Connect with us
leaderboard image

INDIA

आख़िर कब तक हम खोते रहेंगे अपनों को? कब लौट कर आएँगे वो जो छोड़ गए हैं अपने अपनों को अधूरे वादों के साथ?

Anu Roy

Published

on

उदासी का मंज़र ही रहा होगा फ़्लाइट लेफ़्टिनेंट संध्या के लिए जब उन्होंने अपनी आँखों के सामने से अपने महबूब को जंगल में खोते देखा होगा. दिल डूबने लगा होगा उनका सामने लगी स्क्रीन कि रडार से An-32 एरक्राफ़्ट के सिग्नल को ग़ायब होता देख.

Image may contain: 1 person, smiling, aeroplane, sky, outdoor and nature

ये किसी फ़िल्म का सीन नहीं हक़ीक़त है. पिछले सोमवार को जब 12:30 बजे जब एयरफ़ोर्स का रसियन मेड एयरक्राफ़्ट उड़ान भरा तब उसमें 8 क्रू-मेंबर थे और 5 सिविलियन. उन्हीं 8 क्रू-मेम्बर में लेफ़्टिनेंट तंवर की वाइफ़ ग्राउंड ड्यूटी पर थी. जो सिग्नल रीड कर रही थी. लापता होने से पहले आख़िरी सिंग्नल एक बजे मिला था उस एयरक्राफ़्ट का. उसके बाद वो खो गया अरुणाचल प्रदेश के घने जंगलों में.

Families worried

आज चार दिन बीत चुके हैं. अभी तक कोई ख़बर नहीं मिली है उस विमान की और न उनमें सवार लोगों की. एयरफ़ोर्स अपनी तरफ़ से ढूँढने की तमाम कोशिश कर रहा मगर हासिल अभी तक कुछ भी नहीं हुआ है.

वैसे भी ग़ायब होने की ये कोई पहली घटना नहीं है. 2016 में भी An-32 ग़ायब हो गया था. आज तक उसकी ख़बर कहाँ आयी है. कहाँ कुछ भी पता चल पाया उस पर सवार जाँबाज़ पायलटों के बारे में.

अख़बार के दूसरे-तीसरे पन्नें पर उनके लापता होने की ख़बर कभी छपी थी. जैसे आज इस एयरक्राफ़्ट के लिए छप रही. धीरे-धीरे छपना बंद हो जाएगा. लोग भूल जाएँगे. दूसरे विमान के लापता होने तक.

कोई नहीं समझ सकता उन परिवारों का दुःख जिनके अपने उन विमानों के साथ खो गए. जिनके अपने लौटने का वादा करके तो गये थे पर कभी लौटे ही नहीं. माँ-बाप बूढ़ी होती आँखों में इंतज़ार लिए कभी प्रधानमंत्री को चिट्ठियाँ लिखते हैं तो कभी एयरफ़ोर्स को. कोई जवाब नहीं आता उनके लिए. वो आँखों में इंतज़ार लिए इस दुनिया से चले जाते हैं.

चुनाव के समय जवानों के नाम पर प्रधानमंत्री मोदी जी वोट माँगते नज़र आए थे. अब वक़्त है कि वो चुने जा चुके हैं तो एयरफ़ोर्स के इन कबाड़ी विमानों को हटा नए एयरक्राफ़्ट मँगवाए. रूस और बाक़ी के देशों से उड़ता काफ़ीन ख़रीद कर हमारे जवानों को मौत के मुँह में न ढकेले.

देश के लिए ये जवान सिर्फ़ एक व्यक्ति भर होता है. जिसके जीने मरने से किसी को कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता. मगर वो एक जवान अपनी महबूबा की पूरी दुनिया, माँ-बाप के लिए जीने का सहारा और अपने बच्चों का पिता, उनका हीरो होता है.

अब वक़्त आ गया है कि इन जाँबाज़ एयर-फ़ोर्स के पायलटों के बारे में सोचा जाए. उनकी सुरक्षा के लिए ज़रूरी क़दम उठाए जाएँ.

