहीं समझ पा रहे हैं, नीरज चोपड़ा उन्हें रोक रहे हैं. वह समाज के नए स्थापित आदर्श हैं. कम से कम उनकी बात तो सुनिए.

Source : Zee News

हेलो! मुजफ्फरपुर नाउ के साथ यूट्यूब पर जुड़े, कोई टैक्स नहीं चुकाना पड़ेगा 😊 लिंक 👏

biology-by-tarun-sir

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

TRENDING

10 हजार का सस्ता लहंगा देख कर भड़की दुल्हन, तोड़ दी शादी

Published

on

By

UTTARAKHAND : भारत में शादी के सीजन में सोशल मीडिया पर कई तरह की खबरे वायरल होती रहती हैं। ऐसा ही एक खबर उत्तराखंड से आजकल खबरों में हैं। दरअसल एक दुल्हन ने शादी करने से इसलिए इनकार कर दिया क्योंकि उसके ससुराल से 10 हजार का लहंगा आया था।

स्थानीय रिपोर्ट्स के अनुसार खबर हल्द्वानी के राजपुरा इलाके की हैं। जहां लड़की की सगाई रानीखेत के एक लड़के से तय की गई थी। लड़का मेडिकल पेशे से जुड़ा हुआ था। 5 नवंबर को शादी होनी थी।

वेडिंग कार्ड छपवाकर बांटे जा चुके थे। लेकिन जैसे ही लड़की को सस्ते लहंगे के बारे में पता चला वह भड़क उठी और शादी कैंसल कर दी। हालांकि दूल्हे के तरफ से कहा गया कि लहंगा खासतौर पर लखनऊ से मंगवाया गया हैं। लेकिन बात इतनी बढ़ गई कि मामला कोतवाली पुलिस तक पहुंच गया। वहां दोनो परिवार के बीच समझौते की कोशिश भी की गई। लड़के के पिता ने लड़की को अपना एटीएम भी दिया की तुम्हें जो लहंगा चाहिए तुम जाकर खरीद लो। लेकिन मामला शांत नही हुआ और अंत में शादी टूट गई।

nps-builders

RAMKRISHNA-MOTORS-IN-MUZAFFARPUR-CHAKIA-RAXUAL-MARUTI-

Genius-Classes

Continue Reading

TRENDING

प्यार की खातिर टीचर मीरा बनी आरव, जेंडर बदल कर स्कूल स्टूडेंट कल्पना से रचाई शादी

Published

on

By

भारत में एलजीबीटीक्यू एक्ट लागू होने के बाद से समलैंगिक रिश्ते खुलकर सामने आने लगे हैं। लोग अपनी सचाई स्वीकार करते हुए अपने प्यार को दुनिया के सामने ला रहे हैं। सामाजिक बहिष्कार व तानों को दरकिनार करके वो अपने प्यार को नाम दे रहे हैं। राजस्थान के भरतपुर से प्यार की ऐसे ही एक कहानी सामने आई हैं। जहां प्यार के खातिर एक महिला टीचर ने अपना जेंडर चेंज करा लिया।

मामला राजस्थान के भरतपुर जिले के डीग तहसील का हैं। वहां के राजकीय माध्यमिक विद्यालय नगला मोती में फिजिकल ट्रेनर और कबड्डी खिलाड़ी मीरा कुंतल ने अपनी पार्टनर कल्पना से शादी करने के लिए अपना जेंडर चेंज करवा लिया। जेंडर चेंज करवाने के बाद वह पूरी तरह से मर्द बन गई है। इन दोनो के प्रेम का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता हैं कि 25 दिसंबर 2019 से 2021 तक मीरा ने दिल्ली के एक हॉस्पिटल में अपनी जेंडर चेंज कराने की सर्जरी करवाई। इन 3 साल में कल्पना ने उसका बहुत ख्याल रखा। जेंडर चेंज करवाने के बाद अब वह मीरा से आरव बन गया है। हाल ही में 4 नवंबर को कल्पना और मीरा (आरव) ने पूरे रीति रिवाज से शादी की सात फेरे लेकर सात जन्मों के लिए एक हो गए।

nps-builders

आरव के पिता वीर सिंह के मुताबिक़ मीरा उनकी चार बेटियों में सबसे छोटी थी। बचपन से उसका स्वभाव अन्य बहनों से अलग था। मीरा नेशनल लेवल की प्लेयर रही चुकी हैं। जबकि हॉकी और क्रिकेट दोनों में हाथ आजमा चुकी है। फिलहाल वह नगला मोती विद्यालय में शारीरिक शिक्षक है। मीरा के पिता आगे बताते हैं कि मीरा यानी अब आरव को उसकी बहनें अब भाई जैसा प्यार देती हैं। बहनें उसे भी राखी बांधती हैं। जबकि भांजे भी मामा कहकर संबोधित करते हैं।

ramkrishna-motors-muzaffarpur

Genius-Classes

Continue Reading

TRENDING

गेयर बदलने के स्टाइल पर हो गई फिदा, करोड़पति महिला ने ड्राइवर से ही रचा ली शादी

Published

on

कहतें हैं जो सच्चा प्यार करता है, वह जाति-धर्म, ओहदा आदि नहीं देखता है। प्यार किसी भी उम्र में किसी को भी हो सकता है। यूं तो आपने लव अफेयर्स की कई कहानियां सुनी होंगी, लेकिन पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान से एक ऐसी कहानी सामने आई है, जो अपने आप में अलग है। इस कहानी की काफी चर्चा हो रही है।

