Connect with us

WORLD

UNSC की वोटिंग में आज क्या करेगा भारत ; अमेरिका-रूस में एक को चुनना मुश्किल

Published

on

यूक्रेन पर रूसी हमले की निंदा और उसे खत्म करने को लेकर शुक्रवार को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में एक प्रस्ताव पर वोटिंग होने वाली है. सुरक्षा परिषद के पांच स्थाई सदस्यों में रूस भी शामिल है. कहा जा रहा है कि रूस प्रस्ताव पर वीटो करेगा और अपने खिलाफ किसी भी प्रस्ताव को पास होने से रोकेगा. सुरक्षा परिषद के 15 अस्थाई सदस्यों में भारत भी एक है. भारत वोटिंग के दौरान क्या रुख अपनाएगा, इसे लेकर संशय बरकरार है.

इसी बीच अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने रूस को चेतावनी देते हुए कहा है कि वो ये सुनिश्चित करेंगे कि रूस अंतर्राष्ट्रीय मंच पर अलग-थलग पड़ जाए. अमेरिका पूरी कोशिश करेगा कि सुरक्षा परिषद में कम से कम 13 वोट रूस के खिलाफ हो. ऐसे अनुमान हैं कि चीन वोटिंग में शामिल नहीं होगा.

Advertisement

Advertisement

अमेरिका और पश्चिमी देश यूक्रेन पर भारत के तटस्थ रुख को लेकर नाराज है और अमेरिकी अधिकारी अपने समकक्षों से लगातार बातचीत कर समर्थन की बात कह रहे हैं. ऐसे में भारत पर दबाव बढ़ता जा रहा है.

भारत ने अब तक यूक्रेन पर रूसी हमले को लेकर न तो रूस की आलोचना की है और न ही रूस के पक्ष में खड़ा दिखा है. कई बड़े देशों ने रूसी हमले को यूक्रेन की संप्रभुता से जोड़ा है लेकिन भारत ने अभी तक इस संबंध में कुछ नहीं कहा है.

Advertisement

Advertisement

विशेषज्ञों का कहना है कि भारत यूक्रेन को लेकर बड़े धर्मसंकट में फंस गया है. एक तरफ उसका पुराना रणनीतिक साझेदार रूस है तो दूसरी तरफ अमेरिका, जिससे भारत के संबंध हाल के दशकों में काफी मजबूत हुए हैं. चीन की बढ़ती आक्रमकता के बीच भी भारत को अमेरिका के सहयोग की जरूरत है.

सुरक्षा परिषद में आज क्या होगा भारत का रुख?

Advertisement

सुरक्षा परिषद में भारत आज किस करवट बैठेगा- इस पर सबकी निगाहें हैं. पाकिस्तान सहित कई देशों में भारत के राजदूत रह चुके जी पार्थसारथी ने समाचार एजेंसी पीटीआई से बातचीत में कहा कि भारत सरकार के लिए ये बेहद मुश्किल रहने वाला है.

उन्होंने कहा, ‘मेरा मानना ​​है कि इस पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में वोटिंग होगी. अब ये देखना दिलचस्प होगा भारत विरोध में वोट करता है या वोटिंग से बाहर रहता है.’

Advertisement

Advertisement

उन्होंने कहा कि हमें इस मुद्दे पर संतुलित रहने की जरूरत है. चीन का नाम लेते हुए उन्होंने कहा, ‘हमें ये देखना होगा कि दूसरे देश कैसे इस मुद्दे पर अपनी राय देते हैं. चीन भी अभी सतर्कता बरत रहा है. इसलिए हमें ये देखने की जरूरत है कि दूसरे लोग क्या कह रहे हैं.’

उन्होंने कहा कि रूस ने कई ऐतिहासिक मौकों पर भारत का पक्ष लिया है और ये सच्चाई है कि रूस भारत का बहुत पुराना और विश्वासी दोस्त है. साथ ही पूर्व राजनयिक ने ये भी कहा कि पश्चिमी देश भी वैश्विक मुद्दों पर दूध के धुले नहीं हैं बल्कि इन देशों ने मिलकर नेटो के जरिए रूस को कोने में धकेल दिया है.

Advertisement

अमेरिका में भारत की राजदूत रह चुकीं मीरा शंकर का कहना है कि भारत अभी वेट एंड वॉट पॉलिसी का पालन कर रहा है. उन्होंने कहा कि भारत की प्राथमिकता फिलहाल यूक्रेन में युद्ध के बीच फंसे भारतीयों की सुरक्षा है.

