Connect with us

INDIA

84 साल की उम्र में रतन टाटा को मिली D. Litt की डिग्री

Published

on

देश के बड़े उद्योगपतियों में से एक रतन टाटा को 84 साल की उम्र में मुंबई की एचएसएनसी यूनिवर्सिटी ने डॉक्टरेट की उपाधि से सम्मानित किया है। इस मौके पर उनके साथ महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी और एचएसएनसी विश्वविद्यालय के प्रोवोस्ट डॉ. निरंजन हीरानंदानी भी मौजूद रहे। ये इस यूनिवर्सिटी का पहला दीक्षांत समारोह था जहां रतन टाटा को उनके किए गए कार्यों के लिए सम्मानित करते हुए ये डिग्री दी गई। ये कोई पहला मौका नहीं है जब रतन टाटा को किसी संस्थान या विश्वविद्यालय ने डिग्री देकर सम्मानित किया हो। इसके पहले अभी हाल में यूके की मैनचेस्टर यूनिवर्सिटी ने भी रतन टाटा को डॉक्टरेट की उपाधि से सम्मानित किया था।

Maharashtra: HSNC University awards Honorary Doctorate to Ratan Tata

मौजूदा समय में देश में कई उद्योगपतियों के नाम चर्चा में रहते हैं लेकिन जैसे ही रतन टाटा का नाम आता है तो हर कोई उन्हें बहुत ही सम्मानित निगाहों से देखता है। रतन टाटा ने अपनी मेहनत के दम पर टाटा ग्रुप को नई ऊंचाइयों तक पहुंचाया है। रतन टाटा ने साल 1991 से लेकर साल 2012 तक टाटा ग्रुप के अध्यक्ष के तौर पर काम किया। दिसंबर 2012 में उन्होंने टाटा ग्रुप के अध्यक्ष पद को छोड़ दिया। हालांकि अभी भी वो टाटा समूह चैरिटेबल ट्रस्ट के अध्यक्ष हैं। आपको बता दें कि टाटा संस में 100 से ज्यादा कंपनियां काम करती हैं जिनमें सुई से लेकर हवाई जहाज के संचालन तक का काम होता है। आइए आपको बताते हैं उनके जीवन के सफर, उनके सपनों के बारे में

ratantata - Twitter Search / Twitter

आर्किटेक्ट बनने की थी तमन्ना लेकिन पिता …

रतन टाटा ने एक संगोष्ठी के दौरान बताया था कि बचपन में उनकी आर्किटेक्ट बनने की तमन्ना थी लेकिन उन्होंने अपने पिता नवल टाटा का मान रखने के लिए इंजीनियरिंग की पढ़ाई की। रतन टाटा का जन्म 28 दिसंबर साल 1937 में मुंबई में हुआ था। संगोष्ठी में अपने छात्र जीवन के बारे में चर्चा करते हुए रतन टाटा ने बताया था कि साल 1959 में उन्होंने कॉर्नेल विश्वविद्यालय से इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की उसके बाद वो आर्किटेक्चर के क्षेत्र में अपना भविष्य बनाना चाहते थे।

साल 1961 में टाटा से जुड़े और 1991 में बने उत्तराधिकारी

अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद रतन टाटा ने इंटर्नशिप की और साल 1961 में वो इंटर्नशिप के टाटा समूह में शामिल हुए। करियर की शुरुआत में रतन टाटा स्टील फ्लोर पर लाइमस्टोन को हटाने और भट्टी को ऑपरेट करने का काम किया करते थे। रतन टाटा ने लगभग 30 सालों तक कई अहम पदों पर रहते हुए टाटा ग्रुप को आगे बढ़ाया और साल 1991 में वो टाटा समूह के अध्यक्ष बने।

समूह अध्यक्ष बनने पर हुआ था विरोध

साल 1991 में जेआरडी टाटा ने टाटा संस के चेयरमैन का पद छोड़ दिया था और रतन टाटा को अपना उत्तराधिकारी घोषित कर दिया था। रतन टाटा के पद संभालते ही कंपनी में उन्हें भारी विरोध का सामना करना पड़ा। इसके बाद जब वो अध्यक्ष बने तो उन्हें कई कंपनियों के प्रमुखों के विरोध का सामना करना पड़ा। विरोध करने वाले लोग कई दशकों से टाटा ग्रुप से जुड़े थे और बहुत प्रभावी थे। रतन टाटा ने ऐसे लोगों से निपटने के लिए रिटायरमेंट की उम्र निर्धारित की और उन्हें पदों से हटाना शुरू किया।

