Connect with us

TRENDING

पिछले 17 साल से शख्स ने नहीं कटवाए बाल-दाढ़ी, घने जंगल के बीच रहता है एम्बेस्डर कार के अंदर

Published

on

अपनी जिंदगी में हर इंसान कभी ना कभी हर चीज से परेशान होकर अकेले रहने के बारे में जरूर सोचता है. लेकिन घर-परिवार की जिम्मेदारियों के बीच हर कोई ऐसा नहीं कर पाता. समाज और सोसाइटी में कई ऐसी चीजें होती हैं, जो हमारे दिल और दिमाग को प्रभावित करते हैं. ऐसे में सभी चीजों को छोड़कर भाग जाने का ख्याल समझ में आता है. लेकिन जिस शख्स के बारे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं उसकी जिंदगी में कुछ ऐसी घटनाएं हुई कि उसने सबकुछ छोड़कर घने जंगल में रहने का फैसला कर लिया. बीते 17 सालों से ये शख्स जंगल में अकेला  रह रहा है. आइये इसकी कहानी के बारे में आपको बताते हैं.

Meet Karnataka man who has lived out of his Ambassador car parked in the forest for 17 years

अगर आप इस शख्स से मिलना चाहते हैं तो आपको कर्नाटक के दक्षिण कन्नड़ जिले में दो गांव अड़ताले और नक्कारे के पास सुल्लिअ तालुक में मौजूद घने जंगल में जाना पड़ेगा. इसमें भी जंगल में तीन से चार किलोमीटर पैदल जाने के बाद आपको एक छोटा सा प्लास्टिक शीट से बनी झोपड़ी नजर आएगी. इसे बांस के खूँटों से बनाया गया है. इसके अंदर लगी है एक पुरानी एम्बेस्डर कार. अब खटारा हो चुकी इस कार की बोनट में एक रेडियो लगा है जो अब भी काम करता है. यही कार बीते 17 साल से चंद्रशेखर  नाम के इस शख्स का घर है. 56 साल के चंद्रशेखर दुबले-पतले, आधे बाल उड़े और बिना शेव और हेयरकट के आपको नजर आ जाएंगे.

Meet Karnataka man who has lived out of his Ambassador car parked in the forest for 17 years

बीते 17 साल से चंद्रशेखर जंगल में रह रहे हैं. इसकी ख़ास वजह है. दरअसल, सालों पहले उनके नाम डेढ़ एकड़ जमीन थी. इसी में खेती कर वो अपना गुजारा करते थे. 2003 में उन्होंने को-ऑपरेटिव बैंक से लोन लिया था. 40 हजार के इस लोन को काफी कोशिशों के बाद भी वो चुका नहीं पाए. इस वजह से बैंक ने उनकी जमीन को नीलाम कर दिया. इस बात से टूट चुके चंद्रशेखर ने अपनी बहन के घर रहने का फैसला किया. वो अपनी एम्बेस्डर कार से बहन के घर पहुंचे लेकिनव वहां कुछ समय बाद उनकी घरवालों से खटपट हो गई. बस तभी से उन्होंने अकेले रहने का फैसला किया और आज तक जंगल में अकेले रह रहे हैं.

Chandrashekar Gowda

जब चंद्रशेखर ने 17 साल पहले घर छोड़ा था, तब उनके पास दो जोड़ी कपड़े और 1 हवाई चप्पल थी. इसी के साथ वो आज भी रह रहे हैं. कार के अंदर ही वो सोते हैं. कार को पानी और धूप से बचाने के लिए उन्होंने ऊपर से प्लास्टिक कवर चढ़ा दिया है. वो पास के नदी में नहाते हैं और जंगल के पेड़ों की सूखी पत्तियों से बास्केट बनाकर पास के गांव में बेचते हैं. इससे मिले पैसों से ही वो चावल, चीनी और बाकी का राशन खरीद कर जंगल में खाना बनाते हैं. 17 साल से अकेले रह रहे चंद्रशेखर को आज भी उम्मीद है कि उनकी जमीन उन्हें वापस मिल जाएगी.

