Connect with us

BIHAR

नीतीश कुमार ने भले तोड़ा हो भाजपा से गठबंधन, हरिवंश नहीं देंगे इस्तीफा; बने रहेंगे राज्यसभा के उपसभापति

Published

on

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के साथ गठबंधन तोड़ने के जनता दल (यूनाइटेड) के फैसले ने न केवल बिहार में राजनीतिक समीकरण को बदल दिया, बल्कि पटना से लेकर दिल्ली तक के सियासी गलियारों में सरगर्मी बढ़ा दी है। इस बीच यह चर्चा हो रही है कि क्या राज्यसभा के उपसभापति और जेडीयू सांसद हरिवंश अपने पद पर बने रहेंगे या इस्तीफा देने जा रहे हैं।

JD(U)'s Harivansh reelected Rajya Sabha Deputy Chairman

हरिवंश के एक करीबी ने नाम नहीं छापने की शर्त पर न्यूज एजेंसी एएनआई को बताया कि जेडीयू नेता एक संवैधानिक पद पर हैं और जो लोग इस तरह के पद पर बैठे हैं वे अपने कर्तव्यों के निर्वहन के दौरान किसी राजनीतिक दल से संबंधित नहीं होते हैं। उन्होंने कहा, “उन्हें इस्तीफा क्यों देना चाहिए?”

Advertisement

जेडीयू ने बैठक में भी नहीं बुलाया

पटना में नीतीश कुमार द्वारा 9 अगस्त को बुलाई गई जेडीयू की बैठक में हरिवंश के शामिल नहीं होने के बारे में पूछे जाने पर राज्यसभा के उपसभापति के सहयोगी ने कहा, “उन्हें बैठक में आमंत्रित नहीं किया गया था। इसलिए वह वहां नहीं गए थे, लेकिन नीतीश कुमार के लिए उनके मन में बहुत सम्मान है।”

Advertisement

अपने पद पर बने रहेंगे हरिवेश: JDU नेता

हरिवंश को 8 अगस्त, 2018 को राज्यसभा के उपसभापति के रूप में चुना गया था। 14 सितंबर, 2020 को संसद के ऊपरी सदन में अपने दूसरे कार्यकाल के लिए लौटने के बाद उन्हें राज्यसभा के उपसभापति के रूप में फिर से चुना गया था। जेडीयू के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि हरिवंश का पार्टी से गहरा नाता है और उनके संवैधानिक पद पर बने रहने की संभावना है।

Advertisement

नीतीश के लिए भी पूरा सम्मान

जेडीयू नेता ने न्यूज एजेंसी एएनआई से कहा, “हरिवंश जी हमारे सुप्रीमो और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के लिए पूरा सम्मान और सम्मान रखते हैं, लेकिन यह भी समझना चाहिए कि राज्यसभा का सभापति एक संवैधानिक पद है और निर्वाचित व्यक्ति छह साल तक इस पद पर रहता है। इसलिए इसका कोई प्रभाव नहीं होना चाहिए। बिहार में राजनीतिक स्थिति बदलने के बावजूद उनके पद पर बने रहने की संभावना है।”

Advertisement

भाजपा ने बनाया था डिप्टी स्पीकर

बिहार के एक अन्य जेडीयू नेता ने कहा कि हरिवंश के नाम का प्रस्ताव भाजपा ने किया था और उन्हें कई दलों के समर्थन से चुना गया था। उन्होंने एएनआई को बताया, “मौजूदा राजनीतिक स्थिति में राज्यसभा के उपसभापति को उनके पद से तभी हटाया जा सकता है जब भाजपा उनके खिलाफ अविश्वास व्यक्त करे।”

Advertisement

संवैधानिक होता है उपसभापति का पद

राज्यसभा के एक पूर्व महासचिव ने नाम न छापने की शर्त पर कहा कि उपसभापति, अध्यक्ष या उपाध्यक्ष का पद संवैधानिक होता है। देश या राज्य या किसी भी राजनीतिक दल की राजनीतिक स्थिति में बदलाव के बावजूद उनके प्रभाव में कोई परिवर्तन नहीं किया जाना चाहिए।

Advertisement

उन्होंने कहा, “इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि उनकी पार्टी सत्ता में है या विपक्ष में। संवैधानिक पद पर ऐसे लोग सदन के नियम का पालन करने के लिए बाध्य हैं और संविधान उनके लिए सर्वोच्च होना चाहिए। मेरा मानना ​​है कि राज्यसभा के उपसभापति का पद गैर-राजनीतिक है।”