उन्होंने आगे कहा, ‘हमें देखना होगा कि रूस कहां तक जाता है. वो दोनेत्स्क और लुहान्स्क तक ही अपना हमला सीमित रखता है या पश्चिमी यूक्रेन में घुसता है. मुझे लगता है कि अभी भारत की सरकार ने जो रुख अपनाया है, वो परिस्थितियों के हिसाब से अनुकूल है.’

Advertisement

अमेरिका-रूस दोनों के साथ संपर्क में है भारत

भारत यूक्रेन युद्ध को लेकर रूस और अमेरिका दोनों से बातचीत कर रहा है. गुरुवार को भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से बात की थी और यूक्रेन में फंसे भारतीयों का मुद्दा उठाया. उन्होंने पुतिन से बातचीत के जरिए नेटो देशों से मुद्दे को सुलझाने और हिंसा खत्म करने का आग्रह किया.

Advertisement

इधर, भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने यूक्रेन युद्ध को लेकर अमेरिका के विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन से भी बात की है. ब्लिंकन ने बातचीत के दौरान कहा कि रूसी हमले की आलोचना करने, यूक्रेन से रूसी सैनिकों की वापसी और युद्ध खत्म करने के लिए तत्काल एक सामूहिक प्रतिक्रिया का आवश्यकता है.

Advertisement

भारत का रक्षा खरीद भी पड़ा खटाई में

भारत ने रूस से 5 अरब डॉलर का एस-400 मिसाइल सिस्टम रक्षा खरीद की है. अमेरिका रूस से रक्षा सौदा करने वाले देशों पर CAATSA के तहत कड़े प्रतिबंध लगाता है. अमेरिका ने अभी तक भारत पर रूस से रक्षा खरीद को लेकर कानून का इस्तेमाल नहीं किया है लेकिन कहा जा रहा है कि अगर भारत रूस के पक्ष में गया तो अमेरिका भारत पर रूस से रक्षा खरीद को लेकर कड़े प्रतिबंध लगा सकता है. रूस से भारत की अन्य रक्षा खरीद भी प्रभावित हो सकती है.

Advertisement

chhotulal-royal-taste

रूस के खिलाफ नहीं बोलने वाले देशों को अमेरिका की दो टूक

जो देश यूक्रेन पर हमले के खिलाफ अमेरिका के साथ नहीं हैं या रूस का समर्थन कर रहे हैं, उनके प्रति अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने अपना गुस्सा भी जाहिर किया है. गुरुवार को व्हाइट हाउस में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि जो देश रूस की खुली आक्रामकता और यूक्रेन में अनुचित युद्ध शुरू करने के खिलाफ नहीं बोल रहे, ये उन पर एक धब्बा है.

Advertisement

उन्होंने कहा, ‘कोई भी राष्ट्र जो यूक्रेन के खिलाफ रूस की खुली आक्रामकता का समर्थन कर रहा है, उसके लिए ये एक कलंक समान है. जब इस क्षेत्र का इतिहास लिखा जाएगा, तो यूक्रेन पर पूरी तरह से अनुचित युद्ध के पुतिन के फैसले ने रूस को कमजोर और बाकी देशों को मजबूत बना दिया होगा.’

Source : Aaj Tak

Advertisement

clat

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WORLD

वीडियो : हवा में उड़ता शॉपिंग मॉल, होटल और स्विमिंग पूल!

Published

on

आपने आसमान में उड़ते हुए हवाई जहाज जरूर देखे होंगे, लेकिन क्या आपने कभी ‘उड़ता होटल’ देखा है. जाहिर तौर पर आपका जवाब नहीं में होगा. लेकिन जिस हिसाब से विज्ञान तरक्की कर रहा है, अब वो वक्त ज्यादा दूर नहीं है, जब हम ‘उड़ने वाला होटल’ भी देख सकेंगे. एक वीडियो में इसकी झलक देखने को मिली है.

Genius-Classes

दरअसल, हाशेम अल-घैली नाम के यूट्यूब चैनल ने उड़ने वाले होटल का कॉन्सेप्ट वीडियो जारी कर लोगों को चौंका दिया है. वीडियो के मुताबिक, वह समय भी आएगा जब Nuclear-Powered Sky Hotel में लोग मौज-मस्ती कर सकेंगे.

Advertisement

लग्जरी सुविधाओं से लैस होगा!

कॉन्सेप्ट वीडियो के मुताबिक, उड़ने वाला होटल एक तरह का हवाई जहाज होगा, जो कभी जमीन पर लैंड नहीं करेगा. इसमें 5,000 यात्रियों के बैठने की व्यवस्था होगी. उड़ने वाला होटल तमाम तरह की लग्जरी सुविधाओं से लैस होगा.