फोर्ड ने किया था टाटा को अपमानित टाटा ने ऐसे लिया था बदला

टाटा कंपनी की गाड़ियों का कारोबार था और साल 1998 में टाटा ने इंडिका कार लॉन्च की, ये टाटा का ड्रीम प्रोजेक्ट था। टाटा इंडिका फ्लॉप हो गई है और टाटा को इसमें काफी नुकसान उठाना पड़ा। लोगों के सुझाव पर टाटा इस कार कंपनी को बेचने के उद्देश्य से अमेरिका की फोर्ड कंपनी पहुंचे जहां उनकी फोर्ड कंपनी के अधिकारियों के कई घंटे बैठक चली। इस बैठक में फोर्ड के चेयरमैन बिल फोर्ड ने रतन टाटा के साथ बहुत ही बुरा व्यवहार किया और कहा जब तुम्हें कार बनानी ही नहीं आती तो तुमने इतना पैसा कार कंपनी पर क्यों लगा दिया? इसके बाद रतन टाटा ने खुद को काफी अपमानित महसूस किया था। फोर्ड ने कहा था, “हम ये कंपनी खरीदकर तुमपर बहुत बड़ा एहसान कर रहे हैं।”

साल 2008 में टाटा ने दिया फोर्ड को जवाब

रतन टाटा ने फोर्ड के साथ वो डील कैंसिल कर दी और वापस भारत आकर पूरा ध्यान टाटा मोटर्स पर लगा दिया। उन्होंने डील छोड़ी और अपनी टीम के साथ वापस लौट आए, वहां उन्होंने अपना पूरा ध्यान टाटा मोटर्स पर लगा दिया। सालों की मेहनत के बाद उन्होंने टाटा इंडिका को फिर से लांच किया और इस बार कंपनी ने जबरदस्त मुनाफा दिया। उधर फोर्ड कंपनी इस बीच जगुआर और लैंड रोवर के फ्लॉप होने की वजह से मार्केट में औंधे मुंह गिर पड़ी थी जिसकी वजह से कंपनी दिवालिया होने की कगार पर पहुंच गयी थी। साल 2008 में टाटा ने दोनों कंपनियों को खरीदने का प्रस्ताव फोर्ड के पास भेजा जिसे फोर्ड ने तुरंत ही स्वीकार कर लिया और कहा,”आप हमारी कंपनी खरीदकर हम पर बहुत बड़ा एहसान कर रहे हैं।”

Genius-Classes

जानिए रतन टाटा की बड़ी उपलब्धियां

रतन टाटा ने अपने कार्यकाल में टाटा को नई उंचाइयों तक पहुंचाया उन्होंने अपने 21 सालों के कार्यकाल में कंपनी की इनकम को 40 गुना तक बढ़ा दिया। रतन टाटा ने टाटा ग्रुप के अध्यक्ष का पद संभालते ही टाटा मोटर्स के साथ जगुआर लैंड रोवर और टाटा स्टील के साथ कई कंपनियां खरीद लीं जिसके बाद टाटा ग्रुप ने देश के एक बड़े ब्रांड से उभरकर एक वैश्विक बिजनेश में अपनी एंट्री की। टाटा ग्रुप का 65 फीसदी रेवेन्यू लगभग 100 देशों में फैले व्यवसाय से आने लगा। साल 2000 में भारत सरकार ने रतन टाटा को पद्म भूषण और साल 2008 में पद्म विभूषण सम्मानों से नवाजा।

रतन टाटा को मिल चुकी हैं ये डिग्रियां

अगर शिक्षा के बारे में बात करें तो रतन टाटा को इससे पहले भी कई डिग्रियां मिल चुकी हैं। रतन टाटा को कनाडा के प्रतिष्ठित यॉर्क विश्वविद्यालय से उनके नेतृत्व में नवाचारों को बढ़ावा देने के उनके अभियान और सामाजिक जिम्मेदारी की भावना के लिए डॉक्टर ऑफ लॉ की मानद उपाधि प्राप्त की थी। उन्हें 2015 में क्लेम्सन यूनिवर्सिटी द्वारा ऑटोमोटिव इंजीनियरिंग में डॉक्टरेट और 2018 में स्वानसी यूनिवर्सिटी से इंजीनियरिंग में मानद डॉक्टरेट से सम्मानित किया गया था। इसके अलावा अभी हाल में यूके की मैनचेस्टर यूनिवर्सिटी ने भी रतन टाटा को डॉक्टरेट की उपाधि से सम्मानित किया था।

