Connect with us

INDIA

ताजमहल पर जयपुर की रॉयल फैमिली का बड़ा दावा, हमारे पास हैं सारे दस्तावेज, महल हमारा था

Published

on

देश में ताजमहल को लेकर एक नया विवाद खड़ा हो गया है। इसमें स्थित 22 कमरों को खोलने की मांग की जा रही है, जिससे उन दावों की सच्चाई का पता चल सके, जिसमें कहा गया था कि यहां हिन्दू देवी देवताओं की मूर्तियां हो सकती हैं। वहीं, ताजमहल पर तमाम दावों के बीच जयपुर रॉयल फैमिली ने दावा किया है कि ताजमहल उनकी प्रॉपर्टी है। रॉयल फैमिली की सदस्य और भाजपा सांसद दीया कुमारी ने कहा कि उस जगह पर हमारा महल था। ये अच्छी बात है कि किसी ने ताजमहल के दरवाजे खोलने को लेकर अपील की है, इससे सच सामने आएगा। हम भी अभी मामले को एग्जामिन कर रहे हैं।

‘दस्तावेजों की जरूरत पड़ी तो हम देने को तैयार’

Advertisement

दीया कुमारी ने दावा किया है कि उनके पास ऐसे डॉक्यूमेंट मौजूद हैं, जो बताते हैं कि पहले ताजमहल जयपुर के पुराने राजपरिवार का पैलेस हुआ करता था, जिस पर शाहजहां ने कब्जा कर लिया। जब शाहजहां ने जयपुर परिवार का वह पैलेस और जमीन ली तो परिवार उसका विरोध नहीं कर सका, क्योंकि तब उसका शासन था। उन्होंने कहा, ”आज भी कोई सरकार किसी जमीन को एक्वायर करती है तो उसके बदले में मुआवजा देती है। मैंने सुना है कि उसके बदले में कोई मुआवजा दिया, लेकिन उस समय ऐसा कोई कानून नहीं था कि उसके खिलाफ अपील कर सकते थे या उसके विरोध में कुछ कर सकते थे। अब अच्छा है किसी ने आवाज उठाई और कोर्ट में याचिका दायर की है।”

दीया कुमारी ने कहा, ”अगर दस्तावेजों की जरूरत पड़ेगी तो जयपुर के पूर्व राजपरिवार के हमारे ट्रस्ट में पोथी-खाना भी है। अगर कोर्ट आदेश देगा तो हम उसे डॉक्यूमेंट्स देंगे। हमारे पास मौजूद डॉक्यूमेंट में यह बात साफ है कि शाहजहां को उस वक्त वह पैलेस अच्छा लगा तो उसे एक्वायर कर लिया। क्या वहां पर कोई मंदिर था? इस सवाल पर दीया कुमारी ने कहा मैंने अभी सारे डॉक्यूमेंट नहीं देखे हैं, लेकिन वह प्रॉपर्टी हमारे परिवार की थी।”

Advertisement

nps-builders

इलाहाबाद हाईकोर्ट में ताजमहल को लेकर याचिका दायर

आपको बता दें कि इलाहाबाद हाई कोर्ट में इस विवाद को लेकर एक याचिका भी दायर हो चुकी है। ये याचिका दावा करती है कि अंग्रेजों के जमाने से बंद इन कमरों में हिन्दू देवी देवताओं की मूर्तियां, प्राचीन शिवलिंग और शिलालेख मौजूद हो सकते हैं। कोर्ट में दायर इस याचिका में ये भी कहा गया है कि आगरा में जिस जगह अभी ताजमहल है, वहां साल 1212 में राजा परमर्दिदेव ने भगवान शिव का मंदिर बनवाया था, जिसे तेजोमहालय या तेजोमहल का नाम दिया गया था लेकिन शाहजहां ने तेजो महालय को तुड़वाकर इसे मकबरा बना दिया। इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच में अब 12 मई को इस मामले की सुनवाई होगी।

Advertisement

क्या है ताजमहल विवाद

ताजमहल को लेकर यूपी में इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच में अयोध्या के भाजपा नेता डॉ. रजनीश सिंह ने याचिका दायर की है। डॉ. सिंह ने अपनी याचिका में ताजमहल के उन 22 कमरों को खोलकर भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (ASI) से सर्वे कराने की मांग की है, जो लंबे वक्त से बंद हैं। याचिकाकर्ता का कहना है कि ताजमहल में हिंदू देवी-देवताओं की मूर्तियां और शिलालेख हो सकते हैं। अगर सर्वे होता है तो इससे मालूम चलेगा कि ताजमहज में हिंदू मूर्तियां और शिलालेख हैं या नहीं?