Advertisement

वीडियो में दिखाया गया है कि कैसे इस उड़ने वाले होटल में रेस्तरां, एक विशाल शॉपिंग मॉल के साथ-साथ जिम, थिएटर और यहां तक ​​कि एक स्विमिंग पूल भी होगा.

VIDEO

Advertisement

वीडियो में बताया गया है कि ये Flying Hotel आर्टीफिशियल इंटेलिजेंस से चलने वाला स्काई क्रूज होगा, जिसमें 20 इंजन होंगे. सभी इंजन न्यूक्लियर फ्यूजन की मदद से संचालित होंगे. प्लेन को कुछ इस तरह डिजाइन किया गया होगा कि ये कभी जमीन पर नहीं उतरेगा.

Advertisement

आम एयरलाइन कंपनियों के हवाई जहाज पैसेंजर्स को इस Flying Hotel तक लेकर लाएंगे और हवा में ही इसमें एंटर करेंगे. इस प्लेन के मेंटेनेंस का काम भी हवा में ही होगा. यूट्यूबर का दावा है कि परमाणु ऊर्जा से चलने वाला ये ‘स्काई क्रूज’ भविष्य हो सकता है.

‘डेली स्टार’ रिपोर्ट के मुताबिक, भले ही ये प्रोजेक्ट काफी बड़ा और अनोखा है लेकिन कुछ लोग इसकी आलोचना भी कर रहे हैं. उनका कहना है कि ‘उड़ने वाला होटल’ न्यूक्लियर पावर से चलेगा, ऐसे में अगर कभी ये क्रैश हुआ तो तबाही मच सकती है.

Advertisement

पूरा का पूरा शहर बर्बाद हो सकता है. वहीं, कुछ लोगों ने कहा कि जब भी ऐसा कुछ तैयार होगा, इसमें सफर करना बेहद महंगा होगा.

Source : Aaj Tak

Advertisement

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

nps-builders

Continue Reading

WORLD

अफगानिस्तान में 6.1 की तीव्रता से आया भूकंप, कम से कम 280 लोगों की मौत, 500 घायल

Published

on

काबुल.  भारत के पड़ोसी देश अफगानिस्तान और पाकिस्तान में बुधवार सुबह भूकंप आया. अफगानिस्तान में 6.1 की तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किए गए. रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक, भूकंप में कम से कम 280 लोगों की जान गई है, जबकि 500 से ज्यादा लोग घायल हो गए. यूएस जियोलॉजिकल सर्वे (USGS) के मुताबिक, भूकंप का केंद्र अफगानिस्तान के खोस्त शहर से 40 किलोमीटर दूर था. इसके अलावा पाकिस्तान और मलेशिया में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं.

यूरोपियन मेडिटेरेनियन सीस्मोलॉजिकल सेंटर ने बताया कि इस भूकंप का असर 500 किलोमीटर तक के दायरे में था. इस वजह से अफगानिस्तान के साथ पाकिस्तान और भारत में भूकंप का झटके महसूस किए गए.

Advertisement

nps-builders

500 लोग हुए घायल

तालिबान प्रशासन के आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के प्रमुख मोहम्मद नसीम हक्कानी ने कहा कि अधिकांश मौतों की पुष्टि पड़ोसी प्रांत पक्तिका में हुई, जहां 100 लोग मारे गए और 500 घायल हुए.

Advertisement

उन्होंने कहा कि पूर्वी प्रांत नंगरहार और खोस्त में भी मौतों की सूचना है.

Advertisement

इमरजेंसी एजेंसियों से मदद की अपील

सरकार के प्रवक्ता बिलाल करीमी ने ट्वीट किया- दुर्भाग्य से, कल रात (स्थानीय समायानुसार) पक्तिका प्रांत के चार जिलों में भीषण भूकंप आया. जिसमें हमारे सैकड़ों देशवासी मारे गए और घायल हो गए और दर्जनों घर तबाह हो गए. हम सभी इमरजेंसी एजेंसियों से अपील करते हैं कि आगे की तबाही को रोकने के लिए इस इलाके में टीमें भेजें.

Advertisement

पाकिस्तान के कई शहरों में महसूस किए गए भूकंप के झटके

पाकिस्तान में भी 6.1 तीव्रता का भूकंप आया. फिलहाल यहां जानमाल के नुकसान को लेकर कोई खबर नहीं है. जियो न्यूज के मुताबिक बुधवार तड़के पाकिस्तान के पंजाब और खैबर पख्तूनख्वा के कुछ हिस्सों में 6.1 तीव्रता का भूकंप आया. भूकंप के झटके इस्लामाबाद, मुल्तान, भाकर, फलिया, पेशावर, मलकंद, स्वात, मियांवाली, पाकपट्टन और बुनेर समेत कई जगहों पर महसूस किए गए.

