Connect with us

MUZAFFARPUR

सीबीआइ के 46 पेजों के अंतिम प्रतिवेदन में दफन हुई र्चित नवरुणा अपहरण कांड

Published

on

मुजफ्फरपुर : नवरुणा के अपहरण और हत्या के 18 सितंबर को नौ साल पूरे हो रहे हैं। इन नौ सालों में करीब साढ़े छह साल तक यह मामला सीबीआइ की जांच के अंदर था। सुप्रीम कोर्ट समय-समय पर इस मामले की जांच पूरी करने के लिए डेडलाइन तय करता रहा। डेडलाइन बढ़ाने के लिए अर्जी में हर बार सीबीआइ जल्द से जल्द जांच पूरी करने का आश्वासन दिया। पिछले साल सीबीआइ ने इस मामले में ठोस साक्ष्य नहीं मिलने की बात कहते हुए अंतिम प्रतिवेदन दाखिल किया। साढ़े छह साल की जांच सीबीआइ के 46 पेजों के अंतिम प्रतिवेदन में दफन हो गई। इससे पहले जिला पुलिस व सीआइडी जांच में भी इस मामले में कोई परिणाम नहीं निकला था। अब नवरुणा की माता-पिता सीबीआइ के इस अंतिम प्रतिवेदन के खिलाफ विशेष सीबीआइ कोर्ट में कानूनी लड़ाई लड़ रहे हैं।

नवरुणा के पिता अतुल्य और मां मैत्री चक्रवर्ती

सीबीआइ की साढ़े छह साल की जांच में आए कई उतार-चढ़ाव : सीबीआइ की साढ़े छह साल की जांच में कई उतार-चढ़ाव आए। कभी लगता था कि वह परिणाम के काफी करीब पहुंच चुकी है तो कभी दूर दिखती थी। अंतत: उसने हाथ खड़े कर दिए। सीबीआइ ने दो बार में सात संदिग्ध आरोपितों को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार किए जाने वालों में जिला परिषद के पूर्व उपाध्यक्ष शाह आलम शब्बू, विक्रांत कुमार शुक्ला उर्फ विक्कू शुक्ला, अभय कुमार, ब्रजेश सिंह, विमल अग्रवाल राकेश कुमार सिंह व राकेश कुमार सिन्हा पप्पू शामिल रहे। हालांकि दोनों बार सीबीआइ की ओर से बनाए गए इन संदिग्ध आरोपितों के खिलाफ निर्धारित 90 दिनों के अंदर विशेष कोर्ट में आरोप पत्र दाखिल नहीं किया गया। इससे सभी को जमानत मिल गई। सीबीआइ ने नगर थाना के तत्कालीन थानाध्यक्ष जितेंद्र प्रसाद व अन्य कई संदिग्धों का नाकरे व ब्रेन मै¨पग भी कराई। करीब 66 गवाहों की गवाही दर्ज की गई। नवरुणा के घर पर पहुंचकर अपहरण के सीन को रीक्रियेट किए। नवरुणा के माता-पिता के रक्त की डीएनए जांच कराई गई। इस सबके बाद उसकी सारी कवायद धरी की धरी रह गई। अंतत: उसने अंतिम प्रतिवेदन दाखिल कर इस मामले से छुटकारा पा लिया।