krishna-motors-muzaffarpur

चंद्रशेखर का कहना है कि ये कार ही उनकी दुनिया है. इसके अलावा उनके पास एक साइकिल है, जिससे वो पास के गांव में आते-जाते हैं. जंगल में कई बार हाथियों ने उनके घर पर अटैक किया लेकिन इसके बाद भी वो वहीं रह रहे हैं. उन्होंने बताया कि वो जंगल में किसी तरह के पेड़ को नहीं काटते. बास्केट बनाने के लिए भी वो सूखे पत्ते और लकड़ियों का इस्तेमाल करते हैं. इस वजह से फॉरेस्ट डिपार्टमेंट को भी इनसे कोई दिक्कत नहीं है. चंद्रशेखर के पास आधार कार्ड नहीं है लेकिन अरणथोड ग्राम पंचायत के सदस्यों ने आकर उन्हें कोरोना वैक्सीन दे दी थी. चंद्रशेखर का कहना है कि लॉकडाउन का समय उनके लिए काफी मुश्किल था. कई-कई महीने उन्होंने जंगली फल खाकर बिताए थे. लेकिन इसके बावजूद वो जंगल में ही रहे. उनकी जिद्द है कि जबतक उन्हें उनकी जमीन वापस नहीं मिलेगी, तब तक वो जंगल में ही रहेंगे.

Source : News18

हेलो! मुजफ्फरपुर नाउ के साथ यूट्यूब पर जुड़े, कोई टैक्स नहीं चुकाना पड़ेगा 😊 लिंक 👏

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

TRENDING

गांव-गांव जाकर धड़ाधड़ फैसले सुना आईएएस अफसर प्रेम प्रकाश मीणा, खेतों से शेयर कीं फोटोज

Published

on

उत्तर प्रदेश के एक आईएएस अफसर की पहल इन दिनों काफी चर्चा में है. आईएएस अफसर प्रेम प्रकाश मीणा इन दिनों चंदौली में बतौर ज्वॉइंट मजिस्ट्रेट तैनात हैं और ‘न्याय आपके द्वार’ पहल चला रहे हैं. इस पहल के तहत वह खुद मौके पर जाकर संपत्ति विवाद, अतिक्रमण समेत अनेक समस्याओं का समाधान करते हैं.

Image

राजस्थान के अलवर जिले के रहने वाले आईएएस अफसर प्रेम प्रकाश मीणा जयपुर से केमिकल इंजीनियरिंग में ग्रेजुएट हैं. उन्होंने आईआईटी बॉम्बे से एम.टेक की पढ़ाई की है. उन्होंने करीब एक दशक तक अंतरराष्ट्रीय तेल और गैस कंपनियों में भी काम किया. 2015 में वह वापस लौटे और यूपीएसएसी की तैयारी शुरू कर दी.

Image

प्रेम प्रकाश मीणा ने पहले प्रयास में सफलता हासिल की और यूपीएससी में 900वीं रैंक मिली. इसके बाद उन्होंने दूसरा प्रयास किया और 102वीं रैंक हासिल की. उन्हें उत्तर प्रदेश कैडर आवंटित किया गया. उन्होंने बस्ती में एक प्रोबेशनर के तौर पर अपनी ट्रेनिंग पूरी की. फिर उनकी तैनाती हाथरस में बतौर एसडीएम हुई.

Image

‘ न्याय आपके द्वार’ पहल की शुरुआत

इन दिनों आईएएस अफसर प्रेम प्रकाश मीणा चंदौली में बतौर ज्वॉइंट मजिस्ट्रेट तैनात हैं और विवाद निपटाने के लिए ‘न्याय आपके द्वार’ चला रहे हैं.

Image

न्याय आपके द्वार के तहत आईएएस प्रेम प्रकाश मीणा मौके पर पहुंचते हैं और स्थलीय निरीक्षण करके लोगों को न्याय दिलाने की कोशिश करते हैं. ट्विटर पर उन्होंने कई ऐसे वाक्ये शेयर किए हैं, जहां वो मौके पर पहुंचे और लोगों को न्याय दिलाया.