 

INDIA

राजस्थान की सुमन राव बनीं फेमिना मिस इंडिया 2019

Avatar

Published

on

56वें फेमिना मिस इंडिया 2019 का फैसला हो चुका है. राजस्थान की सुमन राव ने ये ताज हासिल किया. 22 साल की सुमन ने अनुकृति वास के बाद अब ये खिताब जीता है. सुमन चार्टेड अकाउंटेंट की तैयारी कर रही थीं. सुमन ने ये खिताब जीतकर अपना सपना सच किया है.

सुमन का कहना है कि वो जिंदगी में उन चीजों को करने की भी हिम्मत रखती हैं जिन्हें लोग अनिश्चित मानते हैं. सुमन जीवन में अपने माता-पिता से बेहद प्रभावित हैं. मिस इंडिया 2019 का खिताब जीतने वाली सुमन का कहना है कि ये उनके लिए सबसे बड़ी उपलब्धित है. बता दें कि साल 2019 में मिस इंडिया का खिताब जीतने वाली सुमन साल 2018 में ताज से चूक गई थीं. पिछले साल वह पहली रनर अप रही थीं.

ये कार्यक्रम मुंबई के सरदार वल्लभ भाई पटेल इनडोर स्टेडियन में हुआ. इस कार्यक्रम में बॉलीवुड स्टार कटरीना कैफ, विक्की कौशल, मौनी रॉय और नोरा फतेही मौजूद थे. इनके अलावा हुमा कुरैशी, दिया मिर्जा और चित्रांगदा सिंह ने इस शानदार शाम की शोभा बढ़ाई.

फेमिना मिस इंडिया की जीत के बाद अब सुमन का अगला पड़ाव मिस वर्ल्ड इवेंट होगा. सुमन इस रेस में भारत की तरफ से हिस्सा लेंगी. सुमन के अलावा कुछ और नाम इस इवेंट में चर्चा में रहे. तेलंगाना की संजना विज फर्स्ट रनरअप रहीं. बिहार की श्रेया शंकर ने मिस इंडिया यूनाइडेड कॉन्टिनेंट 2019 का खिताब जीता. छत्तीसगढ़ की शिवानी जाधव ने मिस ग्रैंड इंडिया 2019 का खिताब जीता.

फेमिना मिस इंडिया 2019 प्रतियोगिता में 30 कंटेस्टेंट्स ने हिस्सा लिया था. खूबसरती और टैलेंट से भरी इस शाम को करन जौहर, मनीष पॉल और पूर्व मिस वर्ल्ड और मिस इंडिया मानुषी छिल्लर होस्ट ने होस्ट किया.

Input : News18

Continue Reading

BIHAR

अगर आप भी बिना डोनेशन विदेश में MBBS करना चाहते हैं तो ये ख़बर आपके लिए

Ravi Pratap

Published

on

अब डॉक्टर बनना हुआ आसान! क्रिगिस्तान, युक्रेन और रुस के प्रतिष्ठित मेडिकल कॉलेजों में एमबीबीएस/बीडीएस सीट पर बिना डोनेशन एडमिशन पाएं। डायरेक्ट एडमिशन पाने के लिए शीघ्र संपर्क करें एशियन मेडिकल इंस्टीट्यूट के छात्रसंघ के नेता मुजफ्फरपुर के अभिषेक कुमार नागर से।

अभिषेक कुमार नागर

Continue Reading

INDIA

आधार नियम संशोधन विधेयक को कैबिनेट की मंजूरी, अब संसद में होगा पेश

Avatar

Published

on

मंत्रिमंडल ने बैंक खाता खोलने तथा मोबाइल फोन कनेक्शन लेने के लिये आधार के स्वैच्छिक उपयोग की अनुमति देने को लेकर बुधवार को एक संशोधन विधेयक को मंजूरी दे दी। इस संशोधन के बाद किसी अन्य कानून की बाध्यता नहीं होने पर व्‍यक्ति को अपनी पहचान साबित करने के लिये आधार देने के लिए बाध्‍य नहीं किया जा सकेगा।
आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल की बैठक में ‘आधार तथा अन्य कानूनों में (संशोधन) के विधेयक, 2019’ को मंजूरी दी गयी। इसमें नियमों के उल्लंघन पर कड़ा जुर्माना लगाने का प्रावधान किया गया है।