नवरुणा का घर

टाइम लाइन

18 सितंबर 2012 : जवाहरलाल रोड स्थित आवास से नवरुणा का अपहरण

26 नवंबर 2012 : नवरुणा के आवास के निकट नाला से कंकाल मिला

12 जनवरी 2012 : सीआइडी ने शुरू की मामले की जांच

14 फरवरी 2014 : सीबीआइ को सौंपी गई मामले की जांच

23 नवंबर 2020 : सीबीआइ ने विशेष कोर्ट में दाखिल किया अंतिम प्रतिवेदन

वह कमरा जहां से कथित तौर पर नवरुणा का अपहरण किया गया

माता-पिता ने कहा, सीबीआइ ने ब्लैकमेल किया, उसे मिले सजा

अंतिम प्रतिवेदन दाखिल किए जाने को लेकर नवरुणा की मां मैत्रेयी चक्रवर्ती व पिता अतुल्य चक्रवर्ती सीबीआइ से खासे नाराज हैं। दोनों कहते हैं कि सीबीआइ अच्छा काम कर रही थी। अचानक उसने कोर्ट में अंतिम प्रतिवेदन दाखिल कर दिया। ऐसा लगता है कि वह किसी के दबाव में काम कर रही है। साढ़े छह साल इस जांच एजेंसी ने उन्हें ब्लैकमेल किया। अब उनकी लड़ाई सीबीआइ से है। इससे पहले पुलिस व सीआइडी ने भी यही किया। तीनों एजेंसियों को सजा मिलनी चाहिए। मैत्रेयी चक्रवर्ती ने कहा कि विशेष कोर्ट से इसके लिए गुहार लगाएंगी।

नवरुणा की गुड़िया के साथ उनके पिता

रहस्यमय बने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल सीबीआइ के तीन लिफाफे

नवरुणा की माता-पिता की ओर से विशेष कोर्ट में पैरवी कर रहे अधिवक्ता शरद सिन्हा ने बताया कि सीबीआइ ने सुप्रीम कोर्ट में तीन लिफाफे दाखिल किए थे। समय-समय पर इन लिफाफों में मामले से संबंधित प्रगति प्रतिवेदन था। बाद में सुप्रीम कोर्ट ने इनको सीबीआइ को लौटा दिया। सीबीआइ ने ये लिफाफे विशेष कोर्ट में नहीं सौंपे हैं। उन्होंने इसके अवलोकन के लिए कोर्ट में अर्जी दाखिल की। इसके जवाब में सीबीआइ ने इसे विशेष कोर्ट में दाखिल करने व उन्हें अवलोकन करने से मना कर दिया है। अधिवक्ता कहते हैं कि उन्हें कोर्ट से पहले ही सभी दस्तावेज देखने की अनुमति मिली हुई है। उन्होंने बताया कि इस मामले में कई कानूनी पहलू मौजूद हैं। विशेष कोर्ट आगे जांच करने का आदेश दे सकती है। वहीं हाईकोर्ट व सुप्रीम कोर्ट दोबारा जांच का आदेश दे सकती है। विशेष कोर्ट में वे इस मामले की आगे की जांच जारी रखने के लिए कानूनी लड़ाई लड़ रहे हैं। उनका मानना है कि जब नवरुणा का अपहरण व हत्या हुई तो मामले की जांच यह कह कर कैसे बंद कर दी जा सकती कि कोई ठोस साक्ष्य नहीं मिला। इससे तो नवरुणा को न्याय नहीं मिला।


ये है मामला

18 सितंबर 2012 की रात नगर थाना के जवाहरलाल रोड स्थित आवास से नवरुणा का अपहरण कर लिया गया था। 26 सितंबर 2012 को सफाई के दौरान उसके घर के निकट नाला से मानव कंकाल मिला। डीएनए टेस्ट के आधार पर यह कंकाल नवरुणा का बताया गया। इस मामले की जांच पहले नगर थाना की पुलिस व सीआइडी ने की। नतीजा नहीं निकलने पर 14 फरवरी 2014 को इसकी जांच सीबीआइ को सौंपी गई। 23 नवंबर 2020 को सीबीआइ ने साक्ष्य नहीं मिलने पर विशेष कोर्ट में अंतिम प्रतिवेदन दाखिल किया।