यू-ट्यूब चैनल भी चलाते हैं प्रेम प्रकाश

‘न्याय आपके द्वार’ पहल से आईएएस प्रेम प्रकाश मीणा अब तक 800 विवादों का निपटारा कर चुके हैं. यू-ट्यूब के जरिए भी उन्होंने 2020 में ग्राम पंचायतों, अतिक्रमण वाली जगहों के निरीक्षण और संपत्ति विवादों के निपटारे से जुड़े वीडियो बनाने शुरू किए. उनके 29,000 के करीब सब्सक्राइबर हो चुके हैं और इस पर 160 वीडियो हैं.

आईएएस प्रेम प्रकाश मीणा अपने यू-ट्यूब चैनल के जरिए विवादों के निपटारे के टिप्स देने के साथ यूपीएससी तैयारी के भी टिप्स देते हैं. उनका कहना है कि मैंने बिना किसी कोचिंग के यूपीएससी क्रैक किया, दूसरे भी कर सकते हैं, उन तक पहुंचने के लिए ही मैंने वीडियो बनाना शुरू किया.

Source : Aaj Tak

हेलो! मुजफ्फरपुर नाउ के साथ यूट्यूब पर जुड़े, कोई टैक्स नहीं चुकाना पड़ेगा 😊 लिंक 👏

krishna-motors-muzaffarpur

Continue Reading

TRENDING

5.6 करोड़ के नोटों से सजाया मां दरबार; 7 किलो सोने, 60 किलो चांदी के जेवर भी

Published

on

आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में नवरात्रि के अवसर पर माता के मंदिर को करोड़ों रुपयों के नए नोटों से सजाया गया. तेलंगाना और आंध्र प्रदेश में नवरात्रि और दुर्गा पूजा के अवसर पर माता के मंदिरों को भव्य तरीके से सजाया जाता है. दोनों राज्यों में कन्यका परमेश्वरी देवी मां की भक्ति में लोग रुपये, सोना, चांदी जैसे तरह तरह की चीजें चढ़ावे के तौर पर देते हैं, नवरात्रि के अवसर पर इन रुपयों से मंदिर को आकर्षक रूप से सजाया गया है.

इसी तरह आंध्र प्रदेश के नेल्लूर जिले में भी कन्यका परमेश्वरी देवी की मंदिर में नए नोटों और सोना, चांदी से भव्य रूप से सजाया गया. नवरात्रि और दुर्गा पूजा के अवसर पर नेल्लूर शहर के स्टोन हाउसपेटा इलाके में स्थित कन्यका परमेश्वरी देवी की मंदिर में माता को धनलक्ष्मी के रूप में सजाया गया. इस दौरान माता को और माता के मंदिर को चढ़ावे के रूप में मिले नए नोटों से सजाया गया. इन नोटों की कीमत 5 करोड़ 16 लाख है, जिसमें 2000, 500रु, 200, 100, 50 और 10 रुपए के नए नोट शामिल हैं. इन नोटों से अलग-अलग तरीके के सुंदर फूल, तरह तरह के माला बनाए गए और माता को भव्य रूप से सजाया गया. नोटों से बनी इन सभी सजावटों को मंदिर की दीवारों पर लटकाया गया.

नोटों से की गयी भव्य सजावट

मंदिर में देवी की मूर्ति को और मंदिर की दीवारों को नए नोटों से सजाया गया. मंदिर की दीवार पर लटकटे इन नए-नए नोटों से मंदिर की छटा देखते ही बन रही है. कन्यका परमेश्वरी देवी मंदिरों की सजावट देखने आने वाले लोग इसकी भव्यता देखकर दंग रह हो रहे हैं. यहां मंदिर में हर साल लाखों रुपयों का चढ़ावा होता है और इन रुपयों से मंदिर को आकर्षक रूप से सजाया जाता है. इसी तरह तेलंगाना के महबूबनगर जिले में कन्यका परमेश्वरी देवी की मंदिर में 4.44 करोड़ कीमत के नोटों से सजाया गया. ऐसे ही जोगुलम्बा गद्दवाल जिले में भी कन्यका परमेश्वरी देवी की मंदिर में 3.51 करोड़ रुपये की नयी करेंसी से माता के मंदिर को सजाया गया.