Advertisement

डॉ. रजनीश का कहना है कि याचिका दाखिल करने का एक ही मकसद है कि ये स्पष्ट हो सके कि ये शिव मंदिर है या मकबरा! ताजमहल के बंद दरवाजे खुलने से सारी सच्चाई सामने आ जाएगी। हालांकि जानकार मानते हैं कि ताजमहल के 22 बंद दरवाजों को खोलना बहुत मुश्किल काम है।

ताजमहल एक वैश्विक धरोहर है इसलिए इस मामले में UNESCO (यूनाइडेट नेशंस एजुकेशनल, साइंटिफिक एण्ड कल्चरल ऑरगनाइजेशन) भी नजर रखेगा। ताजमहल में अगर किसी भी तरह का बदलाव होता है, तो पहले UNESCO से बात करनी होगी। ऐसे में ये बात साफ है कि दरवाजों को खोलने के दौरान भी UNESCO की सहमति जरूरी होगी। इसके अलावा दरवाजे खोलने के काम में हाईलेवल एक्सपर्सट्स और बहुत सारा धन भी चाहिए होगा। एक चुनौती ये भी होगी कि जांच के दौरान अगर स्मारक के स्ट्रक्चर में कोई भी समस्या आई या कुछ क्षतिग्रस्त हुआ तो उसे संभालना बहुत मुश्किल होगा।

Advertisement

बंद दरवाजों के पीछे क्या हो सकती है वजह

ताजमहल  के 22 बंद दरवाजों के पीछे क्या वजह हो सकती है? इसके बारे में अभी निश्चित रूप से कुछ नहीं कहा जा सकता है। ये तो दरवाजे खुलने के बाद ही पता लग सकेगा। हालांकि ये बात जरूर है कि भारत में पहले ऐसे कई मंदिर भी रहे हैं, जहां के कुछ हिस्सों को इसलिए बंद कर दिया गया क्योंकि वह डैमेज हो रहे थे और वहां किसी पर्यटक के जाने से उस जगह को या पर्यटक को नुकसान पहुंच सकता था।

Advertisement

Source : India TV

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

Advertisement
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

INDIA

दोगुने हुए 500 रुपये के नकली नोट, ₹2000 के जाली नोट 50 फीसदी से ज्यादा बढ़े

Published

on

देश में नकली नोटों का प्रचलन बहुत बढ़ गया है. भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के ताजा आंकड़ों के मुताबिक, वित्त वर्ष 2021-22 में नकली नोटों की संख्या काफी बढ़ गई है. केंद्रीय बैंक के मुताबिक, 500 रुपये के नकली नोटों में साल 2020-2021 में 101.9 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है, जबकि 2000 रुपये के जाली नोट में 54.16 फीसदी का इजाफा हुआ है.

टाइम्सनाउ की एक रिपोर्ट के मुताबिक, 500 रुपये और 2000 रुपये के बैंक नोटों की हिस्सेदारी 31 मार्च, 2022 तक प्रचलन में बैंकनोटों के कुल वैल्यू का 87.1 फीसदी थी, जबकि यह 31 मार्च, 2021 को 85.7 फीसदी थी. वॉल्यूम के संदर्भ में बात करें तो 31 मार्च, 2022 तक 500 रुपये मूल्यवर्ग के बैंकनोट की सबसे ज्यादा हिस्सेदारी थी, जो 34.9 फीसदी थी. इसके बाद 10 रुपये मूल्यवर्ग के बैंकनोटों का स्थान रहा, जो कुल बैंक नोटों का 21.3 फीसदी था.

Advertisement

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

50 और 100 रुपये के नकली नोट हुए कम

पिछले वर्ष की तुलना में, 10 रुपये, 20 रुपये, 200 रुपये, 500 रुपये (नए डिजाइन) और 2000 रुपये के नकली नोट क्रमश: 16.4%, 16.5%, 11.7%, 101.9% और 54.6% बढ़े हैं. वहीं, 50 रुपये के नकली नोट 28.7 फीसदी और 100 रुपये के नकली नोट 16.7 फीसदी कम हुए हैं.

Advertisement

तेजी से गायब हो रहे हैं 2000 रुपये के नोट

आरबीआई की वार्षिक रिपोर्ट के मुताबिक, 2,000 रुपये के बैंक नोट की संख्या में पिछले कुछ साल से गिरावट का सिलसिला जारी है. इस साल मार्च अंत तक चलन वाले कुल नोट में इनकी हिस्सेदारी घटकर 214 करोड़ या 1.6 फीसदी रह गई.

