आख़िर कब तक हम खोते रहेंगे अपनों को? कब लौट कर आएँगे वो जो छोड़ गए हैं अपने अपनों को अधूरे वादों के साथ?
Connect with us
leaderboard image

INDIA

आख़िर कब तक हम खोते रहेंगे अपनों को? कब लौट कर आएँगे वो जो छोड़ गए हैं अपने अपनों को अधूरे वादों के साथ?

Anu Roy

Published

on

उदासी का मंज़र ही रहा होगा फ़्लाइट लेफ़्टिनेंट संध्या के लिए जब उन्होंने अपनी आँखों के सामने से अपने महबूब को जंगल में खोते देखा होगा. दिल डूबने लगा होगा उनका सामने लगी स्क्रीन कि रडार से An-32 एरक्राफ़्ट के सिग्नल को ग़ायब होता देख.

Image may contain: 1 person, smiling, aeroplane, sky, outdoor and nature

ये किसी फ़िल्म का सीन नहीं हक़ीक़त है. पिछले सोमवार को जब 12:30 बजे जब एयरफ़ोर्स का रसियन मेड एयरक्राफ़्ट उड़ान भरा तब उसमें 8 क्रू-मेंबर थे और 5 सिविलियन. उन्हीं 8 क्रू-मेम्बर में लेफ़्टिनेंट तंवर की वाइफ़ ग्राउंड ड्यूटी पर थी. जो सिग्नल रीड कर रही थी. लापता होने से पहले आख़िरी सिंग्नल एक बजे मिला था उस एयरक्राफ़्ट का. उसके बाद वो खो गया अरुणाचल प्रदेश के घने जंगलों में.

Families worried

आज चार दिन बीत चुके हैं. अभी तक कोई ख़बर नहीं मिली है उस विमान की और न उनमें सवार लोगों की. एयरफ़ोर्स अपनी तरफ़ से ढूँढने की तमाम कोशिश कर रहा मगर हासिल अभी तक कुछ भी नहीं हुआ है.

वैसे भी ग़ायब होने की ये कोई पहली घटना नहीं है. 2016 में भी An-32 ग़ायब हो गया था. आज तक उसकी ख़बर कहाँ आयी है. कहाँ कुछ भी पता चल पाया उस पर सवार जाँबाज़ पायलटों के बारे में.

अख़बार के दूसरे-तीसरे पन्नें पर उनके लापता होने की ख़बर कभी छपी थी. जैसे आज इस एयरक्राफ़्ट के लिए छप रही. धीरे-धीरे छपना बंद हो जाएगा. लोग भूल जाएँगे. दूसरे विमान के लापता होने तक.

कोई नहीं समझ सकता उन परिवारों का दुःख जिनके अपने उन विमानों के साथ खो गए. जिनके अपने लौटने का वादा करके तो गये थे पर कभी लौटे ही नहीं. माँ-बाप बूढ़ी होती आँखों में इंतज़ार लिए कभी प्रधानमंत्री को चिट्ठियाँ लिखते हैं तो कभी एयरफ़ोर्स को. कोई जवाब नहीं आता उनके लिए. वो आँखों में इंतज़ार लिए इस दुनिया से चले जाते हैं.

चुनाव के समय जवानों के नाम पर प्रधानमंत्री मोदी जी वोट माँगते नज़र आए थे. अब वक़्त है कि वो चुने जा चुके हैं तो एयरफ़ोर्स के इन कबाड़ी विमानों को हटा नए एयरक्राफ़्ट मँगवाए. रूस और बाक़ी के देशों से उड़ता काफ़ीन ख़रीद कर हमारे जवानों को मौत के मुँह में न ढकेले.

देश के लिए ये जवान सिर्फ़ एक व्यक्ति भर होता है. जिसके जीने मरने से किसी को कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता. मगर वो एक जवान अपनी महबूबा की पूरी दुनिया, माँ-बाप के लिए जीने का सहारा और अपने बच्चों का पिता, उनका हीरो होता है.

अब वक़्त आ गया है कि इन जाँबाज़ एयर-फ़ोर्स के पायलटों के बारे में सोचा जाए. उनकी सुरक्षा के लिए ज़रूरी क़दम उठाए जाएँ.