कई उदाहरण

Advertisement

एक उदाहरण का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि प्रोफेसर पीजे कुरियन (कांग्रेस) 21 अगस्त 2012 को राज्यसभा के उपसभापति चुने गए थे और वर्ष 2014 में लोकसभा चुनाव के बाद केंद्र में सरकार बदलने के बावजूद 1 जुलाई 2018 तक अपने पद पर बने रहे। इसके अलावा उन्होंने कहा, “नजमा हेपतुल्ला (कांग्रेस) 18 नवंबर, 1988 से 4 जुलाई, 1992, फिर 10 जुलाई 1992 से 4 जुलाई 1998 और 9 जुलाई 1998 से 10 जून 2004 तक राज्यसभा की उपसभापति रहीं। इस बीच 4 मौकों पर सरकार बदली, लेकिन वह उपसभापति के रूप में अपने कार्यालय में बनी रहीं।”

उन्होंने आगे कहा कि माकपा नेता सोमनाथ चटर्जी 4 जून 2004 को 14वीं लोकसभा के अध्यक्ष चुने गए थे। माकपा केंद्र में तत्कालीन संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (यूपीए) सरकार की सहयोगी थी। भारत-अमेरिका परमाणु समझौते के मुद्दे पर माकपा ने जुलाई 2008 में सरकार से समर्थन वापस ले लिया। हालांकि, चटर्जी ने लोकसभा अध्यक्ष का पद संभालना जारी रखा।

Advertisement

नीतीश कुमार ने बिहार में फिर बदला पाला

आपको बता दें कि नीतीश कुमार ने एक दिन पहले पद से इस्तीफा देने और भाजपा के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) छोड़ने के बाद बुधवार को रिकॉर्ड आठवीं बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। राजद नेता तेजस्वी यादव उपमुख्यमंत्री बनेंगे। बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली महागठबंधन सरकार राज्य विधानसभा में अपना बहुमत साबित करने के लिए 24 अगस्त को एक फ्लोर टेस्ट के लिए जाएगी।

Advertisement

महागठबंधन को विधानसभा में 164 सदस्यों का समर्थन प्राप्त है। नीतीश कुमार ने कांग्रेस और वाम दलों सहित महागठबंधन में राजद और अन्य दलों के साथ हाथ मिलाने से पहले मंगलवार को आठ साल में दूसरी बार भाजपा के साथ अपना गठबंधन तोड़ा। महागठबंधन को हिंदुस्तान आवाम मोर्चा (एचएएम) का भी समर्थन प्राप्त है, जिसके विधानसभा में चार विधायक हैं।

बीजेपी ने नीतीश कुमार पर बिहार की जनता द्वारा दिए गए जनादेश का अपमान करने का आरोप लगाया है। बीजेपी और जद (यू) ने 2020 में विधानसभा चुनाव एक साथ लड़ा था। नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री बनाया गया था, हालांकि बीजेपी को ज्यादा सीटें मिली थीं।

Advertisement

Source : Hindustan

nps-builders

Genius-Classes

Advertisement
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

BIHAR

सदाशिव भारती की अध्यात्मिक यात्रा पर आधारित पुस्तक का लोकार्पण

Published

on

आज चाणक्य होटल स्थित उत्सव हॉल में डॉ मालती सिन्हा द्वारा लिखी किताब “आत्मानुसंधान” का विमोचन किया गया।

यह किताब इनके पति स्वामी सदाशिव भारती की आध्यात्मिक यात्रा है। इस मौके पर लेखिका के साथ उनके सभी बच्चे शामिल हुए, जिनमें डॉक्टर श्रीमती बी.प्रियम ,श्री पवन कुमार ,डॉक्टर प्रिया सिंह, डॉक्टर प्रज्ञान ,श्री चैतन्य सिंह की उपस्थिति बनी रही। माननीय श्रवण कुमार, मंत्री ग्रामीण विकास, बिहार सरकार इस मौके पर मुख्य अतिथि के रूप मे उपस्थित रहे।

Advertisement

इस मौके पर कई गणमान्य अतिथि शामिल हुए: माननीय विकास वैभव, (विशेष गृह सचिव) माननीय दीपक ठाकुर (बीजेपी किसान मोर्चा प्रभारी गुजरात विंग) माननीय समाइल अहमद ( राष्ट्रीय अध्यक्ष प्राइवेट स्कूल एंड चिल्ड्रन वेलफेयर एसोसिएशन) माननीय डीके सिंह (अध्यक्ष बिहार स्कूल एंड चिल्ड्रन वेलफेयर एसोसिएशन) माननीय रामायण यादव (अध्यक्ष एसोसिएशन ऑफ इंडिपेंडेंट स्कूल पब्लिक स्कूल) माननीया श्रीमती बी. प्रियम, डॉ प्रिया सिंह,डॉ प्रज्ञान सिंह, श्री पवन कुमार तथा डॉ चैतन्य कुमार सपरिवार कार्यक्रम मे उपस्थित रही ।