Advertisement

इस साल मार्च तक सभी मूल्यवर्ग के नोटों की कुल संख्या 13,053 करोड़ थी. इससे एक साल पहले इसी अवधि में यह आंकड़ा 12,437 करोड़ था. आरबीआई की रिपोर्ट के मुताबिक मार्च 2020 के अंत में चलन में शामिल 2,000 रुपये के मूल्यवर्ग वाले नोटों की संख्या 274 करोड़ थी. यह आंकड़ा चलन में कुल करेंसी नोटों की संख्या का 2.4 फीसदी था.

Source : News18

Advertisement

nps-builders

Continue Reading

INDIA

“जहां कार बेचने की इजाजत नहीं, वहां प्लांट भी नहीं”, भारत में टेस्ला कार उत्पादन पर बोले एलन मस्क

Published

on

लंबे समय से ये बातें मीडिया और ऑटोमोटिव इंडस्ट्री में चल रही है कि टेस्ला भारत में एंट्री करने वाली है. इस बात पर सारा मामला साफ किया है टेस्ला के एलन मस्क ने, उन्होंने 27 मई को Twitter के माध्यम से ये कहा है कि टेस्ला ऐसी किसी जगह पर प्रोडक्शन प्लांट शुरू नहीं करने वाली जहां उन्हें पहले कार बेचने और उनकी सर्विस उपलब्ध कराने की अनुमति ना हो. एक ट्विटर यूजर के सवाल का जवाब देते हुए एलन मस्क ने ये बात कही है जिसमें टेस्ला के भारत में प्रोडक्शन प्लांट खोलने पर सवाल पूछा गया था.

भारत में बनाएं प्रोडक्शन प्लांट

Advertisement

अमेरिकी इलेक्ट्रिक वाहन निर्माता टेस्ला लंबे समय से इंपोर्टेड वाहनों पर एक्साइज ड्यूटी कम करने की मांग कर रही है, इसे लेकर कंपनी ने ये हवाला दिया है कि भारत में लगने वाली एक्साइज ड्यूटी दुनिया में सबसे ज्यादा है. इस मांग के जवाब में केंद्र सरकार ने टेस्ला के बॉस एलन मस्क को भारत में प्रोडक्शन प्लांट स्थापित करने को कहा है. यहां तक कि सरकार ने टेस्ला और ऐसी बाकी कंपनियों की मांग बिल्कुल साफ है, भारत की उत्पादन क्षमताओं को बेहतर बनाने में निवेश करें.

Advertisement

चीन और अमेरिका से इंपोर्ट करना चाहती है कारें

टेस्ला भारत में फिलहाल अपने विदेशी प्लांट से टेस्ला कारें आयात करके ग्राहकों का दायरा बढ़ाने का सोच रही है, इसके लिए कंपनी चीन और अमेरिका में बने प्लांट से गाड़ियां इंपोर्ट करेगी. यहां मैन्युफैक्चरिंग प्लांट खोलना तो दूर, एलन मस्क सरकार से आयात कर घटाने की मांग भी कर रहे हैं. इस बात पर भारत में विपक्ष ने सरकार की मंशा पर सवाल उठाए हैं और उनका कहना है कि इस तरह के कदम उठाने पर भारत में निवेश और उत्पादन में गिरावट देखने को मिल सकती है.

Advertisement

Source : Zee News

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

nps-builders

Advertisement
Continue Reading

INDIA

लद्दाख में 26 जवानों को ले जा रहा वाहन नदी में गिरा, हादसे में 7 सैनिकों की मौत

Published

on

लद्दाख के तुरतुक सेक्टर में एक वाहन दुर्घटना में अब तक भारतीय सेना के 7 जवानों की जान चली गई है, जबकि अन्य को भी गंभीर चोटें आईं हैं. समाचार एजेंसी एएनआई ने शुक्रवार को सेना के सूत्रों के हवाले से यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि घायलों के सही इलाज और देखभाल के लिए प्रयास जारी हैं, इसके अंतर्गत अधिक गंभीर लोगों को भारतीय वायुसेना के जरिए पश्चिमी कमान में स्थानांतरित करने की कोशिश की जा रही है. भारतीय सेना के सूत्रों ने बताया कि तुरतुक दुर्घटना में घायल सभी 19 सैनिकों को चंडीमंदिर कमांड अस्पताल में एयरलिफ्ट किया गया है.