Source : Jansatta

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

nps-builders

INDIA

दिसंबर में 13 दिन बंद रहेंगे बैंक, आरबीआई ने जारी की छुट्टी की लिस्ट

Published

on

By

साल के आखिरी महीने दिसंबर में कुल 13 दिन बैंक बंद रहेगी। इससे अगर आप बैंकिंग का काम निपटाना चाहते हैं तो निपटा लें वरना लंबा इंतजार करना पड़ सकता हैं। हालांकि इस दौरान नेट बैंकिंग व ऑनलाइन बैंकिंग के माध्यम से सारे काम हो सकते हैं। लेकिन यदि आप बैंक जाकर अपना कोई काम करना चाहते हैं तो पहले ये जान ले कि किस दिन बैंकों में छुट्टी रहेगी।

आरबीआई के नियमों के अनुसार महीने के हर रविवार के साथ ही दूसरे और चौथे शनिवार को बैकों का साप्ताहिक अवकाश होता है।ऐसे में 10 दिसंबर को दूसरा शनिवार और 24 तारीख को चौथा शनिवार होने की वजह से बैंक बंद रहेंगे। इसके अतिरिक्त 4, 11,18 और 25 दिसंबर को रविवार की छुट्टी रहेगी। इस तरह से दिसंबर महीने में कुल 6 दिन साप्ताहिक छुट्टी रहेगी।

वहीं अलग अलग राज्यों में त्योहारों को पड़ने के कारण कुल मिलाकर 13 दिन छुट्टी रहने वाली हैं।

बैंक की छुट्टी का लिस्ट

3 दिसंबर : (शनिवार) : सेंट जेवियर फीस्ट- गोवा में बैंक बंद.

4 दिसंबर (रविवार) : पूरे देश में अवकाश.

10 दिसंबर (शनिवार) : दूसरा शनिवार-पूरे देश में बैंक बंद रहेंगे.

11 दिसंबर (रविवार) : पूरे देश पूरे देश में अवकाश.

12 दिसंबर (सोमवार) : पा-तगान नेंगमिंजा संगम- मेघालय में बैंक बंद.

18 दिसंबर (रविवार) : पूरे देश में अवकाश.

19 दिसंबर (सोमवार) : गोवा लिबरेशन डे- गोवा में बैंक बंद.

24 दिसंबर (शनिवार) : चौथा शनिवार- पूरे देश में बैंक बंद.

25 दिसंबर (रविवार) : पूरे देश में अवकाश.

26 दिसंबर (सोमवार) : क्रिसमस, लासूंग, नामसूंग- मिजोरम, सिक्किम, मेघालय में बैंक बंद.

29 दिसंबर (गुरुवार) : गुरु गोबिंद सिंह जी का जन्मदिन- चंडीगढ़ में बैंक बंद रहेंगे.

30 दिसंबर (शुक्रवार) : यू कियांग नंगवाह- मेघालय में बैंक बंद.

31 दिसंबर (शनिवार) : नए साल की पूर्व संध्या- मिजोरम में बैंक बंद.

 

nps-builders

RAMKRISHNA-MOTORS-IN-MUZAFFARPUR-CHAKIA-RAXUAL-MARUTI-

Genius-Classes

Continue Reading

INDIA

जंग में दुश्मन के हर ड्रोन को चित कर देगा भारत का चील

Published

on

चीन के नापाक इरादे अब अब देश पर कभी भी फायर नहीं हो सकेंगे। ड्रैगन के किसी भी आक्रमण को असफल करने के लिए भारतीय सेना की तैयारी पूरी जोरों पर है। उत्तराखंड बॉर्डर पर अमेरिकी सेना के साथ मिलकर भारतीय सेना ने युद्धाभ्यास किया। भारत के रणबांकुरों ने हर बारीकियों पर नजर डालते हुए अपने रण कौशल को पहले से भी ज्यादा बेहतर किया।