Advertisement
Continue Reading

BIHAR

नर्स और गार्ड की सूझबूझ से बची नवजात की जान, DM ने नाम रखा ‘दुर्गा’

Published

on

भोजपुर. बिहार के भोजपुर जिले के आरा शहर से मानवता को शर्मसार कर देने वाला मामला सामने आया है. दरअसल एक अज्ञात महिला अपनी नवजात बच्ची को सदर अस्पताल के शौचालय की नाली में फेंककर फरार हो गई. हालांकि बच्ची के फेंके जाने के कुछ समय बाद ही अस्पताल की नर्स और गार्ड की नजर उस नवजात पर पड़ी. इसके बाद दोनों ने मिलकर आनन-फानन में बच्ची को अस्पताल में भर्ती करवाया और उसकी जान बच गई.

आरा के सदर अस्पताल की इस घटना की जानकारी मिलते ही भोजपुर के डीएम राज कुमार मौके पर पहुंचे. इस दौरान डीएम ने अस्पताल के चिकित्सकों से नवजात बच्ची का हाल जाना और इलाज के बारे में पूछताछ की. इस दौरान उनको चिकित्सकों से राहत भरा जवाब मिला. इसके बाद अस्पताल के कर्मियों ने डीएम से बच्ची का नामकरण करने का आग्रह किया. उन्‍होंने कर्मियों के आग्रह पर दशहरा को जेहन में रखते हुए बच्ची का नाम दुर्गा रखा है. इसके साथ डीएम के निर्देश के बाद नवजात शिशु को चाइल्डलाइन की टीम देखभाल करने में जुटी हुई है. जानकारी के मुताबिक, महिला को बेटे की चाहत थी, लेकिन बेटी होने पर वह नाली में फेंककर फरार हो गई.

Advertisement

नवजात के रोने की आवाज सुन पहुंचे नर्स और गार्ड

सदर अस्पताल की नर्स पूनम कुमारी ने बताया कि रात में वे लोग वार्ड के काउंटर पर बैठे हुए थे. अहले सुबह एक महिला मरीज शौचालय की ओर गयी थी. वहां उसे बच्ची की रोने की आवाज सुनाई पड़ी. उसके बाद उसने मौके पर मौजूद प्रसूति विभाग की नर्स को सूचना दी. इसके बाद नर्स ममता के साथ बिना समय जाया किये वार्ड के गार्ड अभय सिंह नाली के पास पहुंचे. उस वक्‍त नाली में कपड़े से लिपटी एक नवजात बच्ची पड़ी थी. फिर दोनों ने सावधानी से बच्ची को नाली से बाहर निकाला और जल्‍दी से बच्चा वार्ड में भर्ती करा दिया गया. इस तरह से बच्‍ची की जान बच गई. फिलहाल सदर अस्पताल प्रशासन की टीम बच्ची को नाली में फेंकने वाली मां की खोजबीन में जुटी हुई है.

Advertisement

Source : News18

nps-builders

Genius-Classes

Advertisement
Continue Reading

BIHAR

शादीशुदा गर्लफ्रेंड से मिलने पहुंचा आर्मी जवान तो गांव वालों ने करा दी शादी, सुबह छोड़कर हुआ फरार

Published

on

पूर्वी चंपारण में लव सेक्स और धोखा का मामला सामने आया है. यहां एक आर्मी का जवान शादीशुदा गर्लफ्रेंड से मिलने पहुंचा था. दोनों एक कमरे में थे. इस बात की जानकारी जब गांव वालों को हुई तो उन्होंने दोनों को रंगेहाथ पकड़ा फिर आर्मी जवान की जमकर पिटाई की और फिर दोनों को मंदिर में ले गए और उनकी जबरन शादी करा दी. शादी के बाद प्रेमी ग्रामीणों को चकमा देकर मौके से फरार हो गया. मामला हरसिद्धि थाना क्षेत्र के मानिकपुर सरैया के ततवा टोली की है.

बताया जा रहा है कि मानिकपुर सरैया के ततवा टोली की रीता कुमारी की शादी दो साल पहले हुई थी. साल भर बाद ही उसकी अपने पति से अनबन रहने लगा. जिसके बाद वह पति को छोड़कर अपने मायके में रह रही थी.

Advertisement

शादी समारोह में हुई थी मुलाकात

रीता कुमारी ससुराल नहीं जा रही थी. इस दौरान एक शादी समारोह में उसकी मुलाकात आर्मी के जवान ब्रजेश से हुई. ब्रजेश तुरकौलिया थाना क्षेत्र के महम्दछपरा का रहने वाला है. शादी समारोह में ही दोनों की आंखे चार हुई फिर नंबर का लेन देन हुआ. इसके बाद बातचीत का जो सिलसिला शुरू हुआ वह प्रेम प्रसंग तक पहुंच. दोनों ने साथ जीने मरने की कसमें खाई. फिर मुलाकाते भी होने लगी. और फिर प्रेम संबंध भी बने.