Advertisement

मलेशिया में भी हिली धरती

वहीं, नेशनल सेंटर फॉर सिस्मोलॉजी के मुताबिक मलेशिया के कुछ हिस्सों में भी 5.1 तीव्रता का भूकंप आया. भूकंप का केंद्र राजधानी क्वालालंपुर से 561 किलोमीटर पश्चिम की तरफ था.

Advertisement

भूकंप की तीव्रता के हिसाब से क्‍या हो सकता है असर:-

-0 से 1.9 तीव्रता का भूकंप बहुत कमजोर होता है. इससे सिर्फ सीज्मोग्राफ से ही पता चलता है.

Advertisement

– 2 से 2.9 रिक्टर स्केल पर भूकंप आने पर हल्का कंपन होता है.

– 3 से 3.9 रिक्टर स्केल पर भूकंप आने पर ऐसा महसूस होता है, जैसे कोई ट्रक आपके नजदीक से गुजर गया.

Advertisement

-4 से 4.9 रिक्टर स्केल पर भूकंप आने पर घर की खिड़कियां टूट सकती हैं और दीवारों पर टंगे फ्रेम गिर सकते हैं.

-05 से 5.9 रिक्टर स्केल पर भूकंप घर के फर्नीचर को हिला सकता है.

Advertisement

-6 से 6.9 रिक्टर स्केल पर भूकंप आने पर इमारतों की नींव दरक सकती हैं. बहुमंजिलों को नुकसान हो सकता है.

-7 से 7.9 रिक्टर स्केल पर भूकंप खतरनाक होता है. इससे बिल्डिंग गिर जाती हैं और जमीन में फाइप फट जाती हैं.

Advertisement

– 8 से 8.9 रिक्टर स्केल पर भूकंप काफी खतरनाक माना जाता है. जापान, चीन समेत कई देशों में 8 8 से 8.9 तीव्रता वाले भूकंप ने खूब तबाही मचाई थी.

– 9 और उससे ज्यादा रिक्टर स्केल पर भूकंप आने पर पूरी तबाही होती है. इमारतें गिर जाती है. पेड़ पोधै, समुद्रों के नजदीक सुनामी आ जाती है. भूकंप में रिक्टर पैमाने का हर स्केल पिछले स्केल के मुकाबले 10 गुना ज्यादा ताकतवर होता है.

Advertisement

चिली में आया था अब तक का सबसे खतरनाक भूकंप

तीव्रता के लिहाज से अब तक का सबसे खतरनाक भूकंप चिली में 22 मई 1960 को आया था. रिक्टर स्केल पर 9.5 तीव्रता वाले इस भूकंप की वजह से आई सुनामी से दक्षिणी चिली, हवाई द्वीप, जापान, फिलीपींस, पूर्वी न्यूजीलैंड, दक्षिण-पूर्व ऑस्ट्रेलिया समेत कई देशों में भयानक तबाही मची थी. कैजुअलिटी के लिहाज से दुनिया का सबसे खतरनाक भूकंप चीन में 1556 में आया था, जिसमें 8.30 लाख लोगों की मौत हुई थी.

Advertisement

Source : News18

Genius-Classes

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

Advertisement
Continue Reading

WORLD

पाकिस्‍तान के पूर्व राष्‍ट्रपति परवेज मुशर्रफ की हालत नाजुक, सुधार की उम्‍मीद नहीं, परिवार ने कहा- दुआ कीजिए

Published

on

पाकिस्‍तान के पूर्व राष्‍ट्रपति परवेज मुशर्रफ की हालत नाजुक है, लेकिन वे वेंटिलेटर पर नहीं है. वे अपनी बीमारी के कारण बीते 3 सप्‍ताह से अस्‍पताल में भर्ती हैं. उनके परिवार ने यह संदेश ट्विटर पर दिया है. परवेज मुशर्रफ के ट्विटर हैंडल से जारी इस संदेश में कहा गया है कि वे गंभीर चरण से गुजर रहे हैं जहां से सुधार की उम्‍मीद नहीं है. उनके अंग खराब हो रहे हैं. ऐसे में उनके दैनिक जीवन में आसानी हो, इसके लिए दुआ कीजिए. परिवार का यह मेसेज इसलिए सामने आया है, क्‍योंकि यह अफवाह थी कि मुशर्रफ का निधन हो गया है.