भारतीय सैनिकों ने युद्धाभ्यास एक प्रशिक्षित ‘चील’ को भी प्रदर्शित किया। यह चील दुश्मनों के ड्रोन के लिए घातक साबित होगी। उत्तराखंड के चमोली जिले में स्थित ऊंचाई वाले ‘औली’ में बहादुर सैनिकों ने जमकर पसीना बहाया। युद्धाभ्यास के दौरान, एमआई-17 (MI-17) हेलीकॉप्टर से स्लीथरिंग ऑपरेशन का भी प्रयास किया।

चीन बॉर्डर से महज 100 किमी की दूरी पर हेलीकॉप्टर से रस्सी के सहारे उतरते हुए सैनिकों ने स्लीथरिंग पर खूब मेहनत की। दोनों देशों के सैनिकों ने हथियारों के बिना ही दुश्मनों को मात देने के गुर भी आपस में साझा किए। युद्धाभ्यास के दौरान, सैनिकों ने एक दूसरे की कमजोरियों के साथ ही ताकत पर भी चर्चा की।

कैसे किसी भी देश के आक्रमण को नेस्तनाबूद किया जाए, इसपर भी सैनिकों ने रणनीति बनाई। मालूम हो कि उत्तराखंड के 13 जिलों में से पिथौरागढ़, चमोली, और उत्तरकाशी जिले चीन बॉर्डर से लगते हैं। उत्तराखंड के चीन बॉर्डर से लगे जिलों में इससे पहले भी सेना युद्धाभ्यास कर चुकी है।

Source : Hindustan

nps-builders

RAMKRISHNA-MOTORS-IN-MUZAFFARPUR-CHAKIA-RAXUAL-MARUTI-

Genius-Classes

Continue Reading

INDIA

रावण से पीएम मोदी की तुलना करने पर गुजरात में मचा सियासी तूफान

Published

on

गुजरात में आखिरी चरण की वोटिंग से पहले कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने पीएम मोदी को लेकर विवादित बयान दिया है। उन्होंने पीएम मोदी की तुलना रावण से कर डाली है। खड़गे ने पूछा कि हर चुनाव में लोग आपके चहरे पर ही वोट क्यों दें? उन्होंने पूछा कि लोग तुम्हारी सूरत कितनी बार देखें। खड़गे ने यह बयान ऐसे समय पर दिया है जब कांग्रेस नेता मधुसूदन मिस्त्री के ‘औकात दिखा देंगे’ बयान को पीएम मोदी चुनावी हथियार बना चुके हैं।

खड़गे ने गुजरात में एक चुनावी सभा में पीएम मोदी पर जमकर निशाना साधा और कहा कि वह हर चुनाव में चेहरा दिखाने आ जाते हैं। खड़गे ने कहा, ”भाई तुम्हारे को तुम्हारी सूरत कितनी बार देखना, कॉर्पोरेशन में भी भी तुम्हारी सूरत देखना, असेंबली इलेक्शन में भी आपकी सूरत देखना, एमपी इलेक्शन में भी तुम्हारी सूरत देखना, हर जगह… कितने हैं भई, क्या आपके रावण की तरह सौ मुख हैं।”

खड़गे ने पीएम मोदी पर प्रहार जारी रखते हुए कहा, ”काम तो वह कुछ बोलते नहीं, सिर्फ बीजेपी में जुमले हैं। ये जुमले ऐसा बोलते हैं, झूठ के ऊपर झूठ। नौकरी को लेकर ऐसा ही कहा, 2 करोड़ नौकरी देंगे सालाना। अगर गुजरात में मिला है सालाना दो करोड़ तो मुझे मालूम नहीं, किसी को मिला है?” कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि उद्घाटन करने की उनकी (पीएम) आदत है। कांग्रेस की तैयार की हुई चीज को कलर, चूना लगाकर फिर से उद्घाटन करते हैं और फिर कहेंगे यह मेरा है। हर चीज को बोलते रहेंगे इनका जन्म जब हुआ उससे पहले का भी कोई प्रोजेक्ट बना है तो उसे भी चूना और कलर लगाकर कहेंगे कि मेरा है।