 

INDIA

तेलुगु स्टार नागार्जुन ने पी वी सिंधु को गिफ्ट की 73 लाख की BMW X5 SUV

Ravi Pratap

Published

on

बीडब्ल्यू एफ वर्ल्ड चैंपिंयनशिप में गोल्ड जीतने वाली पहली भारतीय महिला बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु को शनिवार को तेलुगु स्टार नागार्जुन अक्किनेनी ने 73 लाख की कीमत वाली ब्रैंड न्यू बीएमडब्ल्यू एक्स5 एसयूवी (BMW X5 SUV) गिफ्ट की।

यह कार्यक्रम हैदराबाद के अन्नपूर्णा स्टूडियोज़ में हुआ. इस मौके पर पीवी सिंधु के कोच पुलेला गोपीचंद (Pulela Gopichand) भी मौजूद थे. इससे पहले जब पीवी सिंधु ने ओलम्पिक में सिल्वर मेडल (Silver Medal) जीता था तो उस वक्त सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने इसी कंपनी की कार गिफ्ट की थी।


इस मौके पर नागार्जुन ने कहा, ‘ऐसे लोगों का सम्मान करना अपने आप में सम्मान की बात है. मैं गोपी पुलेलाचंद को भी बधाई देता हूं जिसके प्रयासों से ऐसे खिलाड़ी बनते हैं. साथ ही मैं उनके माता-पिता पीवी रमन्ना और पी विजय को भी देश को ऐसा बेहतरीन खिलाड़ी देने के लिए बधाई देता हूं.’

कार स्वीकार करते हुए पीवी सिंधु ने कहा, ‘एवरग्रीन सुपरस्टार नागार्जुन सर और गोपी अन्ना की उपस्थिति में गिफ्ट लेना अपने आप में एक खास अनुभव है. मेरे लिए इसका काफी महत्त्व है. ओलम्पिक में गोल्ड मेडल लाने के लिए मैं हर संभव कोशिश करूंगी.

इस इवेंट को तेलंगाना बैडमिंटन एसोसिएशन (Telangana Badminton Association) के उपाध्यक्ष वी चामुंडेश्वरनाथ (V Chanundeshwarnath) ने ऑर्गेनाइज़ किया था. चामुंडेश्वरनाथ पैसे मिलाकर बेहतरीन एथिलीट्स को कार गिफ्ट करने के लिए जाने जाते हैं. उन्होंने यह 22वीं कार गिफ्ट की थी. उन्होंने कहा, ‘वर्ल्ड चैंपियन होना बेशकीमती है और मैं उम्मीद करता हूं कि अगली बार वह इसी जगह पर गोल्ड जीतकर आएंगी और फिर उनका सम्मान किया जाएगा.’
Bmw X5 के फीचर्स-

पावर और स्पेसिफिकेशन की बात की जाए तो Bmw X5 के पेट्रोल वेरिएंट में 2,998cc का 6 सिलेंडर वाला पेट्रोल इंजन दिया गया है जो कि 5500-6500 Rpm पर 340 Hp की पावर और 1500-5200 Rpm पर 450 Nm का टॉर्क जनरेट करता है. इंजन 5 स्पीड मैनुअल, 6 स्पीड मैनुअल और 6 स्पीड ऑटोमैटिक गियरबॉक्स के ऑप्शन में मिलता है. महज 6.5 सेकेंड में यह एसयूवी 0 से 100 किमी प्रति घंटे की स्पीड पकड़ लेती है.

सेफ्टी फीचर्स- सेफ्टी फीचर्स की बात की जाए तो Bmw X5 में एक्टिव पार्क डिस्टेंस कंट्रोल (PDC), एयरबैग्स, एंटी लॉक ब्रेकिंग सिस्टम (ABS), ब्रेक असिस्ट, अटेंटिवनेस असिस्टेंट, BMW कंडिशन बेस्ड सर्विस, कर्नरिंग ब्रेक कंट्रोल, डायनामिक स्टेबिलिटी कंट्रोल (DSC), डायनामिक ट्रैक्शन कंट्रोल (DTC), इलेक्ट्रॉनिक व्हीकल इम्मोबिलाइजर जैसे फीचर्स मिलेंगे.