मुशर्रफ मार्च 2016 से दुबई में रह रहे हैं. मुशर्रफ ने 1999 से 2008 तक पाकिस्‍तान पर शासन किया था. हालांकि 3 नवंबर, 2007 को देश में इमरजेंसी लगाने और दिसंबर 2007 तक संविधान को निलंबित करने के अपराध में उन पर देशद्रोह का मुकदमा चला था और 2014 में उन्‍हें दोषी ठहरा दिया गया था. उन्‍हें फांसी की सजा भी सुनाई गई थी.

Advertisement

निधन की खबर ने मचाई खलबली

Advertisement

दरअसल एक टीवी चैनल जीएनएन ने दावा किया था कि परवेज मुशर्रफ का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो चुका है. इस खबर के सामने आते ही खलबली मच गई थी. पाकिस्‍तान से लेकर दुबई तक इस खबर को लेकर जानकारी जुटाई जा रही थी. इधर, सोशल मीडिया में भी इस तरह की खबर वायरल हो गई थीं. इसके बाद परिवार ने सामने आकर परवेज मुशर्रफ के आफिशियल हैंडल से ट्वीट कर जानकारी दी है.

Source : News18

Advertisement

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

nps-builders

Continue Reading
BIHAR1 hour ago

महाराष्ट्र के एक’नाथ’ बने शिंदे, मुख्यमंत्री पद की ली शपथ, देवेंद्र फडणवीस डिप्टी सीएम पर माने

BIHAR2 hours ago

तेज प्रताप यादव का एक और 2 मिनट, इस बार विधानसभा स्पीकर से अकेले में मिलना चाहते हैं लालू के लाल

BIHAR4 hours ago

पीएम नरेंद्र मोदी 12 जुलाई को आयेंगे बिहार, विधानसभा भवन के शताब्दी समारोह में होंगे शामिल

BIHAR5 hours ago

बिहार के हर जिले में बनेगा ‘मोदी नगर’ और ‘नीतीश नगर’

INDIA5 hours ago

एकनाथ शिंदे होंगे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री, देवेंद्र फडणवीस ने किया ऐलान

INDIA7 hours ago

निरहुआ के बड़े भाई का हुआ एक्सीडेंट, हुए जख्मी, पलट गई कार

BIHAR8 hours ago

बिहार: मुंगेर के कॉलेज में बिजली गुल, मोबाइल टॉर्च की लाइट में छात्रों ने दी परीक्षा

BIHAR10 hours ago

सोन ब्रिज पर एक साथ दौड़ीं 5 ट्रेनें, इंडियन रेलवे ने बनया अनोखा रिकॉर्ड

INDIA14 hours ago

‘तो पापा बच जाते अगर पुलिस प्रोटेक्शन ना हटती’, कन्हैयालाल के बेटों का छलका दर्द

MUZAFFARPUR14 hours ago

मुजफ्फरपुर: पुलिस चौकी के पास सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, अड्डे से आती थी रोने की आवाज

TECH1 week ago

अब केवल 19 रुपये में महीने भर एक्टिव रहेगा सिम

MUZAFFARPUR4 weeks ago

मुजफ्फरपुर की बेटी ने यूपीएससी में 122वां रैंक लाकर किया गौरवान्वित

BIHAR4 days ago

बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद से मदद मांगना बिहार के बीमार शिक्षक को पड़ा महंगा

BIHAR3 weeks ago

गांधी सेतु का दूसरा लेन लोगों के लिए खुला, अब फर्राटा भर सकेंगे वाहन, नहीं लगेगा लंबा जाम

BIHAR3 weeks ago

समस्तीपुर के आलोक कुमार चौधरी बने एसबीआई के एमडी, मुजफ्फरपुर से भी कनेक्शन

MUZAFFARPUR14 hours ago

मुजफ्फरपुर: पुलिस चौकी के पास सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, अड्डे से आती थी रोने की आवाज

BIHAR2 weeks ago

बिहार : पिता की मृत्यु हुई तो बेटे ने श्राद्ध भोज के बजाय गांव के लिए बनवाया पुल

JOBS3 weeks ago

IBPS ने निकाली बंपर बहाली; क्लर्क, PO समेत अन्य पदों पर निकली वैकेंसी, आज से आवेदन शुरू

BIHAR1 week ago

बिहार का थानेदार नेपाल में गिरफ्तार; एसपी बोले- इंस्पेक्टर छुट्टी लेकर गया था

MUZAFFARPUR2 weeks ago

मुजफ्फरपुर समेत पूरे बिहार में सेना की अग्निपथ स्कीम का विरोध, सड़क जाम व ट्रेनों पर पथराव

Trending