ड्राइवर के गियर बदलने के अंदाज पर फिदा हुई अमीर मालकिन, बन गई दुल्हन -  Pakistan Rich girl married with car driver Pakistani Love story wedding  tlifws - AajTak

ramkrishna-motors-muzaffarpur

दरअसल, पाकिस्तान के अच्छे फैमिली बैकग्राउंड से आने वाली महिला को अपने ड्राइवर से प्यार हो गया और उसके पीछे वजह यह रही कि वह (ड्राइवर) जिस तरह से गाड़ी के गियर बदलता था, वह तरीका महिला को काफी पसंद आया।

‘डेली पाकिस्तान’ के साथ इंटरव्यू में महिला ने बताया कि उनके पति, जो कि एक ड्राइवर थे, उन्हें गाड़ी सिखाते थे। इसी दौरान ही वह उनके गियर बदलने के अंदाज के चलते उनके प्यार में पड़ गईं। इसके बाद दोनों ने निकाह भी कर लिया। महिला ने समझाया कि गियर बदलते समय वह जिस तरह से गियर पर हाथ हिलाता था, वह उसे बहुत पसंद आया। उन्होंने आगे बताया कि गियर बदलने के समय वह उसका हाथ भी पकड़ती थी।

जब महिला से अपने पति को एक गाना डेडिकेट करने के लिए कहा गया, तो उसने ”हम-तुम एक कमरे में बंद हों और चाबी खो जाए।” इसके बाद महिला ने गाने के कुछ बोल भी गुनगुनाए। उसके पति ने मजाक में कहा कि चाबी गुम हो गई तो महिला ने जवाब दिया कि अब तो कार भी खो गई है। इंटरव्यू में कपल काफी एक-दूसरे के साथ खुश भी दिखाई दिया।

Source : Hindustan

nps-builders

Genius-Classes

Continue Reading
BIHAR6 hours ago

दारोगा की पार्टी में मेहमान बनकर आईं दो महिला चोर, लाखों के गहने और कैश से भरा बैग उड़ाया

BIHAR8 hours ago

आर्केस्ट्रा गर्ल का वीडियो हुआ वायरल… कहा-लड़की गलत नही होती बना दी जाती हैं.. सबने धोखा दिया

BIHAR12 hours ago

17 जिलों के हवाई अड्डे होंगे अतिक्रमण मुक्त, जल्द शुरू होगा हवाई अड्डे का मापी

MUZAFFARPUR14 hours ago

मुजफ्फरपुर : डॉ. रविकांत को मिला ट्रू लीजेंड पुरस्कार

INDIA14 hours ago

निर्देश : ट्रेन के सफर में जरूरत पर दवा मिलेगी

BIHAR14 hours ago

कलयुग के श्रवण कुमार की खूब हो रही चर्चा, पिता के निधन के बाद बनाई मंदिर,11 सालों से कर रहा पूजा

BUSINESS1 day ago

घर में कितना रख सकते हैं कैश, जानिए क्या हैं इनकम टैक्स के नियम

INDIA1 day ago

पुलिस की ‘जानलेवा’ करतूत: सब्जी वाले का तराजू रेलवे ट्रैक पर फेंका, उठाने गया तो कट गए दोनों पैर

crime-news-muzaffarpur-now-india-bihar
MUZAFFARPUR1 day ago

मुजफ्फरपुर के सिविल इंजीनियर की सुंदरगढ़ में हुई हत्या

BIHAR2 days ago

बिहार बोर्ड: 11 वीं में दाखिले के लिए 15 दिसंबर तक बढ़ी रजिस्ट्रेशन की डेट

TRENDING4 weeks ago

प्यार की खातिर टीचर मीरा बनी आरव, जेंडर बदल कर स्कूल स्टूडेंट कल्पना से रचाई शादी

MUZAFFARPUR4 weeks ago

इंतजार की घड़ी खत्म: 12 साल पहले बना सिटी पार्क 15 नवंबर से पब्लिक के लिए खुलेगा

INDIA3 weeks ago

गर्लफ्रेंड शादी करना चाहती थी, प्रेमी ने उसके 35 टुकड़े किए, कई दिन फ्रिज में रखा

SPORTS3 weeks ago

खुशखबरी! टी20 वर्ल्ड कप में हार के बाद भारतीय टीम में फिर होगी धोनी की वापसी

ENTERTAINMENT3 weeks ago

‘कसौटी जिंदगी की’ एक्टर सिद्धांत वीर सूर्यवंशी का जिम में वर्कआउट करते वक्त निधन

MUZAFFARPUR4 weeks ago

सोनपुर मेले में भारी भीड़ को देखते हुए आज और कल मुजफ्फरपुर से चलेगी स्पेशल ट्रेनें

OMG4 weeks ago

पाकिस्तानी एक्ट्रेस सेहर शिनवारी का जिम्बाब्वे को ऑफर, इंडिया को हराया तो तुमसे करूंगी शादी

BIHAR3 weeks ago

भोजपुरी एक्ट्र्रेस अक्षरा सिंह की बढ़ीं मुश्किलें, पटना के घर पर पुलिस ने चिपकाया इश्तेहार

MUZAFFARPUR4 weeks ago

मुजफ्फरपुर शहर के बैंड-बाजा कलाकार लग्न में नहीं बजाएंगे अश्लील व फूहड़ गाने

VIRAL4 weeks ago

मोहब्बत की अजीब दास्तां : 83 साल की विदेशी महिला को हुआ 28 साल के युवक से इश्क़, किया निकाह

Trending