Source : Dainik Jagran

हेलो! मुजफ्फरपुर नाउ के साथ यूट्यूब पर जुड़े, कोई टैक्स नहीं चुकाना पड़ेगा 😊 लिंक 👏

biology-by-tarun-sir

MUZAFFARPUR

कोरोना मुक्त हो गया अपना मुजफ्फरपुर, वर्तमान में इसका एक भी एक्टिव केस नहीं

Published

on

करोना मुक्त हो गया है जिला। एक पॉजिटिव मरीज था वह भी नेगेटिव हो गया है। कोरोना की रफ्तार रोकने के लिए हर दिन पांच हजार से अधिक संदिग्धों के सैंपल की जांच में भी पॉजिटिव केस नहीं मिल रहे हैं। बावजूद इसके अभी भी पूरी सतर्कता बरती जा रही है। रेलवे जंक्शन पर सुरक्षाबलों की कमी के कारण जांच में कठिनाई हो रही है। इस बाबत सिविल सर्जन डॉ विनय कुमार शर्मा ने बताया कि चुनाव को लेकर रेलवे जंक्शन पर लगाए गए सुरक्षा बल फिलहाल नहीं है। जिससे परेशानी है। बावजूद इसके आशा को निर्देश दिया गया है कि वह अपने स्तर से हर वार्ड में नजर रखें। कोई संदिग्ध मिले तो उसकी सूचना दें। दीपावली व छठ नजदीक आते ही दूसरे राज्यों से प्रवासियों का आना शुरू हो गया हैं। हर दिन रेलवे स्टेशन पर हर दिन 16 से 18 हजार से अधिक यात्री उतर रहे हैं। लेकिन ना लाइन लगा उनका कोरोना जांच ही की जा रही है। ना ही स्क्रीनिंग ही हो रही हैं।

रेलवे स्टेशन पर 1800 से 2000 जांच हो पा रही

जानकारी के अनुसार जिला प्रशासन की ओर से जो दस होमगार्ड जवानों की तैनाती की गई थी। लाइन लगाने के लिये वह भी जवान वापस हो गये हैं। ऐसे में आ रही ट्रेनों से उतरने वाले प्रवासियों की कोविड जांच नहीं हो रही हैं। जो यात्री अपनी मर्जी से जांच करा रहे है, उन्हीं की जांच हो रही हैं। बाकी के यात्री बिना जांच कराये अपने घर जा रहे हैं। जांच प्रवेक्षक मनोज कुमार ने कहा कि किसी तरह से रेलवे स्टेशन पर 1800 से 2000 जांच हो पा रही हैं। छह काउंटर लगाये गये है जांच के लिए रेलवे स्टेशन पर यूटीएस काउंटर पर दो केंद्र, पूछताछ काउंटर पर दो केंद्र व बाहर गेट और एक बाहर निकलने वाले सीढ़ी के पास एक केंद्र लगाये गये हैं। ऐसे में जिले में कोरोना केस बढ़ने की आशंका जतायी जा सकती हैं। उन्होंने कहा कि रेल पुलिस के सहयोग नहीं कर रही है, जिस कारण लाइन लगा जांच नहीं हो रहा। अगर आने वाले यात्रियों का जांच लाइन लगा नहीं किया गया तो एक बार फिर केस बढ़ सकते हैं। सिविल सर्जन डॉ विनय कुमार शर्मा ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग व जिला प्रशासन ने रेलवे स्टेशन व बस पड़ाव पर आने वाले प्रवासियों की कोविड जांच लाइन लगा कराने का निर्णय लिया गया था। इसमें रेलवे पुलिस को सहयोग करने को कहा गया. एक से दो दिन रेलवे पुलिस ने लाइन लगा जांच कराया। इसके बाद से पुलिस बल नहीं आ रहे हैं।ऐसे में जो यात्री आकर जांच करा रहे उनका ही जांच हो रहा हैं।इससे रेल एसपी को भी अवगत कराया गया हैं।