गौरतलब है कि इससे पहले भी कई बार कांग्रेस पार्टी के कई नेता पीएम मोदी को लेकर विवादित शब्दों का इस्तेमाल कर चुके हैं और हार बार भाजपा ने इसे अपने लिए अचूक हथियार बना लिया। 2017 में भी गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले पूर्व केंद्रीय मंत्री मणिशंकर अय्यर ने पीएम मोदी को ‘नीच किस्म का आदमी’ कह डाला था। पीएम ने इसे अपनी जाति से जोड़ते हुए कांग्रेस की घेराबंदी की थी।

बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने एक प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि कांग्रेस के नए अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने पीएम नरेंद्र मोदी को रावण कहा है। पात्रा ने कहा कि इस तरह देश के प्रधानमंत्री को गली देना, इस तरह की भाषा में बात करना बेहद निंदनीय है, ये कांग्रेस के विचार को दिखाता है।

Source : India TV

nps-builders

RAMKRISHNA-MOTORS-IN-MUZAFFARPUR-CHAKIA-RAXUAL-MARUTI-

Genius-Classes

Continue Reading
BIHAR7 hours ago

सुशील मोदी का दावा राज्य में टल सकता हैं निकाय चुनाव, SC के ऑर्डर को बताया टाइपो एरर

INDIA8 hours ago

दिसंबर में 13 दिन बंद रहेंगे बैंक, आरबीआई ने जारी की छुट्टी की लिस्ट

MUZAFFARPUR9 hours ago

कोहरे के कारण लिच्छवी समेत 12 ट्रेनें 3 महीने तक रद्द

BIHAR22 hours ago

नगर निकाय चुनाव की हुई घोषणा, 2 चरणों में संपन्न होंगे चुनाव

BIHAR23 hours ago

पटना में राक्षस कैफे का हुआ उद्घाटन

MUZAFFARPUR23 hours ago

स्वास्थ्य सचिव सेंथिल ने होमी भाभा कैंसर अस्पताल के दक्षिण गेट का किया उद्घाटन

BIHAR1 day ago

मधुर भंडारकर की फिल्म में नजर आएगी बिहार की बेटी आयशा

baalu-sand-ghar
BIHAR1 day ago

बिहार में बालू खनन होगा बंद, नीतीश सरकार ने विभागों को जारी किया नोटिस

JOBS1 day ago

केंद्रीय विद्यालयों में 13 हजार पदों पर बंपर बहाली

BIHAR1 day ago

फैसला : अब मैट्रिक पास ही बनेंगी आंगनबाड़ी सहायिका और इंटर पास सेविका

TRENDING3 weeks ago

प्यार की खातिर टीचर मीरा बनी आरव, जेंडर बदल कर स्कूल स्टूडेंट कल्पना से रचाई शादी

MUZAFFARPUR4 weeks ago

इंतजार की घड़ी खत्म: 12 साल पहले बना सिटी पार्क 15 नवंबर से पब्लिक के लिए खुलेगा

TRENDING4 weeks ago

गेयर बदलने के स्टाइल पर हो गई फिदा, करोड़पति महिला ने ड्राइवर से ही रचा ली शादी

INDIA2 weeks ago

गर्लफ्रेंड शादी करना चाहती थी, प्रेमी ने उसके 35 टुकड़े किए, कई दिन फ्रिज में रखा

SPORTS2 weeks ago

खुशखबरी! टी20 वर्ल्ड कप में हार के बाद भारतीय टीम में फिर होगी धोनी की वापसी

MUZAFFARPUR4 weeks ago

सोनपुर मेला के लिए रेलवे की तैयारी पूरी,मुजफ्फरपुर से चलेगी 4 जोड़ी स्पेशल ट्रेन

ENTERTAINMENT3 weeks ago

‘कसौटी जिंदगी की’ एक्टर सिद्धांत वीर सूर्यवंशी का जिम में वर्कआउट करते वक्त निधन

MUZAFFARPUR3 weeks ago

सोनपुर मेले में भारी भीड़ को देखते हुए आज और कल मुजफ्फरपुर से चलेगी स्पेशल ट्रेनें

OMG4 weeks ago

पाकिस्तानी एक्ट्रेस सेहर शिनवारी का जिम्बाब्वे को ऑफर, इंडिया को हराया तो तुमसे करूंगी शादी

BIHAR3 weeks ago

भोजपुरी एक्ट्र्रेस अक्षरा सिंह की बढ़ीं मुश्किलें, पटना के घर पर पुलिस ने चिपकाया इश्तेहार

Trending