इस संशोधन विधेयक को संसद के 17 जून से शुरू सत्र में पेश किया जाएगा

यह विधेयक आधार कानून 2016 तथा अन्य कानून में संशोधन के रूप में होगा और मार्च 2019 में जारी अध्यादेश का स्थान लेगा। इस संशोधन विधेयक को संसद के 17 जून से शुरू सत्र में पेश किया जाएगा। संशोधन में आधार कानून के प्रावधानों के उल्लंघन को लेकर इकाइयों पर एक करोड़ रुपये तक का दिवानी जुर्माना लगाने का प्रस्ताव किया गया है। अगर लगातार नियमों का अनुपालन नहीं किया जाता है तो प्रतिदिन 10 लाख रुपए तक के अतिरिक्त जुर्माना लगाया जाएगा। आधार के लिए अनुरोध करने वाली इकाइयों या भौतिक रूप से सत्यापन के मामले में आधार का अनाधिकृत उपयोग दंडनीय है। इसके लिये 10,000 रुपए तक के जुर्माने के साथ तीन साल तक कारावास का प्रावधान है। कंपनी के मामले में यह र्जुमाना 1 लाख रुपये तक है। अनाधिकृत तरीके से सेंट्रल आइडेन्टिटीज डोटा रिपोजिटीरी’ तक पहुंच के साथ डाटा से छोड़छाड़ के लिये मौजूदा तीन साल से 10-10 साल की सजा का प्रावधान है।

आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार, ‘‘इस निर्णय से यूआईडीएआई (भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण) लोगों के हितों के अनुरूप एक मजबूत प्रणाली बनाने में सक्षम होगा और इससे आधार के दुरुपयोग को कम करने में सहायता मिलेगी। इस संशोधन के बाद यदि संसद द्वारा पारित किसी कानून की बाध्‍यता न हो तो किसी व्‍यक्ति को अपनी पहचान साबित करने हेतु आधार नम्‍बर प्रस्‍तुत करने के लिए बाध्‍य नहीं किया जा सकेगा।’’ इसमें कहा गया है, ‘‘प्रस्‍तावित संशोधन लोगों की सुविधा के लिये बैंक खाते खुलवाने में आधार के उपयोग को मान्‍यता देता है परंतु बैंक को आधार नम्‍बर देना स्‍वैच्छिक होगा। टे‍लीग्राफ अधिनियम, 1885 तथा धन शोधन निवारण अधिनियम, 2002 के त‍हत बैंक इसे केवाईसी दस्‍तावेज के रूप में स्‍वीकार कर सकते हैं।’’ इसका मतलब है कि इसमें बैंक खाता खोलने तथा मोबाइल फोन कनेक्शन लेने के लिये सत्यापन और पहचान पत्र के रूप में आधार के स्वैच्छिक उपयोग की अनुमति होगी।

केवल संस्‍थानों को सत्‍यापन करने की अनुमति दी गयी है

विज्ञप्ति के अनुसार इस निर्णय से आधार, लोगों के लिए अधिक सुविधाजनक और उपयोगी सिद्ध होगा। प्रस्‍तावित संशोधन राष्‍ट्रपति द्वारा 2 मार्च, 2019 को घोषित अध्‍यादेश के प्रावधानों के अनुरूप है। प्रस्तावित बदलाव के तहत व्‍यक्ति स्‍वेच्‍छा से प्रमाणन या सत्‍यापन के लिए भौतिक रूप से अथवा इलेक्‍ट्रानिक रूप में आधार नम्‍बर का उपयोग कर सकता है। इसमें आधार के वैकल्पिक वर्चुअल पहचान के उपयोग की सुविधा दी गयी है ताकि व्‍यक्ति के वास्‍तविक आधार नम्‍बर को गुप्‍त रखा जा सके।