स्कूली बच्चाें का नहीं हाे रहा काेराेना

तीसरी लहर की अाशंका काे लेकर सरकार ने स्कूली बच्चाें का काेराेना जांच होना था। लेकिन जिला स्वास्थ्य विभाग ने सिर्फ एक ही स्कूल के बच्चाें की काेराेना जांच करा पाया। जांच के लिए स्कूल प्रबंधन भी आगे  नहीं आ  रहे है। जानकाराें का कहना है कि काेराेना जांच नहीं हाेने से बच्चाें के भविष्य पर संकट हाे सकता है। बता दे कि तीसरी लहर में बच्चाें के अधिक प्रभावित हाेने की आशंका  वैज्ञानिकाें की ओर  से जतायी गई थी। इसकाे लेकर प्रत्येक सरकारी व निजी विद्यालयाें में कैंप लगाकर बच्चाें की काेराेना जांच किया जाना था। निर्देश के बाद स्वास्थ्य विभाग ने इसके लिए टीम का गठन किया। लेकिन मिठनपुरा इलाके के सिर्फ एक ही स्कूल के करीब 150 बच्चे का ही जांच किया गया। हालांकि जांच में एक भी बच्चा पाॅजिटिव नहीं पाया गया। इसके बाद विभाग जांच कराना भूल गया और फिर किसी दूसरे विद्यालय में जांच के लिए कैंप भी नहीं लगा। सिविल सर्जन ने कहा कि अब इधर स्कूल खुलने लगे हैं । अभियान को गति दी जाएगी m हर स्तर पर जांच होगी ताकि कोरोना पॉजिटिव कि समय पर पहचान हो और नियंत्रण हो सके।

Source : Dainik Jagran

हेलो! मुजफ्फरपुर नाउ के साथ यूट्यूब पर जुड़े, कोई टैक्स नहीं चुकाना पड़ेगा 😊 लिंक 👏

krishna-motors-muzaffarpur

Continue Reading

MUZAFFARPUR

मुजफ्फरपुर : स्कूल बस और ट्रक में भीषण टक्कर

Published

on

मुजफ्फरपुर के ब्रह्मपुरा थाना क्षेत्र के चांदनी चौक पर बुधवार की सुबह स्कूल बस और ट्रक में हुई भीषण टक्कर। टक्कर में स्कूल बस के चालक और खालसी गंभीर रूप से जख्मी हो गए है।

जिन्हें इलाज के लिए निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जानकारी के अनुसार स्कूल बस बच्चे को लेने जा रही थी हाउसिंग बोर्ड उसी क्रम में चांदनी चौक के पास एक अनियंत्रित ट्रक ने बस को ठोकर मारी। सूचना के बाद मौके पर पहुंची ब्रह्मपुरा थाने की पुलिस। एक बड़ा घटना टल गया है।

हेलो! मुजफ्फरपुर नाउ के साथ यूट्यूब पर जुड़े, कोई टैक्स नहीं चुकाना पड़ेगा 😊 लिंक 👏

Continue Reading

MUZAFFARPUR

कल शाम तक बारिश जारी रहने के आसार, मौसम रहेगा सुहाना

Published

on

उत्तर प्रदेश से बिहार हाेते हुए झारखंड व बंगाल की खाड़ी तक जा रही ट्रफ रेखा के कारण मंगलवार की देर रात भी तेज हवा के साथ बारिश हुई। इससे शहर के विभिन्न इलाकाें में एक बार फिर जलजमाव हाे गया। खासकर मिठनपुरा इलाके की कई गलियों में तो नाले का पानी भी सड़क पर आ गया है।

इस बीच बुधवार तक 35 से 50 एमएम बारिश हाेने की संभावना है। इससे मौसम सुहाना रहने की उम्मीद है। माैसम विभाग के अनुसार कम दबाव का क्षेत्र दक्षिण बिहार, पूर्वी उत्तर प्रदेश, झारखंड से शिफ्ट हाेकर बिहार के ऊपरी हिस्से पर बना हुआ है। इधर, मंगलवार काे दिनभर आसमान में काले बादल छाए रहे। इससे दिन के औसत तापमान में कुछ कमी आई और लाेगाें ने गर्मी से राहत की सांस ली। मुजफ्फरपुर में अधिकतम तापमान 32 डिग्री और न्यूनतम 23.4 डिग्री सेल्सियस रिकाॅर्ड किया गया।