Advertisement

सुबह जगी तो प्रेमी था फरार

बुधवार की रात भी ब्रजेश चोरी छिपे रीता से मिलने के लिए उसके घर पहुंचा था. जिसके बाद ग्रामीणों ने दोनों को रंगेहाथ पकड़ लिया और गांव के मंदिर में दोनों की जबरन शादी करा दी. दोनों की शादी कराने के बाद गांव वाले अपने- अपने घर लौट गए. इधर ब्रजेश रीता के साथ उसके घर चला गया. सुबह जब सबकी नींद टूटी तो ब्रजेश घर से गायब था. ग्रामीण और रीता के परिजन ब्रजेश को तलाश रहे हैं, लेकिन उसका पता नहीं चला.

Advertisement

Source : TV9

nps-builders

Genius-Classes

Advertisement
Continue Reading
BIHAR4 mins ago

सदाशिव भारती की अध्यात्मिक यात्रा पर आधारित पुस्तक का लोकार्पण

BIHAR2 hours ago

नर्स और गार्ड की सूझबूझ से बची नवजात की जान, DM ने नाम रखा ‘दुर्गा’

BIHAR3 hours ago

शादीशुदा गर्लफ्रेंड से मिलने पहुंचा आर्मी जवान तो गांव वालों ने करा दी शादी, सुबह छोड़कर हुआ फरार

BIHAR7 hours ago

बिहार में दबोचा गया मुकेश अंबानी के परिवार को धमकी देने का आरोपी शख्स, मुंबई में होगी पूछताछ

BIHAR11 hours ago

बिहार के लाल संजय मिश्रा ने कभी ढाबे में बनाया था खाना, आज दर्शकों के हैं चहेते सितारे

INDIA11 hours ago

जलपाईगुड़ी: शांत नदी में अचानक आया सैलाब, मूर्ति विसर्जन के लिए उतरे लोगों पर टूटा मौत का कहर

BIHAR11 hours ago

नगर निकाय चुनाव के बहाने रिजर्वेशन पर राजनीतिक रार, भाजपा-जदयू में ठन गई

BIHAR12 hours ago

अपनी जिंदादिली से लोगों को मौत के मुंह से बचाने वाला चेतन कदम अब नहीं रहा

INDIA1 day ago

रावण का जलता पुतला लोगों की भीड़ पर गिरा, कई हुए घायल

BIHAR1 day ago

बिहार : दहेज की बलि बेदी पर फिर चढ़ी एक बेटी, नवविवाहिता की गला दबाकर किया निर्मम हत्या

TRENDING1 week ago

लिप्स्टिक-परफ्यूम ने बना दी जोड़ी! 60 साल के शख्स को दिल दे बैठी 20 साल की लड़की

INDIA1 week ago

युवक के पेट से निकलीं 62 चम्‍मचें, दो घंटे तक चला ऑपरेशन, आईसीयू में भर्ती

DHARM1 week ago

शारदीय नवरात्रि में जपें दुर्गा सप्तशती के ये प्रभावशाली मंत्र, मिलेगा धन, सौभाग्य और सफलता

BIHAR5 days ago

रात को गर्लफ्रेंड से मिलने पहुंचा प्रेमी, लोगों ने पकड़कर दोनों की शादी करा दी

INDIA5 days ago

8वीं की छात्रा से 8 लोगों ने किया गैंगरप, ब्लैकमेल करके ऐंठे 50 हजार, फिर वायरल कर दिया रेप का वीडियो

INDIA2 weeks ago

यूपी : निकाह में आए बारातियों का लड़की वालों ने चेक किया आधार कार्ड, कारण जानकर पेट पकड़कर हंसेंगे

BIHAR2 weeks ago

बिहार के लड़के ने जीता एक करोड़ रुपये, इंडिया-ऑस्ट्रेलिया मैच में ड्रीम इलेवन ऐप पर लगाए थे पैसे

INDIA1 week ago

मुफ्त राशन की स्कीम तीन महीने के लिए फिर बढ़ी, केंद्रीय कर्मचारियों को भी दिवाली गिफ्ट

MUZAFFARPUR5 days ago

एमएलसी दिनेश सिंह की बेटी कोमल सिंह को हत्या की धमकी

BIHAR1 week ago

सोनिया गांधी ने लालू यादव-नीतीश कुमार को बतायी औकात, मात्र 20 मिनट में निपटाया : मोदी

Trending