हेलो! मुजफ्फरपुर नाउ के साथ यूट्यूब पर जुड़े, कोई टैक्स नहीं चुकाना पड़ेगा 😊 लिंक 👏

krishna-motors-muzaffarpur

Continue Reading

TRENDING

अमिताभ बच्चन ने पान मसाला ब्रांड का एड छोड़ा, पूरी फीस भी लौटाई… हो रहे थे ट्रोल

Published

on

बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन कुछ समय पहले एक पान मसाला एड करने के चलते सोशल मीडिया पर खूब ट्रोल हुए थे और उन्हें इस एड को करने के लिए काफी टारगेट किया गया था. एक्टर ने इस पर खास प्रतिक्रिया नहीं दी थी मगर अब इस मामले में अमिताभ बच्चन ने एक्शन ले लिया है. उन्होंने इस एड से अपना नाम वापस ले लिया है. एक्टर ने इसकी वजह बताते हुए कहा है कि वे ऐसा इसलिए कर रहे हैं ताकि इससे नई पीढ़ी को पान मसाला का सेवन करने के लिए मोटिवेशन ना मिले. उन्होंने इस विज्ञापन के लिए मिली फीस भी वापस कर दी है.

Amitabh Bachchan Replies To A Fan Who Questioned Him On Endorsing Pan Masala

कमला पसंद एड से अमिताभ ने वापस लिया नाम

अमिताभ बच्चन ने कमला पसंद का एड किया था जिसके बाद इसे लेकर कई सारे लोगों ने आपत्ति जताई थी. लोगों का ऐसा मानना था कि देश की सीनियर मोस्ट पर्सनैलिटी होने के नाते अमिताभ बच्चन को ऐसे विज्ञापन नहीं करने चाहिए. नेशनल एंटी-टोबैको ऑर्गेनाइजेशन ने भी अमिताभ बच्चन से रिक्वेस्ट की थी कि बिग बी इस एड से अपना नाम वापस ले लें.

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Amitabh Bachchan (@amitabhbachchan)

लोगों ने सोशल मीडिया पर किया ट्रोल

इसके अलावा मामले में अमिताभ बच्चन के कुछ फैंस भी गुस्से में थे और उन्हें सुपरस्टार का ये मूव अच्छा नहीं लगा था. अब अमिताभ की तरफ से ऑफिशियल स्टेटमेंट जारी कर दिया गया है. इसी बीच अमिताभ बच्चन से एक फैन ने पान मसाला का एड करने पर सवाल भी किया था. इसके जवाब में अमिताभ ने कहा था कि- ‘अगर किसी संस्था को इससे फायदा हो रहा है तो फिर हमें ऐसे नहीं सोचना चाहिए कि हम ये क्यों कर रहे हैं. जैसे हम लोगों की इंडस्ट्री चलती है वैसे ही उनकी इंडस्ट्री भी चलती है. आपको ऐसा लगता है कि मुझे ये नहीं करना चाहिए लेकिन मुझे इसके लिए फीस मिली है.’

स्टेटमेंट में बिग बी ने कही ये बात

स्टेटमेंट की मानें तो- कमला पसंद, कमर्शियल के ऑनएयर होने के कुछ दिन बाद, अमिताभ बच्चन ने इस ब्रैंड के साथ कॉन्ट्रैक्ट किया था जो उन्होंने पिछले हफ्ते खत्म कर दिया है. ऐसा इसलिए किया गया है कि जब मिस्टर बच्चन ने इस एड से जुड़ने का फैसला किया था उस दौरान उन्होंने इस बात का इल्म नहीं था कि इस तरह के विज्ञापन सैरोगेट एडवरटाइजमेंट की कैटेगरी में आते हैं. बाद में अमिताभ बच्चन ने इस एड से अपना नाम वापस ले लिया और इस ब्रैड के प्रमोशन के लिए उन्होंने जो फीस ली थी वो भी वापस कर दी.