Input : News18

Continue Reading

INDIA

आयुष्मान भारत योजना के तहत अब रेलवे अस्पताल में भी इलाज

Santosh Chaudhary

Published

on

अब रेलवे के अस्पतालों में भी आयुष्मान भारत योजना के तहत मरीजों का इलाज हो सकेगा। इसका लाभ रेलकर्मियों व लाइसेंसी सहायकों के अलावा अन्य लोगों को मिलेगा। इस संबंध में पूर्व मध्य रेलवे, हाजीपुर ने रेलवे अस्पतालों को योजना के तहत जोड़ा है। अन्य तैयारी तेजी से चल रही है। जल्द ही इलाज शुरू हो जाएगा।

रेल मंत्रलय की यह योजना भारतीय रेलवे के सभी चिकित्सालयों में लागू होगी। इस संबंध में रेलवे बोर्ड ने सभी महाप्रबंधकों को दिशा-निर्देश जारी किए हैं। यहां योजना से जुड़ा गोल्डन कार्ड रखने वाले लोग, स्टेशन पर मौजूद लाइसेंसधारी सहायक (कुली) व उनके परिवार और इसके दायरे में आने वाले रेलकर्मियो को यह सुविधा मिलेगी। लाइसेंसधारी सहायकों का इस योजना के तहत इलाज सिर्फ रेलवे अस्पताल में होगा। आवश्यकता पड़ने पर दूसरे केंद्रीय और मंडलीय रेलवे अस्पताल में रेफर किया जाएगा।

पांच लाख तक के इलाज की सुविधा : आयुष्मान भारत योजना में गोल्डन कार्डधारी मरीज को सरकारी और सूचीबद्ध अस्पतालों में साल में पांच लाख रुपये तक मुफ्त इलाज की सुविधा है। यदि किसी परिवार में पांच सदस्य हैं। एक सदस्य के बीमार होने पर पांच लाख से अधिक राशि खर्च होती है तो दूसरे सदस्य के बीमार होने पर योजना का लाभ नहीं मिलेगा। लेकिन, एक सदस्य के इलाज पर तीन लाख खर्च होते हैं तो दूसरे को दो लाख तक इलाज की सुविधा मिलेगी। योजना में बड़ी बीमारियों की सर्जरी के साथ दवाइयों के अलावा छोटे मेडिकल टेस्ट भी शामिल हैं। सरकारी अस्पतालों में दवाइयां और जांच की सुविधा नहीं होने पर निजी मेडिकल स्टोर और जांच लैब को योजना के लिए सूचीबद्ध किया गया है। पूर्व मध्य रेलवे के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. गो¨वद प्रसाद का कहना है कि रेलवे अस्पतालों में आयुष्मान भारत योजना के तहत मरीजों को सुविधा देने की प्रक्रिया चल रही है। इसके लिए जोनल स्तर से रजिस्ट्रेशन किया गया है। गोल्डन कार्ड से मरीजों का इलाज हो सकेगा।

Continue Reading

INDIA

मोदी सरकार का ऐलान- कैंप लगाकर 200 जिलों में बांटे जाएंगे लोन, गवाह बनेंगे सांसद

Santosh Chaudhary

Published

on

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को कहा कि 31 मार्च 2020 तक संकटग्रस्त किसी भी एमएसएमई को एनपीए घोषित नहीं किया जाएगा. उन्होंने बैंकों के साथ नकदी की स्थिति की समीक्षा की.

NBFC की स्थिति में सुधार

प्रेस कॉन्फेंस में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि कुछ गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (NBFC) की पहचान की गई है, जिन्हें बैंक कर्ज दे सकते हैं. बैंक लेंडिंग के लिए नए ग्राहक जोड़े जाएंगे. वित्त मंत्री की मानें तो NBFC की स्थिति सुधर रही है.

200 जिलों में लगेंगे कैंप

वित्त मंत्री ने कहा कि बैंक कर्ज देने के इरादे से 3 से 7 अक्टूबर के बीच 200 जिलों में एनबीएफसी और खुदरा कर्जदारों के लिए कैंप लगाएंगे. सरकार ने इस मुहिम को बैंक लोन मेला नाम दिया है. वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि 11 अक्टूबर के बाद भी लोन मेले का आयोजन किया जाएगा.

सबसे खास बात यह है कि जिन जिलों में इस लोन मेले का आयोजन किय़ा जाएगा, वहां के सांसद भी इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए इस मुहिम में हिस्सा लेंगे. इसके अलावा बैंकों के विलय के सवाल पर सीतारमण ने कहा कि नियम के मुताबिक काम तेजी चल रहा है और बैंक रिफॉर्म्स के बेहतर परिणाम आएंगे.