विज्ञप्ति के अनुसार इसमें केवल संस्‍थानों को सत्‍यापन करने की अनुमति दी गयी है बशर्ते वे प्राधिकरण द्वारा निर्दिष्‍ट निजता और सुरक्षा के मानकों का अनुपालत करते है। इसके तहत किसी व्यक्ति को अपनी पहचान के लिए अपने पास आधार नंबर होने का प्रमाण देने या उस काम के लिए आधार सत्यापन की प्रक्रिया पूरी करने लिए विवश नहीं किया जा सकता जब तक कि संसद द्वारा पारित किसी कानून में ऐसा कोई प्रावधान हो। संशोधन विधेयक में निजी संस्‍थानों द्वारा आधार के उपयोग से संबंधित आधार अधिनियम की धारा 57 को हटाने का प्रस्‍ताव है। यदि आधार नम्‍बर का सत्‍यापन नहीं हो पाता है तो ऐसी स्थिति में भी किसी व्‍यक्ति को सेवा से वंचित नहीं किया जा सकता। साथ ही इसमें· भारतीय विशिष्‍ट पहचान प्राधिकरण कोष स्‍थापित करने का प्रस्‍ताव है।

Continue Reading
Advertisement
Advertisement
BIHAR6 hours ago

चमकी बुखार ने छीन ली इस गांव के 11 मासूमों की जिंदगी, जानें…

MUZAFFARPUR9 hours ago

रिसर्च के नाम पर बिहार की शाही लीची बदनाम हो गई

BIHAR9 hours ago

बच्चों की मौत पर सवाल पूछा तो भड़के सुशील मोदी, कहा-ये प्रेस कांफ्रेंस चमकी बुखार के लिए नहीं

MUZAFFARPUR11 hours ago

मुजफ्फरपुरः AES को लेकर डीएम ने की सभी अधिकारियों की छुट्टी रद्द, गांवों में कैंप करने का निर्देश

BIHAR11 hours ago

बिहार में 8 हजार सहायक प्रोफेसर की होगी बहाली, जुलाई महीने से शुरू होगी प्रक्रिया

BIHAR11 hours ago

बिहार में चमकी बुखार का कहर, इससे घबराने की जरूरत नहीं, जानिए

BIHAR11 hours ago

तेजस्वी को खोजिये मत, शायद वर्ल्ड कप देखेने गये हैं…रघुवंश बाबू तो यही कह रहे हैं

MUZAFFARPUR1 day ago

बिहार में AES से 143 की मौत: SC में जनहित याचिका दायर, CM नीतीश व डॉ. हर्षवर्धन पर भी मुकदमा

MUZAFFARPUR1 day ago

Bigg Boss के घर से शुरू हुई लड़ाई पहुंची थाने, दीपक ठाकुर के मजाक पर भड़कीं जसलीन मथारू ने दर्ज कराई शिकायत

BIHAR1 day ago

बिहार में चमकी बुखार से 112 की मौत, सुप्रीम कोर्ट में सोमवार को होगी सुनवाई

TRENDING2 weeks ago

पिता बनना चाहते थे IAS लेकिन बन नहीं पाए, फिर बेटी पढ लिखकर IAS बनी और पूरा किया पिता का सपना

RELIGION4 weeks ago

इसी जगह पर हुई थी भगवान शिव और देवी पार्वती की शादी, आज भी मौजूद हैं 6 निशानियां

MUZAFFARPUR2 weeks ago

मुज़फ़्फ़रपुर में फिर दहेजलोभी ससुरालवालों ने ली एक विवाहिता की जान

BIHAR2 weeks ago

बिहार में दरोगा बनने का सपना देख रहे अभ्यर्थियों का सपना होगा पूूरा , 3500 पदों पर भर्ती शुरू

INDIA3 weeks ago

गर्मी से राहत के लिए सरकार उपलब्‍ध कराएगी सस्‍ता AC, बिजली का बिल भी आएगा कम

BIHAR1 week ago

बिहार में माता-पिता की सेवा नहीं करने वालों को होगी जेल

BIHAR3 weeks ago

बिहार में भी बसा है छोटा सा कश्मीर

INDIA2 weeks ago

प्राइवेट नौकरी वालों की हालत मजदूरों से भी बदतर, NSSO के रिपोर्ट में हुआ खुलासा

BIHAR3 weeks ago

PM मोदी सरकार से JDU का किनारा, बिहार में गरमाई सियासत; HAM बोला- हमारे साथ आइए

BIHAR3 weeks ago

बिहार की बेटी बनी जेट फाइटर प्लेन MiG-21 उडा़ने वाली देश की पहली महिला पायलट

Trending

0Shares