सेना के एक प्रवक्ता ने कहा, “26 सैनिकों का एक दल परतापुर में ट्रांजिट कैंप से हनीफ सब-सेक्टर में एक अग्रिम स्थान की ओर बढ़ रहा था. सुबह लगभग 9 बजे, थोइस से लगभग 25 किमी दूर, वाहन सड़क से फिसला और लगभग 50-60 फीट नीचे श्योक नदी में जाकर गिर गया. नतीजतन उसमें सवार सभी लोग घायल हो गए.”

Advertisement

उन्होंने कहा, “सात जवानों को अब तक मृत घोषित किया जा चुका है. अन्य लोगों को भी गंभीर चोटें आई हैं. इस बात की कोशिश जारी है कि सभी घायलों को बेहतर चिकित्सा देखभाल मिले और इसी वजह से अधिक गंभीर जवानों को वायु सेना के माध्म से पश्चिमी कमान भेजने के प्रयास किये जा रहे हैं.”

Source : News18

Advertisement

nps-builders

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

Continue Reading
BIHAR2 hours ago

बिहार: KGF की तरह सोना उगलेगी देश की सबसे बड़ी खदान! खुदाई की तैयारी में सरकार

HEALTH8 hours ago

करी पत्ते को सुबह खाना पलट सकता है शरीर की काया

INDIA12 hours ago

दोगुने हुए 500 रुपये के नकली नोट, ₹2000 के जाली नोट 50 फीसदी से ज्यादा बढ़े

INDIA13 hours ago

“जहां कार बेचने की इजाजत नहीं, वहां प्लांट भी नहीं”, भारत में टेस्ला कार उत्पादन पर बोले एलन मस्क

BOLLYWOOD15 hours ago

सोनू सूद ने बताई साउथ इंडस्ट्री में ज्यादा काम काम करने की वजह, बोले- ‘खराब हिंदी फिल्में करने से बचाती है’

BIHAR18 hours ago

बिहार की बेटी सीमा को मिला दूसरा पैर, अब दोनों पैरों से दुनिया जीतेगी

BIHAR19 hours ago

बिहार : बेटियों के साथ गलत हरकतें करता था पिता, शिकायत के बाद हुई जेल

MUZAFFARPUR21 hours ago

गायघाट में किसानों के बीच धान बीज का किया गया वितरण

MUZAFFARPUR21 hours ago

गायघाट पुलिस ने शराब और मिलावटी ताड़ी के साथ 9 लोगों को किया गिरफ्तार

BIHAR21 hours ago

सदर अस्पताल में पति की मदद के लिए गिड़गिड़ाती रही पत्नी, नहीं पसीजा किसी का दिल

BIHAR4 weeks ago

बिहार में अनोखी शादी: 36 इंच का दूल्हा, 34 इंच की दुल्हन…इस शादी में बिन बुलाए पहुंच गए हजारों लोग

BIHAR3 weeks ago

बिहार : शादी के 42 साल बाद अपनी दुल्हन लेने पहुंचा दूल्हा, 8 बेटी-बेटे भी बने ‘बाराती’

VIRAL3 weeks ago

तस्वीर ने आंखों को किया नम, इस मां को हर कोई कर रहा है सलाम

MUZAFFARPUR4 weeks ago

मुजफ्फरपुर के तीन प्रखंडों से होकर गुजरेगा रिंग रोड

BIHAR2 weeks ago

पटना एनआईटी पासआउट गौरव आनंद निकला बीपीएससी पेपर लीक का मास्टरमाइंड, पटना में बना रखा था कंट्रोल रूम

MUZAFFARPUR4 days ago

मुजफ्फरपुर : तीन नई सड़कें चौड़ी होंगी, रामदयालु से मधौल तक सड़क दो लेन की बनेगी

BIHAR3 weeks ago

बिहार : ड्राइवर की नौकरी करने वाला शख्‍स रातोंरात बना करोड़पति, Dream-11 में ₹59 लगाकर जीते ₹2 करोड़

BIHAR3 weeks ago

समस्तीपुर : पापा रोज मेरे साथ करते हैं गंदी हरकतें, मां से कहती तो मुझे ही दोषी बताती… बेटी ने बताई टीचर पिता की दरिंदगी

MUZAFFARPUR3 days ago

दुनिया की ताकतवर महिलाओं में शामिल हुई मुजफ्फरपुर की बेटी रेणु पासवान

BIHAR1 week ago

बिहार के स्कूलों में गर्मी की छुट्टी घोषित, 23 दिनों तक बंद रहेंगे सभी प्राइवेट व सरकारी स्कूल

Trending