गौरतलब है कि मंदी की आहट के बीच मोदी सरकार की ओर से लगातार बड़ी घोषणाएं की जा रही हैं. खुद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण अर्थव्यवस्था में आई सुस्ती को दूर करने के लिए कई बड़ी घोषणाएं कर चुकी हैं.

अर्थव्यवस्था में सुधार की लगातार कोशिश

इससे पहले शनिवार को वित्त मंत्री ने 60 फीसदी तक पूरे हो चुके निर्माणाधीन आवासीय परियोजनाओं का काम पूरा करने के लिए 10 हजार करोड़ रुपये की विशेष सुविधा देने की घोषणा की थी. साथ ही इतनी ही राशि निजी क्षेत्र से जुटाई जाएगी, इसकी भी जानकारी दी थी.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का कहना है कि सरकार अर्थव्यवस्था में आई सुस्ती को दूर करने के लिए लगातार कोशिश कर रही है. सरकार इस बात को लेकर गंभीर है कि आने वाले दिनों में अगर और जरूरत पड़ी तो घोषणाएं की जाएंगी.

Input : Aaj Tak

 

Continue Reading
Advertisement
BIHAR31 mins ago

बिहार में 19 IAS-IPS का हुआ तबादला, देखें पूरी लिस्ट

WORLD1 hour ago

जब युद्धाभ्या’स के दौरान अमेरिकी सैनि’कों ने बजाई ‘जन-गण-मन’ वीडियो Viral

BIHAR3 hours ago

तेजस्वी का CM नीतीश से सवाल-नहीं आता था क,ख, ग, घ तो डिप्टी सीएम क्यों बनाया

BIHAR4 hours ago

पंकज त्रिपाठी ने चुराई थी मनोज वाजपेयी की चप्पल, भावुक होकर बताई वजह

TRENDING5 hours ago

लाइव शो में कुर्सी से गिरा पाक पैनललिस्ट, लोग बोले- पैरों तले खिसक गई जमीन, VIDEO Viral

MUZAFFARPUR7 hours ago

मुज़फ़्फ़रपुर में फिनांसकर्मी से पि’स्टल के ब’ल पर लू’ट

MUZAFFARPUR8 hours ago

संतान की दीर्घायु, आरोग्यता व कल्याण के लिए माताएं करेंगी जीवित्पुत्रिका व्रत

MUZAFFARPUR8 hours ago

मुजफ्फरपुर के लाल साहिल बनें अमेरिकन टीवी शो ‘वर्ल्ड ऑफ डांस’ के उपविजेता

INDIA8 hours ago

तेलुगु स्टार नागार्जुन ने पी वी सिंधु को गिफ्ट की 73 लाख की BMW X5 SUV

BIHAR9 hours ago

जिस तेजस विमान से रक्षा मंत्री ने रचा इतिहास उसे उड़ा रहा था बिहार का लाल

INDIA2 weeks ago

New MV Act के भारी चालान से बचा सकता है आपका स्मार्ट फोन, जानिए- कैसे

BIHAR2 weeks ago

ट्रैफिक फाइन-DL व RC नहीं दिखाने पर तत्काल नहीं कट सकता चालान, जानिए नियम

BIHAR1 week ago

UP-दिल्ली-बिहार समेत देश भर के लोगों को DL-RC में अपडेट करनी होगी ये जानकारी

Uncategorized2 weeks ago

Jio Fiber Plans हुए लॉन्च, जानें कैसे आपकी जिंदगी और घर खर्च पर पड़ेगा इसका असर

BIHAR1 week ago

KBC सीजन 11 का पहला करोड़पति बना बिहार का लाल, जहानाबाद के सनोज राज ने रचा इतिहास

BIHAR2 weeks ago

बिहार पु’लिस का आदेश – चप्पल पहनकर बाइक चलाई तो एक हजार जु’र्माना

OMG1 week ago

दिल्ली में कटा ‘भगवान राम’ का 1.41 लाख का चालान, कोर्ट में जाकर भरा

MUZAFFARPUR2 weeks ago

मुजफ्फरपुर में पु’लिस पर ह’मला: ASI समेत 3 पुलिसकर्मी हुए ज’ख्मी

BIHAR3 weeks ago

370 इफ़ेक्ट: बिहारी लड़कों ने कश्मीरी लड़कियों से रचाई शादी, सुपौल लाते ही लग गया थाने का चक्कर

BIHAR2 weeks ago

10 दिन पहले 56 हजार में खरीदी थी स्कूटी, 42 हजार का आया चा’लान

Trending

0Shares