Source : Aaj Tak

हेलो! मुजफ्फरपुर नाउ के साथ यूट्यूब पर जुड़े, कोई टैक्स नहीं चुकाना पड़ेगा 😊 लिंक 👏

krishna-motors-muzaffarpur

Continue Reading
WORLD11 hours ago

सूअर की किडनी को मानव शरीर से जोड़ा, करने लगी काम, वैज्ञानिकों का सबसे बड़ा चमत्कार

INDIA12 hours ago

मुस्लिम में निकाह एक कॉन्ट्रैक्ट है, हिंदू विवाह के तरह संस्कार नहीं- कर्नाटक हाईकोर्ट

BIHAR12 hours ago

मुकेश सहनी ने तेजस्वी को दी चुनौती, कहा- मछली पकड़ना है तो ब्रांडेड जूते उतार कर तालाब में उतरिये, फिर…

BIHAR15 hours ago

इतिहास : पीएम मोदी से लेकर आमिर खान तक, चिट्टी चोखा की फैन हैं बड़ी हस्तियां

BIHAR15 hours ago

दरभंगा एयरपोर्ट पर अगले दो-तीन महीने में मौसम खड़ी कर सकती मुश्किलें

BIHAR15 hours ago

नेपाल में लगातार बारिश से कोसी आक्रामक, 43 फाटक खोलने के बाद अलर्ट पर प्रशासन

INDIA15 hours ago

आर्यन खान को कोर्ट से झटका, तीनों आरोपियों की जमानत याचिका खारिज

ramnath-kovind-nitish-kumar
BIHAR17 hours ago

बिहार विधानसभा भवन शताब्‍दी समारोह के लिए पटना पहुंचे राष्‍ट्रपति रामनाथ काेविंद

VIRAL18 hours ago

मौसम का हाल बताते-बताते न्यूज चैनल पर चलने लगा अश्लील वीडियो, बेखबर एंकर पढ़ती रही खबर

BIHAR19 hours ago

बिहार के भाजपा विधायक हरिभूषण ने दिया बड़ा बयान-जल्‍द होगी एक और एयरस्‍ट्राइक

BIHAR4 weeks ago

बिहार: पिता की थी छोटी सी खैनी की दुकान, ट्यूशन पढ़ा करते थे पढ़ाई, अब UPSC में पाई दूसरी बार सफलता

BIHAR3 weeks ago

घर तक आती थी ट्रेन और निजी प्लेन, दरभंगा महराज के राज- ठाठ की कहानी –

BIHAR3 weeks ago

खुशखबरी: पटना चिड़‍ियाघर में आज से नहीं लगेगा प्रवेश शुल्‍क

BIHAR3 weeks ago

नई सौगात भागलपुर, बक्‍सर, दरभंगा, हाजीपुर और सिवान को होगा फायदा – पांच नए हाइवे का होगा ऐलान

BIHAR3 weeks ago

जल्द बंद होगा बरौनी और कांटी थर्मल पावर स्टेशन, दोनो थर्मल पावर से बिहार को मिल रही है 330 मेगावाट बिजली

BIHAR4 weeks ago

बिहार में अब बिल्कुल अलग अंदाज में मिलेगा बिजली के बकाया बिल का रिमाइंडर

BIHAR4 weeks ago

बिहार के सभी घरों में नजर आएंगे स्मार्ट प्रीपेड मीटर

INDIA4 weeks ago

यू ही नहीं बिहार को कहा जाता आई.ए.एस फैक्ट्री कटिहार का शुभम बना UPSC टॉपर

BIHAR3 weeks ago

पारले जी बिस्कुट नहीं खाने से होगी अनहोनी, अफ़वाह के बाद बिस्कुट आउट ऑफ स्टॉक

BIHAR3 weeks ago

बिहार के 8 जिलों में कल से शुरू होगा बालू खनन, उचित कीमत पर मिलेगा बालू

Trending