हेलो! मुजफ्फरपुर नाउ के साथ यूट्यूब पर जुड़े, कोई टैक्स नहीं चुकाना पड़ेगा 😊 लिंक 👏

Continue Reading
WORLD6 hours ago

सूअर की किडनी को मानव शरीर से जोड़ा, करने लगी काम, वैज्ञानिकों का सबसे बड़ा चमत्कार

INDIA6 hours ago

मुस्लिम में निकाह एक कॉन्ट्रैक्ट है, हिंदू विवाह के तरह संस्कार नहीं- कर्नाटक हाईकोर्ट

BIHAR7 hours ago

मुकेश सहनी ने तेजस्वी को दी चुनौती, कहा- मछली पकड़ना है तो ब्रांडेड जूते उतार कर तालाब में उतरिये, फिर…

BIHAR10 hours ago

इतिहास : पीएम मोदी से लेकर आमिर खान तक, चिट्टी चोखा की फैन हैं बड़ी हस्तियां

BIHAR10 hours ago

दरभंगा एयरपोर्ट पर अगले दो-तीन महीने में मौसम खड़ी कर सकती मुश्किलें

BIHAR10 hours ago

नेपाल में लगातार बारिश से कोसी आक्रामक, 43 फाटक खोलने के बाद अलर्ट पर प्रशासन

INDIA10 hours ago

आर्यन खान को कोर्ट से झटका, तीनों आरोपियों की जमानत याचिका खारिज

ramnath-kovind-nitish-kumar
BIHAR12 hours ago

बिहार विधानसभा भवन शताब्‍दी समारोह के लिए पटना पहुंचे राष्‍ट्रपति रामनाथ काेविंद

VIRAL13 hours ago

मौसम का हाल बताते-बताते न्यूज चैनल पर चलने लगा अश्लील वीडियो, बेखबर एंकर पढ़ती रही खबर

BIHAR13 hours ago

बिहार के भाजपा विधायक हरिभूषण ने दिया बड़ा बयान-जल्‍द होगी एक और एयरस्‍ट्राइक

BIHAR4 weeks ago

बिहार: पिता की थी छोटी सी खैनी की दुकान, ट्यूशन पढ़ा करते थे पढ़ाई, अब UPSC में पाई दूसरी बार सफलता

BIHAR3 weeks ago

घर तक आती थी ट्रेन और निजी प्लेन, दरभंगा महराज के राज- ठाठ की कहानी –

BIHAR3 weeks ago

खुशखबरी: पटना चिड़‍ियाघर में आज से नहीं लगेगा प्रवेश शुल्‍क

BIHAR3 weeks ago

नई सौगात भागलपुर, बक्‍सर, दरभंगा, हाजीपुर और सिवान को होगा फायदा – पांच नए हाइवे का होगा ऐलान

BIHAR3 weeks ago

जल्द बंद होगा बरौनी और कांटी थर्मल पावर स्टेशन, दोनो थर्मल पावर से बिहार को मिल रही है 330 मेगावाट बिजली

BIHAR4 weeks ago

बिहार में अब बिल्कुल अलग अंदाज में मिलेगा बिजली के बकाया बिल का रिमाइंडर

BIHAR4 weeks ago

बिहार के सभी घरों में नजर आएंगे स्मार्ट प्रीपेड मीटर

INDIA4 weeks ago

यू ही नहीं बिहार को कहा जाता आई.ए.एस फैक्ट्री कटिहार का शुभम बना UPSC टॉपर

BIHAR3 weeks ago

पारले जी बिस्कुट नहीं खाने से होगी अनहोनी, अफ़वाह के बाद बिस्कुट आउट ऑफ स्टॉक

BIHAR3 weeks ago

बिहार के 8 जिलों में कल से शुरू होगा बालू खनन, उचित कीमत पर मिलेगा बालू

Trending